कृषि मंडी की आढ़तिया समिति के पदाधिकारियों पर जबरन वसूली का मामला दर्ज

कृषि मंडी की आढ़तिया समिति के पदाधिकारियों पर जबरन वसूली का मामला दर्ज

Wed 15 May 19  3:10 pm


 भीलवाड़ा हलचल। कृषि उपज मंडी के फू्रट व्यापारी ने मंडी की आढ़़तिया समिति (संघ) के संरक्षक, अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व सदस्यों पर जबरन वसूली व अत्याचार का आरोप लगाते हुये सुभाषनगर थाने में मामला दर्ज करवाया है।  
पुलिस के अनुसार, आरके कॉलोनी निवासी निर्मल जैन ने जिला पुलिस अधीक्षक योगेश यादव को रिपोर्ट दी, जिसमें बताया कि उनका कृषि मंडी में फल-फू्रट का कारोबार है। जैन ने रिपोर्ट में बताया कि कृषिमंडी (फल मंडी) को वहां की आढ़तिया समिति (संघ) द्वारा संचालित किया जा रहा है। इस समिति के संरक्षक लालचंद नयरानी, अध्यक्ष चंद्रप्रकाश चंदनानी, उपाध्यक्ष भगवानदास लछवानी, सदस्यगण देवचंद, वासुदेव झुर्रानी, प्रकाश नावानी, रमेश कोरानी, वासुदेव नाजवानी, विजय जेठानी,शमसुद्दीन, ताराचंद चंदवानी, वासुदेव मछनानी ने मिलकर गिरोह बना रखा है। गिरोह पैसों की ठगी करने के लिए बिलों में हेराफेरी करता है।  सी.सी टैक्स, दामी के रूप में नाजायज वसुली फर्जी बिल बनाकर पैसा वसुला जाता है। 
17 मार्च 19 को परिवादी ने इस मंडी से फु्रटस क्रय किये तो उसको प्राप्त बिलों में हेराफेरी जो सी.सी टैक्स के रूप में दामी के रूप में गलत बिल बनाकर नाजायज पैसे लेने के रूप में थी। परिवादी ने जब इस वसूली का विरोध किया तो उसे माल देने पर प्रतिबंध लगा दिया। परिवादी ने इन लोगों द्वारा लगाई नाजायज शर्तों का पालन करने से मना किया तो अभद्रता की गई। बर्बाद करने की धमकी दी। जैन ने आरोप लगाया कि उसका माल जो की मंडी में रोक लिया गया था, खराब होने की आशंका से गुहार की तो 25 हजार रुपए जुर्माना लगाकर माल की गाडिय़ों को छोड़ा गया। जैन ने रिपोर्ट में यह भी बताया कि उसकी तरह कई अन्य व्यापारी प्रताडि़त है, लेकिन इन लोगों के द्वारा माल लेने-देने पर प्रतिबंध लगा देने के डर से वे मुहं खोलने की हिम्मत नहीं जुटा रहे हैं। जैन ने कहा कि इस संबंध में मंडी प्रशासन (सचिव) को भी लिखित में सूचना दी, लेकिन कोई असर नहीं हुआ। ना ही कोई कार्रवाई हुई। जैन ने रिपोर्ट में उक्त लोगों द्वारा वसूली गई राशि वापिस दिलाने व मामला दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस अधीक्षक के आदेश से सुभाषनगर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। 

news news news