पेट्रोल डीज़ल व बढ़ती महंगाई के विरोध में कांग्रेस ने प्रदर्शन कर एसडीएम को दिया ज्ञापन

पेट्रोल डीज़ल व बढ़ती महंगाई के विरोध में कांग्रेस ने प्रदर्शन कर एसडीएम को दिया ज्ञापन

  2020-06-30 07:01 pm

 राजसमन्द ( राव दिलीप सिंह)अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आव्हान पर प्रदेश कांग्रेस कमैटी व जिला कांग्रेस कमैटी  के निर्देश पर आमेट उपखण्ड मुख्यालय पर मंगलवार को आमेट ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश पारीक  के नेतृत्व में बढ़ते पेट्रोल डीज़ल व बढ़ती मंहगाई के विरोध में एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन कर राष्ट्रपति के नाम  लिखा एक ज्ञापन उपखण्ड अधिकारी डॉ. नवनीत कुमार को दिया और केंद्र की नीतियों पर जमकर नारेबाजी व विरोध प्रदर्शन किया ।

 इस अवसर पर ब्लॉक अध्यक्ष ने केंद्र की भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि लॉक डाउन के पिछले तीन माह के दौरान पेट्रोल डीज़ल पर लगने वाले केंद्रीय उत्पाद शुल्क और कीमतों में बार बार की गई अनुचित बढ़ोतरी ने जनता को असीम परेशानीया दी है जहाँ एक तरफ देश स्वास्थ्य व आर्थिक महामारी से लड़ रहा है वही दूसरी और मोदी सरकार पेट्रोल डीज़ल की कीमतों को बढ़ा कर इस मुश्किल वक़्त में मुनाफाखोरी कर रही है। साथ ही पारीक ने कहा ये केंद्र सरकार पूरी तरह फैल सरकार है हर मोर्चे पर फेल हो गई आज महगाई और पेट्रोल डीज़ल के दाम आसमान छू रहे है और ये मोदी सरकार गहरी नींद में सो रही है । डीज़ल के दाम पेट्रोल से ज्यादा हो गए है । मोदी सरकार प्रतिदिन पेट्रोल डीज़ल के दामो में बेतहाशा वृद्धि कर रही है जिससे गरीब की कमर टूट गई है । तथा नगर पालिका अध्यक्ष कैलाश मेवाड़ा ने  केंद्र सरकार पर आक्रोश जताते हुए कहा कि बढ़े पेट्रोल डीज़ल के भाव से हर चीज़ के भाव बाजार में बढ़ गए है ।जब भाजपा ने सरकार संभाली तब पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 9.20 रु प्रति लीटर और डीज़ल पर 3.46 रु प्रति लीटर था ।पिछले छ सालों में मोदी सरकार ने पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 23.78 रुपये व डीज़ल पर 28.37 रुपये प्रति लीटर की अतिरिक्त बढ़ोतरी कर दी। चौकाने वाली बात यह है कि मोदी सरकार ने डीज़ल पर उत्पाद शुल्क में 820 प्रतिशत व पेट्रोल के उत्पाद शुल्क पर 258 प्रतिशत वृद्धि की गई और इस वृद्धि से मोदी सरकार ने 1800000 करोड़ रुपये जमा किये । पिछले साढ़े तीन माह में भाजपा सरकार ने डीज़ल पर मूल्य और उत्पाद शुल्क 26.48 रुपये प्रति लीटर व पेट्रोल पर 21.50 रुपये प्रति लीटर बढ़ा दिए है एक सरकार द्वारा देश के नागरिकों का इससे ज्यादा शोषण और क्या हो सकता है। जनता से छल करने और गाढ़ी कमाई की जबरन वसूली का अंदाजा इस बात से लग जाता है कि पिछले कुछ महीनों में कच्चे तेल के भाव कम हुए है। साथ ही कांग्रेस कमैटी ने मांग करते हुए कहा कि 5 मार्च के बाद पेट्रोल डीज़ल के दामो एवम उत्पाद शुल्क में की गई बढ़ोतरी को तत्काल प्रभाव से वापिस लेवे ।और इस मुश्किल समय मे जनता को फायदा पहुचाये । इस अवसर पर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुरेश पारीक,नगर अध्यक्ष शब्बीर बोहरा , नगर पालिका अध्यक्ष कैलाश मेवाड़ा, उपाध्यक्ष मीरू खां मंसूरी, कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष सराफत हुसैन फौजदार,पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष रामलाल गुर्जर, पूर्व प्रतिपक्ष नेता प्रदीपसिंह राठौड,सुरेश टेलर,रत्नेश आमेटा, ताहीर शोरघर,हिम्मत खटीक,रमेश साहूं,गायड सिंह राठौड़,रोशन लाल साहूं, पार्षद प्रमोद शर्मा,सुरेश सिंह खिंची, प्रकाश खटीक,हिम्मत खटीक,पंकज टेलर,मुकेश रेगर,मनोज बुनकर, शांतिलाल सोनी,प्रकाश सेन आदी बडी संख्या मे कार्यकत्ता उपस्थित थे ।

news news news news news news news news