डूंगरपुर (विवेक पाराशर ) जिला कलेक्टर कानाराम ने जिला चिकित्सा अधिकारियों की बैठक ली तथा जिले में चिकित्सा स्थितियों की समीक्षा की ।

बैठक में जिला कलेक्टर काना राम ने निर्देशित किया कि सभी क्वॉरेंटाइन सेंटर पर पेशेंट की स्थिति के अनुसार चिन्हित करते हुए अलग-अलग रखा जा। उन्होंने खेड़ा आसपुर, पारड़ा चुंडावत, सीमलवाडा, माणकपुरा क्वारेंटीन सेंटर्स में उपलब्ध स्थान की समीक्षा की । साथ ही अन्य क्वारेंटीन सेंटर्स जहां पोजिटिव मरीजों को रखा जा रहा है वहां पर स्थान की पर्याप्त उपलब्धता नही होने की स्थिति में स्थान चिन्हित करने के भी निर्देश दिये। बैठक में उन्होंने सैंपलिंग सिस्टम की पूरी जानकारी ली तथा डाटा अपडेशन के लिए क्रॉस चेक करवाने के निर्देश दिये। साथ ही ब्लॉक लेवल पर एसआरएफ आईडी एवं लेब आईडी सूचना उपलब्ध करवानें के भी निर्देश दिए। उन्होंने सभी ब्लॉक लेवल पर आरआरटी टीम को कंटेंटमेंट प्लान बनाने के भी निर्देश दिए, जिससे प्रत्येक पॉजिटिव व्यक्ति की ट्रावेल हिस्ट्री एवं कांटेक्ट लिस्ट की पूरी पूरी सही जानकारी प्राप्त हो सकें। साथ ही कंटेंटमेंट प्लान पर हार्ड वर्क करने एवं आरआरटी टीम बढ़ाने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने चिकित्सा विभाग द्वारा बनाए गए डाइट चार्ट एवं सीमलवाडा क्वॉरेंटाइन सेंटर पर निरीक्षण के दौरान आज डाइट चार्ट के आज से ही फॉलो करने की सराहना भी की। उन्होंने चिकित्सा विभाग द्वारा सभी क्वॉरेंटीन सेंटर पर उपलब्ध दवाइयों एवं उपकरणों की सूची बनाने तथा मरीजों को दिए जाने वाले चिकित्सा की गाइडलाइन बनाने के भी निर्देश दिए तथा इन सभी दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कहा।

" />

डूंगरपुर (विवेक पाराशर ) जिला कलेक्टर कानाराम ने जिला चिकित्सा अधिकारियों की बैठक ली तथा जिले में चिकित्सा स्थितियों की समीक्षा की ।

बैठक में जिला कलेक्टर काना राम ने निर्देशित किया कि सभी क्वॉरेंटाइन सेंटर पर पेशेंट की स्थिति के अनुसार चिन्हित करते हुए अलग-अलग रखा जा। उन्होंने खेड़ा आसपुर, पारड़ा चुंडावत, सीमलवाडा, माणकपुरा क्वारेंटीन सेंटर्स में उपलब्ध स्थान की समीक्षा की । साथ ही अन्य क्वारेंटीन सेंटर्स जहां पोजिटिव मरीजों को रखा जा रहा है वहां पर स्थान की पर्याप्त उपलब्धता नही होने की स्थिति में स्थान चिन्हित करने के भी निर्देश दिये। बैठक में उन्होंने सैंपलिंग सिस्टम की पूरी जानकारी ली तथा डाटा अपडेशन के लिए क्रॉस चेक करवाने के निर्देश दिये। साथ ही ब्लॉक लेवल पर एसआरएफ आईडी एवं लेब आईडी सूचना उपलब्ध करवानें के भी निर्देश दिए। उन्होंने सभी ब्लॉक लेवल पर आरआरटी टीम को कंटेंटमेंट प्लान बनाने के भी निर्देश दिए, जिससे प्रत्येक पॉजिटिव व्यक्ति की ट्रावेल हिस्ट्री एवं कांटेक्ट लिस्ट की पूरी पूरी सही जानकारी प्राप्त हो सकें। साथ ही कंटेंटमेंट प्लान पर हार्ड वर्क करने एवं आरआरटी टीम बढ़ाने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने चिकित्सा विभाग द्वारा बनाए गए डाइट चार्ट एवं सीमलवाडा क्वॉरेंटाइन सेंटर पर निरीक्षण के दौरान आज डाइट चार्ट के आज से ही फॉलो करने की सराहना भी की। उन्होंने चिकित्सा विभाग द्वारा सभी क्वॉरेंटीन सेंटर पर उपलब्ध दवाइयों एवं उपकरणों की सूची बनाने तथा मरीजों को दिए जाने वाले चिकित्सा की गाइडलाइन बनाने के भी निर्देश दिए तथा इन सभी दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कहा।

">
चिकित्सा विभाग के साथ की समीक्षा, दिये निर्देश

चिकित्सा विभाग के साथ की समीक्षा, दिये निर्देश

  2020-05-22 10:24 pm

डूंगरपुर (विवेक पाराशर ) जिला कलेक्टर कानाराम ने जिला चिकित्सा अधिकारियों की बैठक ली तथा जिले में चिकित्सा स्थितियों की समीक्षा की ।

बैठक में जिला कलेक्टर काना राम ने निर्देशित किया कि सभी क्वॉरेंटाइन सेंटर पर पेशेंट की स्थिति के अनुसार चिन्हित करते हुए अलग-अलग रखा जा। उन्होंने खेड़ा आसपुर, पारड़ा चुंडावत, सीमलवाडा, माणकपुरा क्वारेंटीन सेंटर्स में उपलब्ध स्थान की समीक्षा की । साथ ही अन्य क्वारेंटीन सेंटर्स जहां पोजिटिव मरीजों को रखा जा रहा है वहां पर स्थान की पर्याप्त उपलब्धता नही होने की स्थिति में स्थान चिन्हित करने के भी निर्देश दिये। बैठक में उन्होंने सैंपलिंग सिस्टम की पूरी जानकारी ली तथा डाटा अपडेशन के लिए क्रॉस चेक करवाने के निर्देश दिये। साथ ही ब्लॉक लेवल पर एसआरएफ आईडी एवं लेब आईडी सूचना उपलब्ध करवानें के भी निर्देश दिए। उन्होंने सभी ब्लॉक लेवल पर आरआरटी टीम को कंटेंटमेंट प्लान बनाने के भी निर्देश दिए, जिससे प्रत्येक पॉजिटिव व्यक्ति की ट्रावेल हिस्ट्री एवं कांटेक्ट लिस्ट की पूरी पूरी सही जानकारी प्राप्त हो सकें। साथ ही कंटेंटमेंट प्लान पर हार्ड वर्क करने एवं आरआरटी टीम बढ़ाने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने चिकित्सा विभाग द्वारा बनाए गए डाइट चार्ट एवं सीमलवाडा क्वॉरेंटाइन सेंटर पर निरीक्षण के दौरान आज डाइट चार्ट के आज से ही फॉलो करने की सराहना भी की। उन्होंने चिकित्सा विभाग द्वारा सभी क्वॉरेंटीन सेंटर पर उपलब्ध दवाइयों एवं उपकरणों की सूची बनाने तथा मरीजों को दिए जाने वाले चिकित्सा की गाइडलाइन बनाने के भी निर्देश दिए तथा इन सभी दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कहा।

news news news news news news news news