ट्रेफिक पुलिस की नहीं थी त्योंहारी तैयारी, दिनभर लगे जाम, बसों-ट्रेनों में उमड़ी भीड़

ट्रेफिक पुलिस की नहीं थी त्योंहारी तैयारी, दिनभर लगे जाम, बसों-ट्रेनों में उमड़ी भीड़

Wed 14 Aug 19  6:46 pm


भीलवाड़ा हलचल। रक्षाबंधन पर्व पर रेल एवं सड़क मार्ग पर यात्रियों का दबदबा रहा। यात्रियों के अतिरिक्त भीड़ के चलते परिवहन निगम की यातायात व्यवस्था बौनी नजर आई। लंबे रूटों के साथ ही लोकल रूटों पर जाने वाले यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। उधर, शहर में ट्रैफिक पुलिस की कोई तैयारी नहीं होने से सड़कों पर दिनभर जाम के हालात बने रहे। ट्रेफिक जाम से आमजन को परेशानियों का सामना करना पड़ा।  
रक्षाबंधन पर्व पर बहनों के घर जाने वाले भाई और भाइयों के घर आने वाली बहनों को यातायात व्यवस्था से दो-दो हाथ करने पड़े। रोडवेज बस स्टैण्ड एवं रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ का दृश्य मेले जैसा लग रहा था। बसों की छतों पर भी लोग बैठकर यात्रा करते नजर आए। वहीं ट्रेफिक  पुलिस की स्वतंत्रता दिवस व रक्षाबंधन पर कोई तैयारी नजर नहीं आई। इससे शहर के हालात बिगड़ गये। शहर में सभी मुख्य मार्गों कंट्रोल रूम से गोल प्याऊ  के बीच, महाराणा टाकिज, आयुर्वेद चिकित्सालय मार्ग, मुरली विलास रोड, सेवा सदन चौराहा, सूचना केंद्र, सूचना केंद्र चौराहे से गोदावरी हॉल, अंडर ब्रिज सहित अन्य मार्गों पर यातायात के दबाव व पुलिस की अनदेखी से जाम के हालत बने रहे। इससे वाहन चालकों के साथ ही खरीदारों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। आजाद चौक में ठेले वालों के अतिक्रमण के चलते पैदल चलना भी मुनासिब नहीं हो रहा था। 

 इन समस्याओं का हल जरूरी 
पा
र्किंग: शहर के बाजारों में कहीं भी पार्किंग नहीं है। यही सबसे बड़ी समस्या है। वाहनों को दुकानों के सामने सड़क किनारे खड़े कर दिया जाता है।  आजाद चौक, मैन मार्केट, मुरली विलास रोड, सूचना केंद्र, महाराणा टाकिज, आदि बाजार के लिए पार्किंग की व्यवस्था की जाए। जिससे सड़कों पर त्योहार के सीजन में वाहनों की भीड़ बाजार में कम दिखाई दे। 

अतिक्रमण:   बाजार में रोड के दोनों तरफ  हाथ ठेले  और वाहनों की पार्किंग से हो रहे अतिक्रमण हटाने के लिए नगर परिषद और यातायात पुलिस ने कई बार मुहिम चलाई। लेकिन जिसका कोई परिणाम नहीं निकला। इस समय इस रोड पर सबसे ज्यादा अतिक्रमण की स्थिति है। राखी का बाजार सड़क पर ही लग रहा है। जबकि सदर बाजार में लग रहे ठेलों को अन्यत्र शिफ्ट किया जा सकता है। 

  
 बाजार में सड़कों पर सजीं दुकानें 

रक्षाबंधन पर्व आते ही बाजार की सड़कों पर फुटकर दुकानदारों ने अपनी दुकानें सजा रखी हैं। साथ आम रास्ते और फुटपाथों पर दुकानें लग गईं हैं। मुख्य बाजार में दुकानदारों ने दुकान सजाने के लिए सामान फुटपाथ पर रख लिया है। इस मनमानी के कारण आम रास्ते सिकुड़ गए हैं। 

बाजार में खड़े रहेते हैं मवेशी 

इस सीजन में जहां बाजार में लोगों की भीड़ बढ़ी हैं तो वहीं दूसरी ओर आवारा मवेशी भी लोगों के लिए सिर दर्द बने हुए हैं। स्थिति यह है कि बाजार की सड़कें लोगों की लापरवाही से संकरी हो जाती हैं। उस पर लावारिस मवेशी अपना डेरा जमाकर बैठ जाते हैं। उन्हें लगता है कि यही उनका घर है। क्योंकि उनके अपने तो ध्यान नहीं देते हैं। वे सड़क को ही अपना घर समझ जहां सुकून मिले वहीं चौपाल लगाकर साथी मवेशियों के साथ बैठ जाते हैं। 

 

news news news