उत्साह और उमँग से मनाएंगे चेटीचण्ड महापर्व खेलेंगे छेज, चढ़ेगा झंडा, होगी घट स्थापना

उत्साह और उमँग से मनाएंगे चेटीचण्ड महापर्व खेलेंगे छेज, चढ़ेगा झंडा, होगी घट स्थापना

Sat 30 Mar 19  1:03 pm


भीलवाड़ा (पिंकू खोतानी) सिन्धी समुदाय के आराध्यदेव भगवान झूलेलाल जी का अवतरण दिवस चेटीचण्ड का महापर्व सिन्धी समाज द्वारा पारम्परिक उत्साह, श्रद्धा और उमंग के साथ मनाया जाएगा। पूज्य झूलेलाल नवयुवक सेवा संस्थान के प्रवक्ता और कार्यक्रम संयोजक मूलचन्द बहरवानी ने बताया कि चेटीचण्ड महोत्सव आयोजन को लेकर संस्थान के शेवाधारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक शुक्रवार शाम को नई शाम की सब्जी मंडी स्थित पूज्य झूलेलाल साहेब मन्दिर में वरिष्ठ समाजसेवी एवं पूर्व पार्षद वेन्सी मल खोतानी की अध्यक्षता व संस्थाध्यक्ष चेलाराम लखवानी के मुख्यातिथ्य में आयोजित हुई। बैठक में पारित निर्णयों की जानकारी देते हुए युवा समाजसेवी तुलसीदास नथरानी ने बताया कि संस्थान व मन्दिर के शेवाधारी अध्यक्ष हेमनदास भोजवानी (उस्ताद) ने चेटीचण्ड महोत्सव के आयोजन सम्बन्धी तैयारियों को विस्तार से बताया इस पर उन्हें महोत्सव व मेले के आयोजन हेतु अधिकृत किया गया। इस अवसर हेतु पूरे मंदिर प्रांगण को सुसज्जित व श्रृंगारित किया गया है। कार्यों का उपस्थित सभासदों ने अवलोकन किया। कार्यक्रमानुसार महोत्सव में शनिवार 06 अप्रैल को सुबह 9.15 बजे मंदिर में शक्तिस्वरूपा महामाया माँ भगवती के चैत्र 9 दिवसीय नवरात्र के उपलक्ष्य में विधि-विधान से घट स्थापना होगी। प्रातः 11 बजे से ध्वज की पूजार्चना पश्चात सभी सन्त-महात्माओं के सानिध्य में मन्दिर के शिखर पर ध्वजारोहण होगा। इस दौरान मन्दिर के नवीनीकरण कार्यों का मौली-बन्धन खोलकर लोकार्पण भी होगा। संस्थान द्वारा संचालित वरुण एम्बुलेंस सेवा समिति के कमल हेमनानी के अनुसार इस मौके पर उपस्थित गणमान्य अतिथियों द्वारा फ्रीजरयुक्त एम्बुलेंस को संचालन हेतु हरी झंडी दिखाकर रवाना किया जाएगा। युवा कार्यकर्ता हनुमान लखवानी के अनुसार बैठक में धार्मिक यात्रा पर भी विचार कर निर्णय लिया गया। युवा समाजसेवी गुलशन विधानी ने मुख्य शोभायात्रा में शामिल झांकियों में से श्रेष्ठ झांकियो को अपनी ओर से पुरस्कृत करने की घोषणा की। बैठक में रमेश आडवाणी, घनश्याम शामनानी, वासुमल गजवानी, घनश्याम मोतियानी, मंगलराम, तुलसीदास सखरानी, मनोज गोपलानी, पुरुषोत्तम खियानी, नारायण मीरचंदानी, इसरानी, राजकुमार बालानी, सहित बड़ी संख्या में शेवाधारी व सिन्धी समाजजन मौजूद थे।
news news news