7 दिसंबर 2016 को भी हुआ था बड़ा विमान हादसा

फुटेज में दुर्घटनास्थल से धुएं के गुबार उठते दिखाई दिए। निवासियों की मदद के लिए एंबुलेंस और बचाव अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के एक बयान में कहा गया कि सेना की त्वरित प्रतिक्रिया बल और सिंध पाकिस्तान रेंजर्स नागरिक प्रशासन के साथ राहत और बचाव के प्रयासों के लिए साइट पर पहुंच गए हैं। डान अखबार के मुताबिक पाकिस्तान के स्वास्थ्य एवं जनसंख्या कल्याण मंत्री ने कराची के अस्पतालों में आपात स्थिति लागू कर दी है। पाकिस्तान में इससे पहले 7 दिसंबर 2016 को विमान हादसा हुआ था। चितराल से इस्लामाबाद आते हुए पीआइए का विमान एटीआर-42 पहाडि़यों पर ध्वस्त हो गया था। उस हादसे में 48 लोगों की मौत हुई थी।

बैंकर जफर महमूद की जान बची

उड़ान पीके 8303 हादसे में कम से कम एक यात्री के बचने की खबर आई है। बैंक आफ पंजाब के अध्यक्ष जफर महमूद की जान बच गई है। सिंध के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली है। उन्होंने बताया कि जफर ने अपनी मां को फोन पर अपनी सलामती की इत्तिला दे दी है। यह जानकारी राज्य सरकार के प्रवक्ता अब्दुर राशिद चन्ना ने दी है।

" />

7 दिसंबर 2016 को भी हुआ था बड़ा विमान हादसा

फुटेज में दुर्घटनास्थल से धुएं के गुबार उठते दिखाई दिए। निवासियों की मदद के लिए एंबुलेंस और बचाव अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के एक बयान में कहा गया कि सेना की त्वरित प्रतिक्रिया बल और सिंध पाकिस्तान रेंजर्स नागरिक प्रशासन के साथ राहत और बचाव के प्रयासों के लिए साइट पर पहुंच गए हैं। डान अखबार के मुताबिक पाकिस्तान के स्वास्थ्य एवं जनसंख्या कल्याण मंत्री ने कराची के अस्पतालों में आपात स्थिति लागू कर दी है। पाकिस्तान में इससे पहले 7 दिसंबर 2016 को विमान हादसा हुआ था। चितराल से इस्लामाबाद आते हुए पीआइए का विमान एटीआर-42 पहाडि़यों पर ध्वस्त हो गया था। उस हादसे में 48 लोगों की मौत हुई थी।

बैंकर जफर महमूद की जान बची

उड़ान पीके 8303 हादसे में कम से कम एक यात्री के बचने की खबर आई है। बैंक आफ पंजाब के अध्यक्ष जफर महमूद की जान बच गई है। सिंध के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली है। उन्होंने बताया कि जफर ने अपनी मां को फोन पर अपनी सलामती की इत्तिला दे दी है। यह जानकारी राज्य सरकार के प्रवक्ता अब्दुर राशिद चन्ना ने दी है।

">

रिहाइशी इलाके पर गिरा विमान, अधिक संख्या में हुईं मौतें

  2020-05-23 01:20 am

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस का एक विमान शुक्रवार को कराची एयरपोर्ट पर लैंडिंग करने से कुछ मिनट पहले दुर्घटनाग्रस्त होकर घने रिहायशी इलाके में जा गिरा। विमान में 91 यात्री और आठ क्रू मेंबर समेत कुल 99 लोग सवार थे। दो यात्रियों को छोड़कर सभी यात्रियों के मारे जाने की आशंका है। अब तक करीब 66 शव अस्पतालों में पहुंचाए जा चुके हैं। विमान गिरने से बस्ती के दर्जनों घरों व वाहनों में आग लग गई। सेना, पुलिस और फायर ब्रिगेड के लोग शवों की तलाश में जुटे हुए है। इन घरों के कई लोगों के हताहत होने की आंशका है। ईद से पहले हुए इस हादसे से कई घरों में मातम छा गया है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दुर्घटना पर गहरा अफसोस जताया है।

