" />
 

">
पंचायत चुनाव की लोकसूचना जारी,  125 सरपंच व 1491 वार्ड पंचों के होंगे चुनाव

पंचायत चुनाव की लोकसूचना जारी,  125 सरपंच व 1491 वार्ड पंचों के होंगे चुनाव

  2020-09-16 04:55 pm

भीलवाड़ा (हलचल) । जिले की पांच पंचायत समितियों के 125 सरपंच व 1491 वार्ड पंचों के अटके हुए चुनाव की लोक सूचना बुधवार को जारी कर दी गई। जिले में बदनौर, आसींद, मांडल, हुरड़ा वसुवाणा पंचायत समिति के  वार्ड पंचोंव सरपंचों के लिए चुनाव चार चरणों में होंगे। पहले चरण में मतदान 28 सितंबर को होगा। राज्य निर्वाचनआयोग द्वारा जारी कार्यक्रम के मुताबिक  इसके लिए नामांकन 19 सितंबर को सुबह 10 से शाम 5 बजेतक भरे जाएंगे।  अगले दिन 20 सितंबर को  सुबह 10 बजे से नामनिर्देश पत्रों की जांच, दोपहर 3 बजे तक नामवापसी, इसके तुरंत बाद चुनाव चिह्न आवंटन एवं योग्य अभ्‍यर्थियों की सूची का प्रकाशन होगा। मतदान दल 27 सितंबर को मतदान केंद्र पर पहुंच जाएंगे। 28 को सुबह 7:30 से शाम 5:30 बजे तक मतदान होगा। फिर मतगणना कर परिणाम घोषित किए जाएंगे। उप सरपंच का चुनाव 29 सितंबर को होगा। उधर, चुनाव आयोग ने पंच-सरपंचों के नाम निर्देशन पत्र के साथ प्रस्तुत किए जाने वाले दस्तावेजों के संबंध में दिशा-निर्देश जारी  कि‍ए हैं।  
पंच और सरपंच पदों के लिए नाम निर्देशन पत्र में सभी प्रविष्टियां पूर्ण करनी अनिवार्य है। आवेदक को कोई भी कॉलम रिक्त छोडऩा नहींहै। आवेदन पत्र में  बि‍न्दु संख्‍या 1 में विचाराधीन आपराधिक मामलों के संबंध, बिन्दु संख्‍या 2 में आपराधि‍क प्रकरणों में दोष सिद्धी से संबंधित सूचना, बिन्दु संख्‍या 3 में संतान के संबंध में सूचना और बिन्दु संख्‍या 4 में सम्‍पत्‍ति‍ के संबंधमें सूचना प्रस्तुत करनी है। राज्य नि‍र्वाचन आयोग के आयुक्त पीएस मेहरा ने बताया किबिन्दु संख्‍या 1 से 3 का विवरण अभ्‍यर्थी कीयोग्यता या अयोग्यता के निर्धारण के लिए है। किन्तु बिन्दू संख्‍या 4 में सूचना केवल मतदाताओं की जानकारी के लिए है। इसके आधार पर अभ्‍यर्थी की योग्यता या अयोग्यता निर्धारित नहीं होगी। 
सरपंच पद के लिए न्यायालय में लंबित मामलों,  परिसम्‍पतियों एवं देयता  (डयूज) की सूचना प्राप्त किए जाने के लिए 50 रुपए के गैर न्यायिक स्टाम्‍प  पेपर पर शपथ पत्र भरा जाना है। नोटेरी से प्रमाणित यह फार्म के साथ लगेगा। अभ्‍यर्थियोंको घर में कार्यशील स्वच्छ शौचालय तथा खुले में शौच नहीं जाने संबंधी घोषणा पत्र या अंडरटेकिंग नाम देनी होगी।संबंधित पंचायती राज संस्था की कर या फीस की राशि बकायान होने का प्रमाण पत्र देना होगा। 
कमिश्नर मेहरा ने बताया कि यदि किसी अभ्‍यर्थी का नाम पूर्व में कि‍सी पंचायतीराज संस्था का सभापति या उप सभापति रहते हुए पंचायती राज संस्थाओं के बकाया को जमा कराने के संबंध में नोटिस तामील होने के पश्चात् भी दो माह में उक्त राशि जमा नहीं कराता है और निर्वाचन की अधिसूचना जारी होने से कम से कम दो माह पूर्व राज्य  सरकार द्वारा जारी व्यतिक्रमियों (डिफाल्टर) की सूची में आ गया हो तो वह अयोग्य होगा। नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करने से पूर्व उक्त राशि जमा कराने का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करनेे की दशा में अभ्‍यर्थी अयोग्य नहीं माना जाएगा। 
सरपंच पद का चुनाव लड़े जाने के लिए जमानत राशि सामान्य वर्ग के लिए 500 व महिला एवं अनुसूचितजाति, जनजाति  एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 250 रुपए है। उम्‍मीदवारों को यह राशि जमा करवा कर रसीद भी लगानी आवश्यक है। यदि आरक्षित जाति का व्यक्ति सामान्य वार्ड से निर्वाचन हेतु नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करता है तो उक्त जमानत राशि में रियायत केलिए उसे अपना जाति‍ प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना आवश्यक होगा। 


 

news news news news news news news news
कोरोना अपडेट