टाटा पावर ने ४२ करोड रुपए की वसूली के लिए छेडा अभियान

Tue 12 Mar 19  7:55 pm


  अजमेर हलचल।   टाटा पावर ने वित्तीय वर्ष की क्लोजिंग के चलते मार्च के महीने में वित्त वसूली का बडा अभियान श्ुारू कर दिया  है। अभियान के तहत टाटा पावर को करीब ४२ करोड रुपए की  वसूली करनी है, जिसमें विद्युत निगम व टाटा पावर दोनों का बकाया शामिल है। 
 कॉर्पोरेट हैड अफेयर्स आलोक श्रीवास्तव  ने बताया कि जिन उपभोक्ता की बिजली की बकाया राशि २० हजार रुपए से ऊपर है, उन सभी बकायेदारों के बकाया राशि वसूली के लिए टाटा पावर ने अपने अधिकारियों की ७ स्पेशल टीमें गठित की  हैं, जिनके पास चुनिंदा ४०० केस हैं। जिनको मार्च के महीने मंे वसूली के लिए पाबंद किया गया है। इन बकायेदारों से या तो भुगतान कराने या इनकी बिजली काटने के निर्देश दिए गए। इसके अलावा लगभग २९ कर्मचारियों की अलगद्ब्रअलग टीमें विभिन्न क्षेत्रों में राजस्व वसूली के लिए कायर् कर रही हैं। जिनका काम सिर्फ  रिकवरी करना ही है। उन्हें एक हजार से २०हजार  रुपये तक के लगभग ३५०० कनेक्शनों से वित्त वसूली और बिजली काटने का कायर्  सौंपा है। श्रीवास्तव ने बताया कि जो भी पुराने और बडे बकायेदार हैं, उन्हें छोडा नहीं जाएगा। ऐसे में विद्युत कटने की परेशानी और री कनेक्शन चार्ज से बचने के लिए अपनेद्ब्र अपने बिलों का भुगतान तुरंत जमा कर दें। मार्च महीने के शुरुआती दिनों में लगभग ७२ बकायेदारों की बिजली काटी है और लगभग १९० बकायेदारों ने फ ॉलो अप के बाद बिल जमा करवाए हैं। उन्होंने बताया कि अगर किसी उपभोक्ता को किसी कारण वश बिल नहीं मिलता है तो वो नजदीकी उपभोक्ता सेवा कॠद्र पर जाकर अपना बिल निकलवा सकते हैं। वो अपने बिल की देय राशि कॉल सेंटर नंबर १८००१८०६५३१ से भी पता कर सकते हैं। उपभोक्ताओं को अपना सही मोबाइल नंबर और मेल आईडी भी बिल पे अंकित करवाना चाहिए, ताकि उन्हें बिल बनते ही उसकी जानकारी मिल जाए।