चित्तौड़गढ़। कोटा-उदयपुर फोरलेन पर एराल गांव के निकट ग्रामीणों ने जाम लगा दिया है। प्रारंभिक रूप से आरटीओ इंस्पेक्टर विवाद के बाद ग्रामीणों के जाम लगाने की बात सामने आ रही है। जानकार सूत्रों ने बताया कि परिवहन विभाग चित्तौड़गढ़ से एक इंस्पेक्टर ने कोटा उदयपुर फोरलाइन पर एराल गांव के निकट नाक लगा वाहनों की जांच की जा रही थी। इसी दौरान जांच के लिए एक भारी वाहन को रोक दिया और दस्तावेज की जांच की। कथित रूप से ट्रक चालक के दस्तावेज, नकदी छीनने व मारपीट करने से माहौल गर्मा गया। चालक ने अपने परिचित को इसकी सूचना देकर मौके पर बुला लिया। इस पर एराल सहित आस-पास के गांव के कई ग्रामीण जमा हो गए। जानकारी मिली है कि परिवहन विभाग के इंस्पेक्टर के रवैया को देखते हुए ग्रामीणों ने मौके पर जाम लगा दिया। इससे फोरलेन के दोनों तरफ वाहनों की कतारें लग गई। मामले की जानकारी मिलने पर कोतवाली थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची है। परिवहन विभाग का दस्ता मौके से भाग गया।

" />

ट्रक चालक से नकदी छीनने व मारपीट करने से माहौल गर्माया

Fri 08 Nov 19  10:47 am


चित्तौड़गढ़। कोटा-उदयपुर फोरलेन पर एराल गांव के निकट ग्रामीणों ने जाम लगा दिया है। प्रारंभिक रूप से आरटीओ इंस्पेक्टर विवाद के बाद ग्रामीणों के जाम लगाने की बात सामने आ रही है। जानकार सूत्रों ने बताया कि परिवहन विभाग चित्तौड़गढ़ से एक इंस्पेक्टर ने कोटा उदयपुर फोरलाइन पर एराल गांव के निकट नाक लगा वाहनों की जांच की जा रही थी। इसी दौरान जांच के लिए एक भारी वाहन को रोक दिया और दस्तावेज की जांच की। कथित रूप से ट्रक चालक के दस्तावेज, नकदी छीनने व मारपीट करने से माहौल गर्मा गया। चालक ने अपने परिचित को इसकी सूचना देकर मौके पर बुला लिया। इस पर एराल सहित आस-पास के गांव के कई ग्रामीण जमा हो गए। जानकारी मिली है कि परिवहन विभाग के इंस्पेक्टर के रवैया को देखते हुए ग्रामीणों ने मौके पर जाम लगा दिया। इससे फोरलेन के दोनों तरफ वाहनों की कतारें लग गई। मामले की जानकारी मिलने पर कोतवाली थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची है। परिवहन विभाग का दस्ता मौके से भाग गया।

news news news