पाउडर और वनस्पति तेल से बना रहे थे मावा, राखी पर होनी थी सप्लाई

Tue 13 Aug 19  7:38 am


जयपुर। रक्षाबंधन के त्यौहार पर मिलावटी मावा और मिठाइयों के विरुद्ध चलाए गए चिकित्सा विभाग के अभियान को सोमवार को बड़ी सफलता मिली। टीम ने जयपुर और कोटा में कार्रवाई की। जिसमें जयपुर में तो बड़ी मात्रा में मिलावटी मावा व दूध पकड़ा गया है। यहां मिल्क पाउडर ( Milk Powder ) और वनस्पति तेल से मावा तैयार किया जा रहा था। वहीं कोटा में मिलावटी मावे से बना बड़ी मात्रा में मिल्क केक जब्त किया है। गौरतलब है कि चिकित्सा विभाग ( medical department ) ने रक्षाबंधन के त्योहार पर खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने के लिए अभियान शुरू किया है। जिसके तहत सीएमएचओ प्रथम डॉ. नरोत्तम शर्मा के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम ने तड़के चार बजे चौमूं के अणतपुरा गांव में गोपाल कृष्ण दूध मावा भंडार पर कार्रवाई की। डॉ. शर्मा ने बताया कि यहां मिल्क पाउडर और वनस्पति तेल से मावा बनाया जा रहा था। टीम की कार्रवाई से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। क्षेत्र की कई मावा भट्टियां बंद हो गई। मौके पर वनस्पति तेल और मिल्क पाउडर से मिलावटी मावा तैयार किया जा रहा था। टीम ने यहां से आज का आर्डर तैयार करने के लिए 40 पैकेट एक-एक किलो के मिल्क पाउडर और 20 पैकेट वनस्पति तेल के जŽब्त किए। टीम ने यहां पर लगभग 250 किलो तैयार मिलावटी मावा और 300 लीटर मिलावटी दूध पकड़ा है। इसे नष्ट करवाया जा रहा है। फर्म का मालिक रोशन लाल शर्मा मौके पर मौजूद था। खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के तहत फर्म पर कार्रवाई की गई है। वहीं कोटा के रंगबाड़ी इलाके से नकली मावा का कारखाना पकड़ा है। यहां बड़ी मात्रा में मिलावटी मावे से बना मिल्क केक ( Milk Cake ) जब्त किया गया है। गौरतलब है कि त्यौहारी सीजन में बाजार में भारी मात्रा में मिलावटी मावा आता है। जयपुर सहित विभिन्न् जिलों में मिलावटी मावे की सप्लाई काफी बढ़ जाती है। इसी को देखते हुए चिकित्सा विभाग विशेषकर त्योहार पर खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने के लिए अभियान चालाता है।
news news news