परमात्मा के रंग मे रंग जाने पर जीवन मे किसी और   रंग कि आवश्यकता नहीं - मैंनाकवर

परमात्मा के रंग मे रंग जाने पर जीवन मे किसी और रंग कि आवश्यकता नहीं - मैंनाकवर

Fri 22 Mar 19  3:12 pm


भीलवाड़ा (हलचल) ।  शीतल स्वाध्याय भवन में होली चौमासी पर्व पर विशाल जन समूह को सम्बोधित करते हुयें उपप्रवर्तनी मैंनाकवर ने कहां कि भगवान बनने के लिये पहले इन्सान बनने की आवश्यकता जीवन अगर कौई रंग लगाना है तो परमात्मा रूपी ज्ञान के   रंग मे डुब जाये फिर कौई दुसरें रंग कि जरूरत है नहीं पड़ेगी क्यों कि वो रंग  कभी नहीं उतरने वाला है तब आत्मा को परमात्मा बनने से कौई नहीं रोक सकता जब परमात्मा रंग चढ़ जाये तब  !   मनोहर कंवर ने कहां कर्मो के मेल को धोकर त्याग का रंग भरने दिन है । संयम प्रभा राग्देश की होली  जलाने का दिन है ! बुरायो को मिटाने.व अच्छाई की तरफ आने का  दिन बताया ।   सुप्रभा ने कहां कि आत्म शुध्दि का पर्व बताया। साध्वी पुष्पलता एश्वर्य प्रभा ने भी विचार रखें ।

आयोजन का  शीतल स्वाध्याय भवन के मंत्री ज्ञानेन्द्र सिंह चौधरी ने संचालन किया  आभार अध्यक्ष नरेन्द्र जैन बाहदुर सिंह लोढ़ा ने प्रोग्राम मे अथितियों का शाल माला पहनाकर  स्वागत किया !  सुनिल चपलोत ने बताया की ईस दौरान महिला जैन कॉन्फ्रेंस  नई दिल्ली की राष्ट्रीय महामंत्री लाड मेहता , प्रांतीय अध्यक्षा पुष्पा गौखरू   , नेहा चौरड़िया , पार्षदा मंजु पोखरणा  आदि ने भी विचार रखें और होली पर्व पर विचार रखे व सभी को शुभकामनाएं दी , साथ ही  कोटड़ी श्री संघ के अध्यक्ष नवरतनमल पोखरणा और  सुवाणा संघ व नीमच आदि संघो   की तरफ से  जोरदार शब्दों मे  साध्वी मण्डल की  2019 केलिये   चातुर्मास की  विनतीया रखी गई ! कार्यक्रम मे एकासन - दया आदि के साथ समारोहों मौजूद 700 से अधिक जनोंने महिलाओ व पुरूषों ने  उपप्रवर्तनी  मैनाकंवर के प्रवर्चनो से  प्रभावित होकर  होली पर रंग नहीं लगाने भी का सकल्प लिया ।

news news news