ऑनलाइन कृषक गोष्ठी में बताया घर पर ऐसे बनाएं पशु आहार

ऑनलाइन कृषक गोष्ठी में बताया घर पर ऐसे बनाएं पशु आहार

  2020-05-22 08:30 pm

भीलवाड़ा (हलचल)। कृषि विज्ञान केंद्र अरणिया घोड़ा शाहपुरा-भीलवाड़ा द्वारा लॉकडाउन में घर पर बनाए पशु आहार विषय पर ऑनलाइन कृषक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष डॉ. सीएम यादव ने घरेलू संसाधनों द्वारा पशु आहार तैयार करने की विधि बताई। पशु आहार तैयार करने के लिए 40 किग्रा अनाज का चापड़ या दलिया, 30 किग्रा दाल चूरी, 26 किग्रा खली, 2 किग्रा खनिज लवण एवं 2 किग्रा नमक मिलाकर कम लागत में पशुओं के लिए पौष्टिक आहार तैयार किया जा सकता है एवं 15 किग्रा हरा चारा सूखे चारे के साथ मिलाकर खिलाने से दुधारू पशुओं में दुग्ध उत्पादन बढऩे के साथ-साथ पशु स्वस्थ भी रहेगा।
डॉ. यादव ने ग्रीष्म ऋतु के दौरान पशुओं में होने वाले रोग, रोग के लक्षण एवं रोकथाम, खुरपका एवं मुंहपका, थनैला, मिल्क फीवर व बाह्य परजीवी की रोकथाम की तकनीकी जानकारी दी। गर्मी के दौरान पशुओं को शुद्ध एवं साफ पानी, पशुओं के बाड़े में उचित छाया व उपयुक्त वायु संचार की व्यवस्था के लिए जिले के पशुपालकों को सामाजिक दूरी की पालना करते हुए कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु मार्गदर्शन दिया। 
केन्द्र के शस्य वैज्ञानिक डॉ. केसी नागर ने ग्रीष्मकालीन गहरी जुताई के फायदे व खरीफ  ऋतु में बोई जाने वाली फसलों की उन्नत प्रजाति, बीज की उपलब्धता एवं बुवाई, खाद एवं उर्वरक आदि की तकनीकी जानकारी दी।
कृषि महाविद्यालय भीलवाड़ा के मृदा वैज्ञानिक डॉ. रविकान्त शर्मा ने किसानों को वर्मी कम्पोस्ट एवं कम्पोस्ट बनाने की तकनीकी एवं उपयोगिता से लाभान्वित किया। केंद्र के फार्म मैनेजर गोपाल टेपन ने किसानों को कृषि यंत्रीकरण द्वारा समय एवं श्रम की बचत तथा कृषि कार्य में उपयोगी कृषि यन्त्रों की जानकारी दी।

news news news news news news news news