Avoid These Food At Night: मोटापा कम करना है तो डिनर में नहीं करें इस फूड्स को शामिल

क्या आपकी खांसी और ज़ुकाम कोरोना के लक्षण हैं?

कोविड-19 का डर लोगों में इस कदर बस गया है कि जैसे ही आप किसी को छींकते या खांसते हुए देखते हैं, हमारे दिमाग़ में सबसे बुरी ख्याल ही आता है। हर खांसने और छींकने वाले को कोरोना नहीं होता।

लगभग सभी वायरल संक्रमण आपके शरीर के तापमान को सामान्य से ऊपर कर देते हैं। नए अध्ययनों में फ्लू और वायरल संक्रमण के बढ़ते मामलों को भी कोविड के प्रसार से जोड़ा है।

COVID19 Vaccine: क्या कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल मुंह या नाक के जरिए ज्यादा होगा असरदार? जानें-क्या कहती है रिसर्च

यह कई बार कहा जा चुका है, कि समय रहते अगर आप अपने लक्षणों की पहचान कर लें और इलाज कर लें, तो ही कोरोना के गंभीर संक्रमण के जोखिम से बचा सकता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसकी पहचान सिर्फ एक लक्षण से साफ हो सकती है और वह है सुगंध का महसूस न होना। 

सुगंध का महसूस न होना

अनोसमिया या अचानक स्वाद और सुगंध का महसूस न होना, कोविड-19 का खास लक्षण है। ऐसा किसी भी और वायरल इंफेक्शन में नहीं देखा जाता है। ऊपरी श्वसन पथ में वायरल ज़्यादा होने से रोगियों में स्वाद की भावना की हानि को बढ़ावा मिल सकता है। कोरोना वायरस इस तरह से भी आपको प्रभावित कर सकता है।

ध्यान दें! डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छरों को दूर रखने के ये हैं खास उपाय

एक बड़े स्तर मई में किए गए JAMA अध्ययन में पाया गया कि लगभग 60% रोगी गंध के नुकसान से पीड़ित होते हैं। गंध के नुकसान उन रोगियों में भी स्पष्ट हो सकते हैं जिनमें एटिपिकल लक्षण हैं या अलक्षणी हैं।

एनोस्मिया कैसे कोविड रोगियों में अलग होता है?

एक तरफ गंध का न महसूस होना कोविड-19 का एक अहम लक्षण है, लेकिन इसके बावजूद यह उन लोगों में भी देखा गया है जिन्हें गंभीर रूप से फ्लू है। हालांकि, कोरोना वायरस के मामले में इसका गंभीर और गहरा रूप देखा जाता है। इसके अलावा, फ्लू के लक्षणों के विपरीत, कोरोना वायरस में गंध या स्वाद की भावना का नुकसान तब भी देखा जा सकता है जब आपको ज़ुकाम न हो। बिना ज़ुकाम के ये मीठे और कड़वे के बीच अंतर करने की क्षमता को भी प्रभावित कर सकता है।

" /> Avoid These Food At Night: मोटापा कम करना है तो डिनर में नहीं करें इस फूड्स को शामिल

क्या आपकी खांसी और ज़ुकाम कोरोना के लक्षण हैं?

कोविड-19 का डर लोगों में इस कदर बस गया है कि जैसे ही आप किसी को छींकते या खांसते हुए देखते हैं, हमारे दिमाग़ में सबसे बुरी ख्याल ही आता है। हर खांसने और छींकने वाले को कोरोना नहीं होता।

लगभग सभी वायरल संक्रमण आपके शरीर के तापमान को सामान्य से ऊपर कर देते हैं। नए अध्ययनों में फ्लू और वायरल संक्रमण के बढ़ते मामलों को भी कोविड के प्रसार से जोड़ा है।

COVID19 Vaccine: क्या कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल मुंह या नाक के जरिए ज्यादा होगा असरदार? जानें-क्या कहती है रिसर्च

यह कई बार कहा जा चुका है, कि समय रहते अगर आप अपने लक्षणों की पहचान कर लें और इलाज कर लें, तो ही कोरोना के गंभीर संक्रमण के जोखिम से बचा सकता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसकी पहचान सिर्फ एक लक्षण से साफ हो सकती है और वह है सुगंध का महसूस न होना। 

सुगंध का महसूस न होना

अनोसमिया या अचानक स्वाद और सुगंध का महसूस न होना, कोविड-19 का खास लक्षण है। ऐसा किसी भी और वायरल इंफेक्शन में नहीं देखा जाता है। ऊपरी श्वसन पथ में वायरल ज़्यादा होने से रोगियों में स्वाद की भावना की हानि को बढ़ावा मिल सकता है। कोरोना वायरस इस तरह से भी आपको प्रभावित कर सकता है।

ध्यान दें! डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छरों को दूर रखने के ये हैं खास उपाय

एक बड़े स्तर मई में किए गए JAMA अध्ययन में पाया गया कि लगभग 60% रोगी गंध के नुकसान से पीड़ित होते हैं। गंध के नुकसान उन रोगियों में भी स्पष्ट हो सकते हैं जिनमें एटिपिकल लक्षण हैं या अलक्षणी हैं।

एनोस्मिया कैसे कोविड रोगियों में अलग होता है?

