आठ प्रमुख उद्योगों का उत्पादन सितंबर में 5.2 प्रतिशत घट गया है। बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों में से सात के उत्पादन में सितंबर में गिरावट आई है। गुरुवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सितंबर 2018 में बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 4.3 प्रतिशत बढ़ा था। इस साल सितंबर 2019 में यह सूचकांक 120.6 पर पहुंच गया है, जो कि सितंबर 2018 की तुलना में 5.2 फीसदी कम है।
 
हाइलाइट्स

लगातार दूसरी बार गिरावट
 
 
आठ प्रमुख इंडस्ट्रीज के सूचकांक में कोयला, कच्चा तेल, स्टील, सीमेंट, बिजली, उर्वरक और रिफाइनरी उत्पाद शामिल है। ये आठ इंडस्ट्रीज इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रॉडक्शन(IIP) के करीब 40 फीसदी हिस्से का प्रतिनिधित्व करते हैं। आठों प्रमुख उद्योगों में यह गिरावट लगातार दूसरी बार है। इससे पहले अगस्त 2019 में चार साल में पहली बार इस सूचकांक में 0.5 फीसदी गिरावट देखने को मिली थी।

सिर्फ उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन बढ़ा
आंकड़ों के अनुसार कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, सीमेंट, इस्पात और बिजली क्षेत्र का उत्पादन घट गया है। वहीं इस दौरान उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन 5.4 प्रतिशत बढ़ा है। चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से सितंबर की अवधि में प्रमुख उद्योगों की वृद्धि दर घटकर 1.3 प्रतिशत रह गई है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 5.5 प्रतिशत रही थी।
 

 

" />

इकॉनमी को एक और झटका, बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 5.2% घटा

Thu 31 Oct 19  8:16 pm


नई दिल्ली
देश की इकॉनमी में स्लोडाउन जारी है। आठ प्रमुख उद्योगों का उत्पादन सितंबर में 5.2 प्रतिशत घट गया है। बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों में से सात के उत्पादन में सितंबर में गिरावट आई है। गुरुवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सितंबर 2018 में बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 4.3 प्रतिशत बढ़ा था। इस साल सितंबर 2019 में यह सूचकांक 120.6 पर पहुंच गया है, जो कि सितंबर 2018 की तुलना में 5.2 फीसदी कम है।
 
हाइलाइट्स
  • आठ प्रमुख उद्योगों का उत्पादन सितंबर में 5.2 प्रतिशत घट गया है
  • सितंबर 2018 में बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 4.3 प्रतिशत बढ़ा था
  • ये आठ इंडस्ट्रीज, इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रॉडक्शन(IIP) के करीब 40 फीसदी हिस्से का प्रतिनिधित्व करते हैं
  • सिर्फ इस दौरान उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन 5.4 प्रतिशत बढ़ा है


लगातार दूसरी बार गिरावट
 
 
आठ प्रमुख इंडस्ट्रीज के सूचकांक में कोयला, कच्चा तेल, स्टील, सीमेंट, बिजली, उर्वरक और रिफाइनरी उत्पाद शामिल है। ये आठ इंडस्ट्रीज इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रॉडक्शन(IIP) के करीब 40 फीसदी हिस्से का प्रतिनिधित्व करते हैं। आठों प्रमुख उद्योगों में यह गिरावट लगातार दूसरी बार है। इससे पहले अगस्त 2019 में चार साल में पहली बार इस सूचकांक में 0.5 फीसदी गिरावट देखने को मिली थी।

सिर्फ उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन बढ़ा
आंकड़ों के अनुसार कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, सीमेंट, इस्पात और बिजली क्षेत्र का उत्पादन घट गया है। वहीं इस दौरान उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन 5.4 प्रतिशत बढ़ा है। चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से सितंबर की अवधि में प्रमुख उद्योगों की वृद्धि दर घटकर 1.3 प्रतिशत रह गई है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 5.5 प्रतिशत रही थी।
 

 

news news news