डूंगरपुर (विवेक पाराशर ) जिले में अब तक ढाई लाख के लगभग मनरेगा में श्रमिक कार्यरत है लेकिन कोरोना संक्रमण का आंकड़ा जिले में आए दिन बढ़ता जा रहा है। जिससे लोगो मे रोजगार की चिंता बढ़ती जा रही है। ऐसे में हर जरूरतमंद को रोजगार देना अतिआवश्यक है, जिसे लेकर पूर्व सांसद ताराचंद भगोरा ने शुक्रवार को जिला कलेक्टर कानाराम से दुरभाष पर आग्रह किया कि, अविलम्ब जिले में श्रमिक संख्या बढ़ाते हुए पक्के निर्माण कार्य 40-60 का रेशो मेन्टेन करते हुए सभी ग्राम पंचायतों(खासकर नई बनी पंचायत) में मांग के आधार पर प्राथमिकता देते हुए कार्य अविलम्ब स्वीकृत किए जावे ताकि प्रत्येक व्यक्ति को रोजगार से जोड़ा जा सके।

साथ ही भगोरा ने कहा कि वर्तमान समय मे तेज गर्मी को देखते हुए मनरेगा कार्य स्थलों पर श्रमिको हेतु छाया, पानी,मेडिकल किट आदि का भी पूरा प्रबन्ध किया जावे जिससे कोई व्यक्ति मौसमी बीमारी की चपेट में नही आवे।

" /> डूंगरपुर (विवेक पाराशर ) जिले में अब तक ढाई लाख के लगभग मनरेगा में श्रमिक कार्यरत है लेकिन कोरोना संक्रमण का आंकड़ा जिले में आए दिन बढ़ता जा रहा है। जिससे लोगो मे रोजगार की चिंता बढ़ती जा रही है। ऐसे में हर जरूरतमंद को रोजगार देना अतिआवश्यक है, जिसे लेकर पूर्व सांसद ताराचंद भगोरा ने शुक्रवार को जिला कलेक्टर कानाराम से दुरभाष पर आग्रह किया कि, अविलम्ब जिले में श्रमिक संख्या बढ़ाते हुए पक्के निर्माण कार्य 40-60 का रेशो मेन्टेन करते हुए सभी ग्राम पंचायतों(खासकर नई बनी पंचायत) में मांग के आधार पर प्राथमिकता देते हुए कार्य अविलम्ब स्वीकृत किए जावे ताकि प्रत्येक व्यक्ति को रोजगार से जोड़ा जा सके।

साथ ही भगोरा ने कहा कि वर्तमान समय मे तेज गर्मी को देखते हुए मनरेगा कार्य स्थलों पर श्रमिको हेतु छाया, पानी,मेडिकल किट आदि का भी पूरा प्रबन्ध किया जावे जिससे कोई व्यक्ति मौसमी बीमारी की चपेट में नही आवे।

">
जिले में मनरेगा लेबर व पक्के कार्य बढ़ाने की मांग

जिले में मनरेगा लेबर व पक्के कार्य बढ़ाने की मांग

  2020-05-22 10:23 pm

डूंगरपुर (विवेक पाराशर ) जिले में अब तक ढाई लाख के लगभग मनरेगा में श्रमिक कार्यरत है लेकिन कोरोना संक्रमण का आंकड़ा जिले में आए दिन बढ़ता जा रहा है। जिससे लोगो मे रोजगार की चिंता बढ़ती जा रही है। ऐसे में हर जरूरतमंद को रोजगार देना अतिआवश्यक है, जिसे लेकर पूर्व सांसद ताराचंद भगोरा ने शुक्रवार को जिला कलेक्टर कानाराम से दुरभाष पर आग्रह किया कि, अविलम्ब जिले में श्रमिक संख्या बढ़ाते हुए पक्के निर्माण कार्य 40-60 का रेशो मेन्टेन करते हुए सभी ग्राम पंचायतों(खासकर नई बनी पंचायत) में मांग के आधार पर प्राथमिकता देते हुए कार्य अविलम्ब स्वीकृत किए जावे ताकि प्रत्येक व्यक्ति को रोजगार से जोड़ा जा सके।

साथ ही भगोरा ने कहा कि वर्तमान समय मे तेज गर्मी को देखते हुए मनरेगा कार्य स्थलों पर श्रमिको हेतु छाया, पानी,मेडिकल किट आदि का भी पूरा प्रबन्ध किया जावे जिससे कोई व्यक्ति मौसमी बीमारी की चपेट में नही आवे।

news news news news news news news news