एक तरफ गंध का न महसूस होना कोविड-19 का एक अहम लक्षण है, लेकिन इसके बावजूद यह उन लोगों में भी देखा गया है जिन्हें गंभीर रूप से फ्लू है। हालांकि, कोरोना वायरस के मामले में इसका गंभीर और गहरा रूप देखा जाता है। इसके अलावा, फ्लू के लक्षणों के विपरीत, कोरोना वायरस में गंध या स्वाद की भावना का नुकसान तब भी देखा जा सकता है जब आपको ज़ुकाम न हो। बिना ज़ुकाम के ये मीठे और कड़वे के बीच अंतर करने की क्षमता को भी प्रभावित कर सकता है।

">
एक ऐसा लक्षण जो कोरोना वायरस को आम फ्लू से अलग बनाता है!

एक ऐसा लक्षण जो कोरोना वायरस को आम फ्लू से अलग बनाता है!

  2020-09-16 01:14 am

नए कोरोना वायरस संक्रमण और आम फ्लू के लक्षण एक समान हैं और एक ही तरह के वायरस से होते हैं। हालांकि, हमें ये मालूम है कि कोरोना वायरस आमतौर पर होने वाले फ्लू से कहीं ज़्यादा ख़तरनाक साबित हो सकता है।  

कोरोना से होने वाली बीमारी और इससे होने वाली जटिलताओं को रोकने के लिए इसके प्रति जागरुकता और सही समय पर इलाज ज़रूरी है। हालांकि, ज़ुकाम, वायरस संक्रमण या फिर फ्लू होना इस मौसम में इतना आम है जितना की कोरोना वायरस। क्योंकि इन दोनों वायरल में एक तरह के लक्षण देखे जाते हैं, इसलिए एक्सपर्ट्स का मानना है कि ऐसे में COVID-19 को शुरुआत में ही पहचान लेना मुश्किल हो जाता है। 

सूखी खांसी, जिसे कोविड-19 का प्रमुख लक्षण माना जाता है, एलर्जी के कारण भी हो सकती है। अगर आप ऐसी जगह रहते हैं, जहां प्रदूषण काफी ज़्यादा है, तो वहां सूखी खांसी आसानी से हो सकती है।

Avoid These Food At Night: मोटापा कम करना है तो डिनर में नहीं करें इस फूड्स को शामिल

क्या आपकी खांसी और ज़ुकाम कोरोना के लक्षण हैं?

कोविड-19 का डर लोगों में इस कदर बस गया है कि जैसे ही आप किसी को छींकते या खांसते हुए देखते हैं, हमारे दिमाग़ में सबसे बुरी ख्याल ही आता है। हर खांसने और छींकने वाले को कोरोना नहीं होता।

लगभग सभी वायरल संक्रमण आपके शरीर के तापमान को सामान्य से ऊपर कर देते हैं। नए अध्ययनों में फ्लू और वायरल संक्रमण के बढ़ते मामलों को भी कोविड के प्रसार से जोड़ा है।

COVID19 Vaccine: क्या कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल मुंह या नाक के जरिए ज्यादा होगा असरदार? जानें-क्या कहती है रिसर्च

यह कई बार कहा जा चुका है, कि समय रहते अगर आप अपने लक्षणों की पहचान कर लें और इलाज कर लें, तो ही कोरोना के गंभीर संक्रमण के जोखिम से बचा सकता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसकी पहचान सिर्फ एक लक्षण से साफ हो सकती है और वह है सुगंध का महसूस न होना। 

सुगंध का महसूस न होना

अनोसमिया या अचानक स्वाद और सुगंध का महसूस न होना, कोविड-19 का खास लक्षण है। ऐसा किसी भी और वायरल इंफेक्शन में नहीं देखा जाता है। ऊपरी श्वसन पथ में वायरल ज़्यादा होने से रोगियों में स्वाद की भावना की हानि को बढ़ावा मिल सकता है। कोरोना वायरस इस तरह से भी आपको प्रभावित कर सकता है।

ध्यान दें! डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छरों को दूर रखने के ये हैं खास उपाय

एक बड़े स्तर मई में किए गए JAMA अध्ययन में पाया गया कि लगभग 60% रोगी गंध के नुकसान से पीड़ित होते हैं। गंध के नुकसान उन रोगियों में भी स्पष्ट हो सकते हैं जिनमें एटिपिकल लक्षण हैं या अलक्षणी हैं।

एनोस्मिया कैसे कोविड रोगियों में अलग होता है?

एक तरफ गंध का न महसूस होना कोविड-19 का एक अहम लक्षण है, लेकिन इसके बावजूद यह उन लोगों में भी देखा गया है जिन्हें गंभीर रूप से फ्लू है। हालांकि, कोरोना वायरस के मामले में इसका गंभीर और गहरा रूप देखा जाता है। इसके अलावा, फ्लू के लक्षणों के विपरीत, कोरोना वायरस में गंध या स्वाद की भावना का नुकसान तब भी देखा जा सकता है जब आपको ज़ुकाम न हो। बिना ज़ुकाम के ये मीठे और कड़वे के बीच अंतर करने की क्षमता को भी प्रभावित कर सकता है।

news news news news news news news news
कोरोना अपडेट