भैंसों को तालाब से निकालने उतरे तीन चचेरे भाई-बहनों की डूबने से मौत

 भैंसों को तालाब से निकालने उतरे तीन चचेरे भाई-बहनों की डूबने से मौत

  2020-07-01 04:11 pm

  डूंगरपुर (हलचल)। तालाब में उतरी भैंसों को बाहर निकालने के प्रयास में तीन चचेरे भाई बहनों की मौत हो गई। जिले के दोवड़ा थाने के केरमाल गांव के तालाब में यह हादसा बुधवार को घटित हुआ। तीन बच्चों की मौत से इनके परिवारों में जहां मातम छा गया, वहीं ग्रामीणों में भी शोक की लहर दौड़ गई। मरने वालों में दो लड़कियां भी शामिल हैं।  
जानकारी के अनुसार, सपना पारगी, ललित पारगी और आशा पारगी, जो कि 12 से 14 साल के होकर आपस में चचेरे भाई-बहन थे। ये बच्चे अपनी लापता भैंसों की तलाश में निकले थे। इन बच्चों को उनकी भैंसें गांव के तालाब में नजर आई। बच्चे नासमझी में भैंसों को निकालने तालाब में उतरे और गहरे पानी में चले गये। ये तीनों बच्चे एक-एक कर पानी में डूब गये। वहीं पास ही बकरियां चरा रही एक अन्य बालिका ने जब इन बच्चों को डूबते देखा तो वह चीख उठी और आस-पास के लोगों को बुलाकर घटना की जानकारी दी। इसके बाद ग्रामीण तालाब की ओर दौड़ पड़े। तुरत-फुरत में इन बच्चों को तालाब से निकाला और नजदीकी अस्पताल ले गये, जहां स्वास्थ्य परीक्षण के बाद बच्चों को डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पर दोवड़ थाने से पुलिस जाब्ते के साथ ही आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। उधर, तीन बच्चों की मौत से इनके परिवारों में मातम छा गया। गांव में भी शोक की लहर है। पुलिस ने तीनों ही शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के सुपुर्द कर दिये।  

news news news news news news news news