पूर्व नरेश के निधन पर हुआ पाग का दस्तुर,  भाणेज जयसिंह बने शाहपुरा नरेश के उत्तराधिकारी

पूर्व नरेश के निधन पर हुआ पाग का दस्तुर, भाणेज जयसिंह बने शाहपुरा नरेश के उत्तराधिकारी

  2020-05-23 09:23 pm

शाहपुरा-(मूलचन्द पेसवानी)
शाहपुरा रियायत के अंतिम नरेश इन्द्रजीत देव के गत दिनों निधन उपरांत शनिवार को रेतियाबाग पैलेस में आयोजित सादे समारोह में उनका पाग दस्तुर यानि गदीनशीं कार्यक्रम राजपरिवार व रियासत से जुड़े लोगों की मौजूदगी में हुआ। कार्यक्रम में परंपरागत तरीके से अंतिम नरेश के उत्तराधिकारी उनके भाणेज जयसिंह को घोषित करते हुए उनकी गदीनशीं की गईं। कोराना संक्रमण के कारण केवल 20 लोगों की मोजूदगी में ही रस्मों को संपन्न कराया गया।
बनेड़ा राजाधिकारी व पूर्व सांसद हेमेंद्र सिंह व भाणेज शत्रुजीतसिंह की मौजूदगी में हुए समारोह में वैदिक मंत्रोचार के साथ पाग का दस्तुर किया गया तथा जयसिंह को पगड़ी पहना कर उपस्थित लोगों ने नजराना पेश किया। इस दौरान पूर्व सांसद हेमेंद्र सिंह ने कहा शाहपुरा राजपरिवार की सेवाएं सराहनी रही है। अब भी उसी गरीमा से कार्य होगें। उन्होंने कहा कि भाणेज जयसिंह ने आज अपनी गौत्र परिवर्तित करने के बाद यहां की पाग धारण की है। भाणेज जयसिंह ने कहा कि शाहपुरा रियासत क्षेत्र के सर्वागिंण विकास के लिए वो शाहपुरा की परंपराओं का निर्वहन करते हुए यहां के विकास के लिए सदैव तैयार रहेगें तथा नरेश इन्द्रजीत देव की स्मृति में शीघ्र ही यहां के चिकित्सालय सहित अन्य विकास कार्य कराये जायेगें। 
आज कार्यक्रम में मेजर जनरल महावीर सिंह, पूर्व विधायक पराक्रमसिंह, खामोर, धनोप, तहनाल, बलांड, देवगढ़, जोधपुर सहित राजपरिवार के सदस्य, उमराव मौजूद रहे। उल्लेखनीय है कि 12 मई को शाहपुरा रियायत के अंतिम नरेश इन्द्रजीत देव का लंबी बिमारी के बाद मंगलवार को निधन हो गया। वो 85 वर्ष के थे। शाहपुरा रियासत का आजादी आंदोलन में खुब सहयोग रहा। यहां 14 अगस्त 1947 को ही राजपरिवार ने जनता को अपना शासन सौंप कर यहां स्वतंत्र सरकार का गठन कर दिया था।

news news news news news news news news