फूल गोभी की सब्‍जी तकरीबन हर किसी की फेवरेट सब्‍जी की ल‍िस्‍ट में जरुर होती हैं। सब्‍जी बनाने से लेकर पराठे और पकौड़े बनाने तक में इसका इस्‍तेमाल होता है। इसके अलावा भी कई ऐसे व्‍यंजन होते हैं जिनमें फूल गोभी का स्‍थान खास होता है। फूलगोभी में कैल्शियम, फास्फोरस, प्रोटीन, कार्बोडाइड्रेट और लौह तत्व के अलावा विटामिन ए, बी, सी, आयोडीन और पोटैशियम और थोड़ी सी मात्रा में तांबा भी मौजूद होता है। गोभी में एंटी ऑक्सीडेंट्स भी मौजूद होते हैं जो शरीर के लिए लाभदायक होते हैं। गोभी में कैल्शियम की मात्रा भी काफी होती है। लेकिन कुछ लोगों को सेहत के वजह से गोभी खाने से बचना चाह‍िए, आइए जानते है क‍ि क‍िन लोगों को गोभी खाने से बचना चाह‍िए।थाइराइड के मरीज न खाएं यदि आप थाइराइड की समस्या है तो फूलगोभी का बिलकुल इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। इससे आपका T3, T4 हार्मोन बढ़ सकता है। किडनी स्‍टोन की हो सकती है समस्‍या गोभी का सेवन उन लोगों के लिए भी खतरनाक है जिनके गाल ब्लैडर या किडनी में स्टोन है इससे समस्या और तेजी से बढ़ेगा। क्योंकि गोभी में कैल्शियम ज्यादा मात्रा में होता है। इसी के साथ यदि आपका यूरिक एसिड बढ़ा हुआ है तो गोभी का सेवन बिलकुल न करें। क्योंकि इससे आपका यूरिक एसिड और बढ़ जाएगा। इसी वजह ये है कि इसमें प्यूरिन होता है।

 गैस की समस्या फूल गोभी में कार्ब्स होते हैं, जो आसानी से नहीं टूटते। इसलिए, फूल गोभी के अत्यधिक सेवन से गैस की समस्या हो सकती है

रक्त के थक्के जमने की समस्‍या विटामिन-के रक्त के थक्के को जमाता है और फूल गोभी में विटामिन-के पर्याप्त मात्रा होता है। इसलिए, जो खून को गाढ़ा करने की दवा खा रहे हों, उन्हें डॉक्टर की सलाह पर ही फूल गोभी का सेवन करना चाहिए।

   स्तनपान कराने वाली माएं नहीं खाएं जो महिलाएं अपने शिशु को स्तनपान करवा रही हैं, उन्हें फूल गोभी जैसे गैस बनाने वाले खाद्य पदार्थों से दूर रहना चाहिए।

इन चीजों के लिए गोभी है फायदेमंद यदि आपको पेट की समस्या है तो गोभी के एक हिस्से को तोड़कर चावल के पानी में दस मिनट तक पका ले, जब ये अधापका हो जाए तो इसको काले नमक के साथ इसका सेवन करें। यदि गठिया की समस्या से परेशान हैं या आपके शरीर में हड्डियों में दर्द है तो आप गोभी और गाजर का रस बराबर मात्रा में मिलाकर पीएं। ऐसा दो महीने तक करने से इस समस्या से आपको छुटकारा मिल जाएगा। इसी के साथ गोभी वजन कम करने में भी लाभदायक होती है। इसका सेवन करने से आपका वजन कम होगा। गोभी में विटामिन c की भरपूर मात्रा होती है। जोकि चर्बी कम करने में लाभदायक होती है।

 

" />
भूल से भी ये लोग न खाएं फूल गोभी की सब्‍जी, वरना होगा ये परिणाम

भूल से भी ये लोग न खाएं फूल गोभी की सब्‍जी, वरना होगा ये परिणाम

Sat 19 Oct 19  8:28 am


फूल गोभी की सब्‍जी तकरीबन हर किसी की फेवरेट सब्‍जी की ल‍िस्‍ट में जरुर होती हैं। सब्‍जी बनाने से लेकर पराठे और पकौड़े बनाने तक में इसका इस्‍तेमाल होता है। इसके अलावा भी कई ऐसे व्‍यंजन होते हैं जिनमें फूल गोभी का स्‍थान खास होता है। फूलगोभी में कैल्शियम, फास्फोरस, प्रोटीन, कार्बोडाइड्रेट और लौह तत्व के अलावा विटामिन ए, बी, सी, आयोडीन और पोटैशियम और थोड़ी सी मात्रा में तांबा भी मौजूद होता है। गोभी में एंटी ऑक्सीडेंट्स भी मौजूद होते हैं जो शरीर के लिए लाभदायक होते हैं। गोभी में कैल्शियम की मात्रा भी काफी होती है। लेकिन कुछ लोगों को सेहत के वजह से गोभी खाने से बचना चाह‍िए, आइए जानते है क‍ि क‍िन लोगों को गोभी खाने से बचना चाह‍िए।थाइराइड के मरीज न खाएं यदि आप थाइराइड की समस्या है तो फूलगोभी का बिलकुल इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। इससे आपका T3, T4 हार्मोन बढ़ सकता है। किडनी स्‍टोन की हो सकती है समस्‍या गोभी का सेवन उन लोगों के लिए भी खतरनाक है जिनके गाल ब्लैडर या किडनी में स्टोन है इससे समस्या और तेजी से बढ़ेगा। क्योंकि गोभी में कैल्शियम ज्यादा मात्रा में होता है। इसी के साथ यदि आपका यूरिक एसिड बढ़ा हुआ है तो गोभी का सेवन बिलकुल न करें। क्योंकि इससे आपका यूरिक एसिड और बढ़ जाएगा। इसी वजह ये है कि इसमें प्यूरिन होता है।

 गैस की समस्या फूल गोभी में कार्ब्स होते हैं, जो आसानी से नहीं टूटते। इसलिए, फूल गोभी के अत्यधिक सेवन से गैस की समस्या हो सकती है

रक्त के थक्के जमने की समस्‍या विटामिन-के रक्त के थक्के को जमाता है और फूल गोभी में विटामिन-के पर्याप्त मात्रा होता है। इसलिए, जो खून को गाढ़ा करने की दवा खा रहे हों, उन्हें डॉक्टर की सलाह पर ही फूल गोभी का सेवन करना चाहिए।

   स्तनपान कराने वाली माएं नहीं खाएं जो महिलाएं अपने शिशु को स्तनपान करवा रही हैं, उन्हें फूल गोभी जैसे गैस बनाने वाले खाद्य पदार्थों से दूर रहना चाहिए।

इन चीजों के लिए गोभी है फायदेमंद यदि आपको पेट की समस्या है तो गोभी के एक हिस्से को तोड़कर चावल के पानी में दस मिनट तक पका ले, जब ये अधापका हो जाए तो इसको काले नमक के साथ इसका सेवन करें। यदि गठिया की समस्या से परेशान हैं या आपके शरीर में हड्डियों में दर्द है तो आप गोभी और गाजर का रस बराबर मात्रा में मिलाकर पीएं। ऐसा दो महीने तक करने से इस समस्या से आपको छुटकारा मिल जाएगा। इसी के साथ गोभी वजन कम करने में भी लाभदायक होती है। इसका सेवन करने से आपका वजन कम होगा। गोभी में विटामिन c की भरपूर मात्रा होती है। जोकि चर्बी कम करने में लाभदायक होती है।

 

news news news