कपड़ा व्यापारी कर रहे हैं लोगों के साथ धोखाधड़ी... इसीलिए पढ़ लो..

कपड़ा व्यापारी कर रहे हैं लोगों के साथ धोखाधड़ी... इसीलिए पढ़ लो..

  2020-01-27 07:07 pm

भीलवाड़ा/ सूरत (हलचल-अनिल मलिक)अच्छे कपड़े के नाम पर नकली और घटिया कपड़ा बेचने के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं भीलवाड़ा में  ही नहीं सूरत में भी इस तरह की धोखाधड़ी आम लोगों के साथ ही नहीं कपड़ा व्यापारियों के साथ भी हो रही है। भीलवाड़ा में नकली कपड़ा और सूरत में घटिया कपड़ा भेज देंने के कई मामले सामने आए है।

सूत्रों की माने तो भीलवाड़ा में नामचीन कंपनियों के नाम पर घटिया कपड़ा बनाकर उसे देशभर में बेचा जा रहा है नकली सेलवेज के भीलवाड़ा में कई गोदाम में जहां शब्दों की हेरफेर कर बड़ी कंपनियों को चूना लगाया जा रहा है और आम लोगों के साथ धोखा हो रहा है इस तरह के कई मामले पहले भी पुलिस पकड़ चुकी है लेकिन यह कारोबार अब भी बेरोकटोक जारी है।सूरत । सूरत के कपड़ा बाजार को कुछ चीटर व्यापारियों ने बदनाम कर दिया है। वह दूसरे राज्यों से माल खरीदने जाने वाले व्यापारियों को दिखाते कुछ हैं और भेजते कुछ हैं। बीेते दिनों ही ऐसे दो मामले सामने आए ।

सूरत के कपड़ा बाजार में बैठे चीटर व्यापारियों ने एक महीने पहले तमिलनाड़ू के एक व्यापारी को शिकार बनाया था। 80 हजार रुपए की महंगी साडियों के नाम पर सस्ती साडियां भेज दी थी। इस बारे में व्यापारी ने फोस्टा में शिकायत करने पर बुधवार को फोस्टा ने पीडित व्यापारी के रूपए वापिस दिलवा दिया।

18 दिसंबर को तमिलनाडू का एक व्यापारी रिंगरोड पर की एक मार्केट में एक व्यापारी से माल खरीदा था। व्यापारी ने उसे अच्छे कपड़े दिखाए थे और सस्ते कपड़े भेज दिए। इस पर निराश तमिलनाडू के व्यापारी ने 10 दिन पहले फोस्टा में गुहार लगाई थी। फोस्टा के पदाधिकारियों ने इसे ध्यान में लेते हुए कपड़ा मार्केट के व्यापारी को रुपए देने को कहा और दोबारा ऐसा नहीं करने की नसीहत भी दी। अंत में व्यापारी ने 80 हजार रुपए लौटा दिए।

सूरत के कपड़ा बाजार में चीटर व्यापारियों की शिकायत प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। गोरखपुर का एक व्यापारी गुरुवार को फोस्टा से चीटिंग की शिकायत की है।

फोस्टा प्रमुख मनोज अग्रवाल ने बताया कि यूपी के गोरखपुर का एक व्यापारी तीन महीने पहले सूरत आया था। उसने रिंगरोड की एक मार्केट में साडियां देखी और व्यापारी को 1.20 लाख रुपए एडवांस पेमेन्ट देकर गया था। कुछ दिनों बाद जब माल पहुंचा तो माल उसके ऑर्डर के अनुसार नहीं था। इस पर उसने व्यापारी से पेमेन्ट वापिस मांगा। अंत में अभी तक उसे पेमेन्ट नहीं मिलने पर व्यापारी ने पेमेन्ट के लिए फोस्टा में शिकायत की है।

news news news news news news news news