चंडीगढ़। पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को फिर पाकिस्‍तान से न्‍यौता आया है। उनको पाकिस्‍तान ने करतारपुर कॉरिडाेर के पाक के हिस्‍से में उद्घाटन समारोह के लिए आमंत्रित किया है। यह समारोह 9 नवंबर को कॉरिडाेर के पाकिस्‍तान वाले हिस्‍से में होगा। पंजाब में कैप्‍टन अमरिंदर सिंह सरकार से इस्‍तीफे के बाद सिद्धू काफी समय से शांत बैठे हैं।

पाकिस्‍तान ने करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह के लिए दिया निमंत्रण

 

बता दें के गुरु श्री नानकदेव के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर भारत और पाकिस्‍तान के बीच करीब चार किलोमीटर लंबा करतारपुर कॉरिडोर बनाया जा रहा है। इस कॉरिडोर होकर श्रद्धालु श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारा में दर्शन करने और माथा टेकने जा सकेंगे। इसका भारत और पाकिस्‍तान अपने-अपने क्षेत्र में निर्माण कार्य पूरा कर चुके हैं। इसका भारत और पाकिस्‍तान में उद्घाटन होना है। पाकिस्‍तान अपने हिस्‍से में कॉरिडोर के उद्घाटन के लिए 9 नवंबर को समारोह आयोजित करेगा। उसने इसके लिए पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह सहित भारत के कई नेताओं को निमंत्रण दिया था। डॉ. मनमोहन सिंह ने इसे ठुकरा दिया था। दूसरी ओर भारत में भी कॉरिडोर का 9 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुभारंभ करेंगे। बताया जाता है पाकिस्तान की तहरीक ए इंसाफ पार्टी ने करतार कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह के लिए नवजोत सिंह सिद्धू को निमंत्रण भेजने का फैसला किया है। यह भी बताया जा रहा है कि पाकिस्‍तान के सीनेटर फैसल जावेद खान ने पीएम इमरान खान के निर्देश पर नवजोत सिंह सिद्धू के साथ टेलीफोन पर बातचीत की है। फैसल ने सिद्धू को 9 नवंबर को पाकिस्तान में होने वाले इस समारोह के लिए आमंत्रित किया है। वैसे, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। अमृतसर में नवजोत सिंह सिद्धू के कार्यालय में इसे बारे में पूछे जाने पर ऐसी कोई जानकारी न होने की बात कही गई।

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्‍तान वहां इमरान खान के प्रधानमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह में गए थे।  उस दौरान वह पाकिस्‍तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने के कारण विवाद में आ गए थे। बाद में सिद्धू ने भारत लौटने पर सफाई दी कि शपथ ग्रहण समारोह के दौरान जनरल बाजवा ने उन्‍‍हें कहा कि पाकिस्‍तान श्री करतार गुरुद्वारा साहिब जाने का रास्‍ता खोलने पर विचार कर रहे हैं तो खुशी व उत्‍साह में उन्‍होंने बाजवा को झप्‍पी डाल दी। सिद्धू को पाकिस्‍तान ने करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्‍यास समारोह के लिए भी न्‍यौता दिया था और सिद्धू इसमें शामिल होने वहां गए थे। इस बार भी सिद्धू उस समय विवादों में आ गए जब खलिस्तानी समर्थक गाेपाल चावला के साथ उनकी तस्‍वीर वायरल हो गई। सिद्धू जम्‍मू-कश्‍मीर में सीआरपीएफ के 44 जवानों के आतंकी हमले में शहीद होने के बाद पाकिस्‍तान के समर्थन में बयान देने के लिए भी सुर्खियों में आ गए थे। भारतीय वायुसेना द्वारा गुलाम कश्‍मीर में आतंकी शिविरों पर एयर स्‍ट्राइक पर सवाल उठाने के कारण भी लोगों के निशाने पर आ गए थे।

