जयपुर,। केन्द्रीय औधोगिक सुरक्षा बल के भिलाई, छत्तीसगढ स्थित प्रशिक्षण केन्द्र में सोमवार को प्रातः 8 बजे महानिदेशक पुलिस श्री भूपेन्द्र सिंह के मुख्य आतिथ्य में राजस्थान पुलिस के 912 कॉन्स्टेबल की दीक्षान्त परेड सम्पन्न हुई। इनमें जयपुर आयुक्तालय के 843 व झुन्झुनु पुलिस के 69 आरक्षी शामिल है।
 
श्री सिंह ने परेड की सलामी ली और श्रेष्ठ प्रशिक्षुओ को सम्मानित किया। सर्वश्रेष्ठ निशानेबाज का पुरस्कार कॉन्स्टेबल श्री अंकित कुमावत को प्रदान किया गया। इंडोर बेस्ट का पुरस्कार कॉन्स्टेबल श्री रतीराम यादव को मिला। पीटी बेस्ट का पुरस्कार श्री मनीष कुमार को मिला। ड्रिल में श्री सूरज मीना व आउट डोर में श्री देवकरण गुर्जर अब्वल रहे। ऑल राउन्ड बेस्ट का पुरस्कार श्री सुरेन्द्र कुमार बंशीवाल को प्रदान किया गया।
 
महानिदेशक पुलिस श्री सिंह ने प्रशिक्षण पूर्ण होने पर प्रशिक्षुओं को हार्दिक बधाई दी एवं उत्कृष्ट परेड के लिए प्रशिक्षुओ व उनके उस्तादों की सराहना की। उन्होंने अपने उदबोधन में कहा कि सीआईएसएफ ने अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप नव आरक्षीगणों को उच्च कोटी का प्रशिक्षण दिया है। 
 
श्री सिंह ने कहा कि पुलिस के सिपाही विभाग की नींव होते है और नींव से ही ईमारत मजबूत होती है। राजस्थान पुलिस के गौरवशाली इतिहास का स्मरण करते हुए उन्होंने जवानों से बिना किसी भय, प्रलोभन और भेदभाव के साथ जन सेवा करने का आह्वान किया। 
 
महानिदेशक पुलिस ने कॉन्स्टेबल को आदर्श जनसेवी पुलिस कर्मी के रूप में सेवा के लिए कटिबद्ध होकर निर्बल का संबल बनने का आव्हान किया। उन्होंने आमजन में विश्वास और अपराधियों में भय के अनुरूप आचरण करने की आवश्यकता प्रतिपादित की व प्रशिक्षण के महत्व पर प्रकाश डाला। 
 
आरटीसी, भिलाई के उप महानिरीक्षक श्री उत्तम कुमार सरकार ने अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षुओ को पुलिस कर्तव्यों के साथ ही नवाचारों व आधुनिक पुलिसिंग के बारे में सघन प्रशिक्षण प्रदान किया गया। उन्होंने प्रशिक्षुओ को कर्तव्य निष्ठा की शपथ दिलाई। 
 
केन्द्र के सीनियर कमाण्डेन्ट श्री अमित माथुर ने धन्यवाद ज्ञापित किया व जयपुर आयुक्तालय के नव आरक्षी कॉन्स्टेबल श्री देवकरण गुर्जर ने दीक्षान्त परेड का नेतृत्व किया। 
" />
राजस्थान पुलिस के 912 कॉन्स्टेबल का दीक्षान्त परेड समारोह सम्पन्न

राजस्थान पुलिस के 912 कॉन्स्टेबल का दीक्षान्त परेड समारोह सम्पन्न

Tue 05 Nov 19  5:47 pm


 
जयपुर,। केन्द्रीय औधोगिक सुरक्षा बल के भिलाई, छत्तीसगढ स्थित प्रशिक्षण केन्द्र में सोमवार को प्रातः 8 बजे महानिदेशक पुलिस श्री भूपेन्द्र सिंह के मुख्य आतिथ्य में राजस्थान पुलिस के 912 कॉन्स्टेबल की दीक्षान्त परेड सम्पन्न हुई। इनमें जयपुर आयुक्तालय के 843 व झुन्झुनु पुलिस के 69 आरक्षी शामिल है।
 
श्री सिंह ने परेड की सलामी ली और श्रेष्ठ प्रशिक्षुओ को सम्मानित किया। सर्वश्रेष्ठ निशानेबाज का पुरस्कार कॉन्स्टेबल श्री अंकित कुमावत को प्रदान किया गया। इंडोर बेस्ट का पुरस्कार कॉन्स्टेबल श्री रतीराम यादव को मिला। पीटी बेस्ट का पुरस्कार श्री मनीष कुमार को मिला। ड्रिल में श्री सूरज मीना व आउट डोर में श्री देवकरण गुर्जर अब्वल रहे। ऑल राउन्ड बेस्ट का पुरस्कार श्री सुरेन्द्र कुमार बंशीवाल को प्रदान किया गया।
 
महानिदेशक पुलिस श्री सिंह ने प्रशिक्षण पूर्ण होने पर प्रशिक्षुओं को हार्दिक बधाई दी एवं उत्कृष्ट परेड के लिए प्रशिक्षुओ व उनके उस्तादों की सराहना की। उन्होंने अपने उदबोधन में कहा कि सीआईएसएफ ने अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप नव आरक्षीगणों को उच्च कोटी का प्रशिक्षण दिया है। 
 
श्री सिंह ने कहा कि पुलिस के सिपाही विभाग की नींव होते है और नींव से ही ईमारत मजबूत होती है। राजस्थान पुलिस के गौरवशाली इतिहास का स्मरण करते हुए उन्होंने जवानों से बिना किसी भय, प्रलोभन और भेदभाव के साथ जन सेवा करने का आह्वान किया। 
 
महानिदेशक पुलिस ने कॉन्स्टेबल को आदर्श जनसेवी पुलिस कर्मी के रूप में सेवा के लिए कटिबद्ध होकर निर्बल का संबल बनने का आव्हान किया। उन्होंने आमजन में विश्वास और अपराधियों में भय के अनुरूप आचरण करने की आवश्यकता प्रतिपादित की व प्रशिक्षण के महत्व पर प्रकाश डाला। 
 
आरटीसी, भिलाई के उप महानिरीक्षक श्री उत्तम कुमार सरकार ने अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षुओ को पुलिस कर्तव्यों के साथ ही नवाचारों व आधुनिक पुलिसिंग के बारे में सघन प्रशिक्षण प्रदान किया गया। उन्होंने प्रशिक्षुओ को कर्तव्य निष्ठा की शपथ दिलाई। 
 
केन्द्र के सीनियर कमाण्डेन्ट श्री अमित माथुर ने धन्यवाद ज्ञापित किया व जयपुर आयुक्तालय के नव आरक्षी कॉन्स्टेबल श्री देवकरण गुर्जर ने दीक्षान्त परेड का नेतृत्व किया। 
news news news