जाजू ने कहा कि रणथंभोर की बागडोर वन्यजीव अधिकारियों के बजाय होटल लॉबी संभाल रही है। जाजू ने आगे बताया कि आए दिन शिकार की घटनाओं से यह सिद्ध हो चुका है कि बाघों की सुरक्षा व्यवस्था कमजोर है, अत्यधिक आधुनिक संसाधन होने के बावजूद शिकार हो रहे हैं। जाजू ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व टाइगर प्रोजेक्ट के बड़े अधिकारियों से 26 बाघों के लापता होने व हो रहे शिकार की उच्चस्तरीय जांच की मांग करते हुए लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। जाजू ने बाघों की सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने व वन्यजीव शिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की भी मांग की है। जाजू ने चेताया है कि यदि शिकारियों के खिलाफ कार्यवाही नही हुई तो बाघो की सुरक्षा के लिए जाजू नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल का दरवाजा खटखटाएंगे।

" />

जाजू ने कहा कि रणथंभोर की बागडोर वन्यजीव अधिकारियों के बजाय होटल लॉबी संभाल रही है। जाजू ने आगे बताया कि आए दिन शिकार की घटनाओं से यह सिद्ध हो चुका है कि बाघों की सुरक्षा व्यवस्था कमजोर है, अत्यधिक आधुनिक संसाधन होने के बावजूद शिकार हो रहे हैं। जाजू ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व टाइगर प्रोजेक्ट के बड़े अधिकारियों से 26 बाघों के लापता होने व हो रहे शिकार की उच्चस्तरीय जांच की मांग करते हुए लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। जाजू ने बाघों की सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने व वन्यजीव शिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की भी मांग की है। जाजू ने चेताया है कि यदि शिकारियों के खिलाफ कार्यवाही नही हुई तो बाघो की सुरक्षा के लिए जाजू नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल का दरवाजा खटखटाएंगे।

">
रणथंभौर में बाघों की सुरक्षा पर कम, पर्यटन पर ज्यादा ध्यान- जाजू

रणथंभौर में बाघों की सुरक्षा पर कम, पर्यटन पर ज्यादा ध्यान- जाजू

  2020-02-14 07:28 pm

भीलवाड़ा (हलचल)। बाघों के लिए प्रख्यात रणथंबोर नेशनल पार्क के जिम्मेदार अधिकारी बाघों की सुरक्षा व्यवस्था पर कम एवं पर्यटन बढ़ाने पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं। पीपल फॉर एनिमल्स के प्रदेश प्रभारी बाबूलाल जाजू ने वन विभाग पर आरोप लगाते हुए कहा कि 26 बाघ जो काफी समय से लापता है उन बाघो में से ज्यादातर का शिकार हो चुका है। 

जाजू ने कहा कि रणथंभोर की बागडोर वन्यजीव अधिकारियों के बजाय होटल लॉबी संभाल रही है। जाजू ने आगे बताया कि आए दिन शिकार की घटनाओं से यह सिद्ध हो चुका है कि बाघों की सुरक्षा व्यवस्था कमजोर है, अत्यधिक आधुनिक संसाधन होने के बावजूद शिकार हो रहे हैं। जाजू ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व टाइगर प्रोजेक्ट के बड़े अधिकारियों से 26 बाघों के लापता होने व हो रहे शिकार की उच्चस्तरीय जांच की मांग करते हुए लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। जाजू ने बाघों की सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने व वन्यजीव शिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की भी मांग की है। जाजू ने चेताया है कि यदि शिकारियों के खिलाफ कार्यवाही नही हुई तो बाघो की सुरक्षा के लिए जाजू नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल का दरवाजा खटखटाएंगे।

news news news news news news news news