यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेलवे उड़ा रहा ड्रोन, संदिग्धों पर रख रहा नजर

यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेलवे उड़ा रहा ड्रोन, संदिग्धों पर रख रहा नजर

Mon 07 Oct 19  3:32 pm


 रायपुर । जैश ए मोहम्मद ने दुर्ग रेलवे स्टेशन को आठ अक्टूबर को उड़ा देने की धमकी दी है। आठ अक्टूबर को ही दशहरा है, इसलिए स्टेशन पर यात्रियों की संख्या में इजाफा हो जाता है, इसलिए यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेलवे दुर्ग समेत रायपुर रेलवे स्टेशन को हाई एलर्ट घोषित कर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। रविवार से आरपीएफ स्टेशन पर ड्रोन कैमरे से स्टेशन के सभी इलाकों में संदिग्धों पर नजर रखेगी। इसके साथ ही स्टेशन में शादी वर्दी और यूनिफार्म पर आरपीएफ और जीआरपी के जवान लगातार नजर रख रहे हैं। रेलवे के सुरक्षा अधिकारी का कहना है कि यात्रियों की सुरक्षा सर्वोपरि है, हमारे जवान स्टेशन के चप्पे-चप्पे पर नजर रख रहे हैं।

ज्ञात हो कि रायपुर रेलवे स्टेशन में एक दिन में करीब ७० हजार यात्री सफर करते हैं। त्योहारी सीजन में यात्रियों की संख्या में इजाफा हो जाता है। रायपुर स्टेशन में यात्रियों की सुरक्षा के लिए इंटीग्रेटेड सिक्योरिटी सिस्टम लगाया गया है। दिवाली, दशहरा और छठ पूजा के दौरान स्टेशन में यात्रियों की संख्या आम दिनों की तुलना १० गुना तक बढ़ जाती है। इसलिए रेलवे अब एक दिन में करीब आठ तक घंटे ड्रोन उडाएगा और भीड़ की रिकार्डिंग करेगा।

मिली जानकारी के मुताबिक प्लेटफॉर्म नंबर एक से छह के साथ पूरे स्टेशन परिसर में ड्रोन से नजर रखी जाएगी। स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर नौ फीट तथा स्टेशन परिसर के बाहर करीब ४०- से ५० मीटर के ऊपर से स्टेशन पर आने जाने वालों पर नजर रखी जा रही है। स्टेशन के सभी हिस्से में ड्रोन उड़ेगा और आरपीएफ की एक टीम सुरक्षा इंतजाम की मॉनिटरिंग करेगी, क्योंकि भीड़ का फायदा उठाकर असामाजिक तत्व यात्रियों का सामान पार कर देते हैं। इस दौरान पॉकेटमारों की संख्या में भी इजाफा हो जाता है।

हर साल यात्रियों की संख्या में हो रहा इजाफा

स्टेशन से सफर करने वाले यात्रियों की संख्या में साल दर साल बढ़ोतरी हो रही है। मंडल से मिली जानकारी के मुताबिक रायपुर स्टेशन में प्रत्येक वर्ष करीब २५ से ३० फीसदी तक यात्री बढ़ रहे हैं। पीक सीजन में यह आंकड़ा ३५ तक पहुंच जाता है। इतना ही नहीं रक्षाबंधन, नवरात्रि, दिवाली, छठ पूजा और होली जैसे त्योहार में यात्रियों की इतनी संख्या बढ़ जाती है कि स्टेशन परिसर भी छोटा पड़ने लगता है।

चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे की रहेगी नजर

रायपुर रेलवे स्टेशन पर में वर्तमान में ७६ प्वाइंटों पर सीसीटीवी लगाए गए हैं। आरपीएफ की टीम कंट्रोल रूम से लगातार स्टेशन से आने और जाने वालों पर नजर रख रही है। लेकिन सुरक्षा में किसी प्रकार की चूक न, हो इसके लिए ड्रोन से भी नजर रखनी शुरू कर दी गई है। स्टेशन पर ड्रोन ०५ से ०८ अक्टूबर और २५ अक्टूबर से एक नवंबर तक ड्रोन से नजर रखी जाएगी। रविवार को आउटर में छह किन्नर ट्रेन में चढ़ने वाले थे कि ड्रोन से आरपीएफ को पता चल गया और आरपीएफ ने तुरंत किन्नरों को पकड़कर उनके खिलाफ कार्रवाई की है।

गुढ़ियारी की तरफ भी रख रहे नजर

रायपुर रेलवे स्टेशन के गुढ़ियारी साइड और फाफाडीह की सड़क तक संदिग्धों पर नजर रखी जा रही है। स्टेशन के एटीएम से लेकर एस्कलेटर तक लोहे के बेरिकेड लगा दिए गए हैं। वहीं दूसरी तरफ किसी भी भिक्षावृत्ति करने वालों को स्टेशन परिसर के आस-पास फटकने नहीं दिया जा रहा है। इसके साथ ही प्लेटफार्म के अंदर जाने वाले यात्रियों के लगेज जांच के लिए स्कैनर लगा दिया गया है, लगेज जांच के बाद ही स्टेशन परिसर में यात्रियों को प्रवेश दिया जा रहा है।

जैश ए मोहम्मद का पत्र और त्योहारी सीजन को देखते हुए दुर्ग और रायपुर रेलवे स्टेशन में सिक्योरिटी बढ़ा दी गई है। आज से रायपुर स्टेशन में ड्रोन से नजर रखी जा रही है। - अनुराग मीणा, कमांडेंट, रायपुर रेलवे मंडल

news news news