कांग्रेस राज में कांग्रेसी सरपंच निलंबित, कल तीन घंटे कोटड़ी बंद

कांग्रेस राज में कांग्रेसी सरपंच निलंबित, कल तीन घंटे कोटड़ी बंद

Tue 13 Aug 19  10:35 pm


भीलवाड़ा-कोटड़ी। (हलचल)। कोटड़ी कांग्रेस के सबसे वरिष्ठ नेता और वर्तमान सरपंच जमनालाल डीडवानिया को आज ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग के उपसचिव एवं उपायुक्त ने सरपंच पद से निलंबित कर दिया है। सरपंच पर पद के दुरुपयोग व नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है। सरपंच के निलंबन के विरोध में बुधवार को सुबह तीन घंटे कोटड़ी कस्बा बंद रखा जाएगा। बंद का आह्वान कस्बावासियों ने किया है। 
आदेश के अनुसार ग्राम पंचायत कोटड़ी और पंचायत समिति कोटड़ी के सरपंच द्वारा जारी अवैध आवासीय पट्टों की शिकायत की जांच जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी द्वारा की गई जांच में सरपंच डीडवनिया के खिलाफ सरपंच पद का दुरुपयोग एवं नियमों का उल्लंघन किया जाना प्रमाणित पाए जाने और आरोप गंभीर प्रकृति के होने के कारण सरपंच डीडवानिया को पंचायतीराज अधिनियम 1994 की धारा 38 (4) के तहत ग्राम पंचायत कोटड़ी के सरपंच पद से तत्काल निलंबित कर दिया गया। आपको बता दें कि जमनालाल डीडवानिया कोटड़ी तहसील में कांग्रेस के सबसे वरिष्ठ नेता हैं वे कोटड़ी से पूर्व प्रधान व ब्लॉक अध्यक्ष भी रह चुके हैं। उधर, डीडवानिया को सरपंच पद से निलंबित करने के आदेश के बाद कस्बे में चर्चाओं का दौर चल पड़ा है। लोग कांग्रेसराज में कांग्रेसी सरपंच के निलंबन को लेकर यह भी कहते सुने गए कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी को सपोर्ट नहीं करने को लेकर डीडवानिया पर निलंबन की गाज गिरी है। उधर, सरपंच के निलंबन को लेकर कस्बावासियों में रोष है। ग्रामीणों ने बुधवार सुबह 8 से दोपहर 11 बजे तक निलंबन के विरोध में कोटड़ी बंद रखने का आह्वान किया है। इसके बाद एसडीओ को ग्रामीणों की ओर से ज्ञापन भी दिया जाएगा। साथ ही सोनिया गांधी व राहुल गांधी को अपनी मांगों को लेकर पोस्टकार्ड भी लिखेंगे।
काले पत्थर पर लिखा ग्रामीणों ने फरमान
गांव के बीच लगे काले पत्थर पर लिखे संदेश को फरमान माना जाता है। इस पर लिखा है कि समस्त ग्रामवासियों से निवेदन है कि पूर्व विधायक धीरज गुर्जर व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की द्वेषतापूर्ण तरीके से ग्राम पंचायत कोटड़ी के सरपंच जमनालाल डीडवानिया के निलंबन कराने के विरोध में प्रात: 8 से 11 बजे तक बाजार बंद रहेंगे एवं 11 बजे एसडीओ को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा जिसमें निलंबन निरस्त करने की मांग की जाएगी।

news news news