ड्राप आउट बच्चों को चिन्ह्ति किये जाने के लिए अभि‍यान आज से

Thu 11 Apr 19  1:50 pm


राजसमंद । राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राजसमन्द के निर्देशानुसार ग्रामीण क्षेत्रों के ड्राप आउट स्कूली बच्चों के संबंध में एक विशेष अभियान आयोजित किया जाना है। जिसके तहत शिक्षा के महत्व को बढावा देने के लिए राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण ने निर्णय लिया है कि हर साल हजारों की संख्या में स्कूली छात्र किसी न किसी कारण से विद्यालय छोड़ देते है जिनमें छात्राओं की संख्या सर्वाधिक है। ऐसे ड्राप आउट बच्चों को चिन्ह्ति किये जाने के लिए प्रदेश में  ११.०४.२०१९ से २०.०४.२०१९ तक एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें पैरालीगल वाॅलेन्टियर की ड्यूटी लगाई गई है।

इस अभियान के तहत नाथद्वारा उपखण्ड के अलग अलग ग्राम पंचायतों की ३५२ स्कूलों जिनमें बच्चों के द्वारा ड्राप आउट किया गया है, उन स्कूलों में ड्राप आउट बच्चों को चिन्ह्ति करने के लिए के लिए अध्यक्ष ताल्लुका विधिक सेवा समिति, नाथद्वारा  विक्रमसिंह, अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश नाथद्वारा की अध्यक्षता में पैरालीगल वाॅलेन्टियरों (पी.एल.वी.) के साथ एक मिटिंग का आयोजन किया गया जिसमें नाथद्वारा मुख्यालय के पैरालीगल वाॅलेन्टियरों को विद्यालयों की सूचियाॅं वितरित की गई एवं उन्हें यह निर्देशित करते हुए यहाॅं से भेजा गया कि वे स्कूलों में जाकर ड्राप आउट बच्चों को चिन्ह्ति करेंगे एवं इसके बाद उन बच्चों के घर-घर जाकर उन बच्चों एवं उनके परिवारवालों से सम्पर्क करेंगे तथा उन कारणों का पता लगाऐंगे की उन बच्चों के द्वारा विद्यालय क्यों छोड़ दिया गया। साथ ही इस अभियान के तहत उन बच्चों को पुनः विद्यालयों में दाखिला दिलाकर शिक्षा से जोड़नें का भी प्रयास किया जायेंगा। 

इस मिटिंग में अध्यक्ष ताल्लुका विधिक सेवा समिति, नाथद्वारा  विक्रमसिंह, अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश नाथद्वारा के अलावा सचिव, ताल्लुका विधिक सेवा समिति, नाथद्वारा  सत्य प्रकाश त्रिपाठी, पी.एल.वी.  भावेश जोशी, पी.एल.वी.  रोहित खटीक, पी.एल.वी.  आसिफ इकबाल, पी.एल.वी.  सुरेश मीणा उपस्थित रहें।

news news news