मोबाइल टावर लगवाने की सोच रहे हैं तो हो जाएं सावधान, NOC के नाम पर हो रहा फर्जीवाड़ा</p>

मोबाइल टावर लगवाने की सोच रहे हैं तो हो जाएं सावधान, NOC के नाम पर हो रहा फर्जीवाड़ा

  2020-10-16 12:00 pm
<p><strong>नई दि&zwj;ल्&zwj;ली ।&nbsp;</strong>अगर आप अपनी जमीन पर मोबाइल टावर लगवाने की सोच रहे हैं तो सावधान हो जाएं। सोशल मीडिया पर कई दिनों से एक चीज तेजी से वायरल हो रही है। वायरल खबर में दावा किया जा रहा है कि भारत सरकार के दूससंचार विभाग एक नई स्कीम लेकर लाया है, जिसके इसके तहत अलग-अलग स्थानों पर मोबाइल टावर लगाने के लिए नो-ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट दे रहा है। ट्राई ने मोबाइल पर मैसेज भेजकर लोगों को आगाह किया है।&nbsp;मोबाइल पर भेज गए मैसेज में ट्राई ने कहा है कि ट्राई मोबाइल टावर के इंस्टालेशन के लिए कोई NOC जारी नहीं करता है। अगर कोई इस तरह का लेटर जारी करता है तो संबंधित दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी से संपर्क करें।</p> <p>बता दें कुछ दिन पहले फैक्ट चेक में यह बात साबित हो गई थ कि&nbsp;यह दावा पूरी तरह से फर्जी है। पीआईबी फैक्ट चेक के मुताबिक दूससंचार विभाग की मोबाइल टावर लगाने के लिए नो-ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट देने की बात अफवाह है।&nbsp;</p> <p>पीआईबी फैक्ट चेक ने ट्वीट के जरिए कहा है कि ऐसी अफवाह है कि दूससंचार विभाग अलग-अलग स्थानों पर मोबाइल टावर लगाने के लिए नो-ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट दे रहा है। पीआईबी फैक्ट चेक ने इस पर बताया कि यह दावा बिल्कुल झूठ है और दूससंचार विभाग ऐसे कोई सर्टिफिकेट जारी नहीं करता है। इसलिए ऐसी अफवाहों और जालसाजों से दूर रहें।&nbsp;</p>
news news news news news news news news
कोरोना अपडेट
More Textile News