" />
नवजोत सिद्धू को फिर मिला पाकिस्‍तान से न्‍यौता

नवजोत सिद्धू को फिर मिला पाकिस्‍तान से न्‍यौता

Wed 30 Oct 19  9:39 pm


चंडीगढ़। पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को फिर पाकिस्‍तान से न्‍यौता आया है। उनको पाकिस्‍तान ने करतारपुर कॉरिडाेर के पाक के हिस्‍से में उद्घाटन समारोह के लिए आमंत्रित किया है। यह समारोह 9 नवंबर को कॉरिडाेर के पाकिस्‍तान वाले हिस्‍से में होगा। पंजाब में कैप्‍टन अमरिंदर सिंह सरकार से इस्‍तीफे के बाद सिद्धू काफी समय से शांत बैठे हैं।

पाकिस्‍तान ने करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह के लिए दिया निमंत्रण

 

बता दें के गुरु श्री नानकदेव के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर भारत और पाकिस्‍तान के बीच करीब चार किलोमीटर लंबा करतारपुर कॉरिडोर बनाया जा रहा है। इस कॉरिडोर होकर श्रद्धालु श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारा में दर्शन करने और माथा टेकने जा सकेंगे। इसका भारत और पाकिस्‍तान अपने-अपने क्षेत्र में निर्माण कार्य पूरा कर चुके हैं। इसका भारत और पाकिस्‍तान में उद्घाटन होना है। पाकिस्‍तान अपने हिस्‍से में कॉरिडोर के उद्घाटन के लिए 9 नवंबर को समारोह आयोजित करेगा। उसने इसके लिए पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह सहित भारत के कई नेताओं को निमंत्रण दिया था। डॉ. मनमोहन सिंह ने इसे ठुकरा दिया था। दूसरी ओर भारत में भी कॉरिडोर का 9 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुभारंभ करेंगे। बताया जाता है पाकिस्तान की तहरीक ए इंसाफ पार्टी ने करतार कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह के लिए नवजोत सिंह सिद्धू को निमंत्रण भेजने का फैसला किया है। यह भी बताया जा रहा है कि पाकिस्‍तान के सीनेटर फैसल जावेद खान ने पीएम इमरान खान के निर्देश पर नवजोत सिंह सिद्धू के साथ टेलीफोन पर बातचीत की है। फैसल ने सिद्धू को 9 नवंबर को पाकिस्तान में होने वाले इस समारोह के लिए आमंत्रित किया है। वैसे, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। अमृतसर में नवजोत सिंह सिद्धू के कार्यालय में इसे बारे में पूछे जाने पर ऐसी कोई जानकारी न होने की बात कही गई।

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्‍तान वहां इमरान खान के प्रधानमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह में गए थे।  उस दौरान वह पाकिस्‍तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने के कारण विवाद में आ गए थे। बाद में सिद्धू ने भारत लौटने पर सफाई दी कि शपथ ग्रहण समारोह के दौरान जनरल बाजवा ने उन्‍‍हें कहा कि पाकिस्‍तान श्री करतार गुरुद्वारा साहिब जाने का रास्‍ता खोलने पर विचार कर रहे हैं तो खुशी व उत्‍साह में उन्‍होंने बाजवा को झप्‍पी डाल दी। सिद्धू को पाकिस्‍तान ने करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्‍यास समारोह के लिए भी न्‍यौता दिया था और सिद्धू इसमें शामिल होने वहां गए थे। इस बार भी सिद्धू उस समय विवादों में आ गए जब खलिस्तानी समर्थक गाेपाल चावला के साथ उनकी तस्‍वीर वायरल हो गई। सिद्धू जम्‍मू-कश्‍मीर में सीआरपीएफ के 44 जवानों के आतंकी हमले में शहीद होने के बाद पाकिस्‍तान के समर्थन में बयान देने के लिए भी सुर्खियों में आ गए थे। भारतीय वायुसेना द्वारा गुलाम कश्‍मीर में आतंकी शिविरों पर एयर स्‍ट्राइक पर सवाल उठाने के कारण भी लोगों के निशाने पर आ गए थे।

news news news