प्रथम बरसी पर नवकार मंत्र, लोगस पाठ, मौन रख शहीदाेें को दी श्रद्धांजलि‍

प्रथम बरसी पर नवकार मंत्र, लोगस पाठ, मौन रख शहीदाेें को दी श्रद्धांजलि‍

  2020-02-14 06:55 pm

भीलवाड़ा (हलचल)। 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे के रूप में ना मनाकर हमें बलिदान दिवस के रूप में याद करना चाहिए क्योंकि इस दिन जम्मू कश्मीर पुलवामा अटैक हमने अपने देश के 44 वीर सपूत खोए थे. यह विचार शांति जैन महिला मंडल की अध्यक्षा बसंता ड़ागी ने टीबी हॉस्पिटल में जरूरतमंदों को फल वितरण के पश्चात पुलवामा हमले की प्रथम बरसी पर मण्डल द्वारा आयोजित नवकार महामंत्र एव लोगस पाठ  के बाद व्यक्त किए। महिला मंडल की मंत्री कनकावती चंडालिया ने बताया कि इस दौरान उपस्थित सभी पदाधिकारियों एवं सदस्याओ  द्वारा 2 मिनट का मौन भी रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की। कार्यक्रम के दौरान स्नेहलता धारीवाल, मधु जैन, नीतू चोरडिया, प्रतिभा  बडोला, प्रमिला सूर्या, अलका बम्ब, विमला सिसोदिया, ज्ञान देवी बुरड,  लता सिसोदिया, कमला चौधरी, सरिता जैन, गरिमा जैन, सुरेखा पीपाड़ा आदि उपस्थित थी।

news news news news news news news news