लॉकडाउन के चलते पाकिस्तान में अभी करीब एक हफ्ते पहले ही विमान परिचालन को छूट मिली है। पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआइए) के प्रवक्ता अब्दुल्ला हाफिज ने बताया कि पीके-8303 फ्लाइट 91 यात्री और आठ क्रू मेंबर के साथ लाहौर से कराची आ रही थी। करीब 15 साल पुराने एयरबस ए 320 विमान को कैप्टन सज्जाद गुल उड़ा रहे थे। यात्रियों में 31 महिलाएं और 9 बच्चे भी थे। प्रवक्ता के अनुसार पायलट ने 2.37 (स्थानीय समय) पर लैंडिंग में दिक्कत की बात एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) को बताई थी।

लैंडिंग के लिए दोनों रनवे खाली थे

एयरपोर्ट के सूत्रों ने बताया कि कराची एयरपोर्ट के दोनों रनवे खाली थे। एटीसी से संपर्क होने पर पायलट ने कहा कि वह लैंडिंग का प्रयास कर रहा है लेकिन सफल नहीं हो पा रहा है। लाइवएटीसीडाटनेट पर पायलट व एटीसी के बीच दर्ज बातचीत ते अनुसार पायलट ने दोनों इंजनों के ठप होने की जानकारी दी। इसके बाद उसने फिर एक बार प्रयास किया और 12 सेंकेंड बाद आपात स्थिति का संकेत दिया। एक प्रत्यक्षदर्शी का कहना है कि विमान का पर मोबाइल टावर से टकराया इसके बाद विमान घरों पर जा गिरा।

तीन लोगों के चमत्कारिक रूप से जान बचने की जानकारी दी

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार कराची के जिन्ना इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास स्थित मॉडल टाउन इलाके के निकट विमान लैंडिंग से ठीक पहले हादसे का शिकार हो गया। विमान दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद कॉलोनी में धुएं का गुबार देखा गया। हादसे के तुरंत बाद राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। पाकिस्तानी सेना और वायु सेना ने राहत एवं बचाव के लिए अपनी टीमें भी भेजी हैं। इस क्षेत्र के रहने वाले 25 से 30 लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया है। सभी बुरी तरह जले हुए हैं। सिंध की स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर अजरा और ईधी वेलफेयर ट्रस्ट के साद ईधी ने बताया कि अब तक 37 शव अस्पताल पहुंचाए जा चुके हैं। डॉ. अजरा ने तीन लोगों के चमत्कारिक रूप से बचने की जानकारी भी दी है। इन तीनों को चोटें आई हैं। यह हादसा ऐसे समय जब देश में 22 मई से 27 मई तक ईद की छुट्टियां घोषित की गई हैं।

विमान यात्रियों की संख्या को लेकर अलग अलग जानकारी

विमान यात्रियों की संख्या को लेकर अलग-अलग जानकारी दी जा रही है। पाकिस्तान में एविएशन (उड्डयन) के सीनियर ज्वाइंट सेक्रेटरी सत्तार खोखर ने विमान में जहां 99 यात्री और आठ क्रू मेंबर की बात कही है वहीं एयरलाइन पीआइए के प्रवक्ता अब्दुल्ला हाफिज ने 91 यात्री और सात क्रू मेंबर होने की जानकारी दी। प्रवक्ता ने कहा कि पीके-8303 फ्लाइट लाहौर से कराची आ रही थी। एयरबस ए 320 को कैप्टन सज्जाद गुल उड़ा रहे थे। विमान में सवार 99 यात्रियों में 31 महिलाएं और 9 बच्चे भी थे।

प्रवक्ता के अनुसार पायलट ने लैंडिंग में दिक्कत की बात एटीसी को बताई थी। कुछ सूत्रों के मुताबिक पायलट ने तीन बार लैंडिंग का प्रयास किया लेकिन नाकाम रहा। रायटर ने एक स्थानीय निवासी के हवाले से बताया कि लैंडिंग के प्रयास में विमान एक मोबाइल टॉवर से टकराकर ध्वस्त हुआ। जहाज का 2.37 बजे (स्थानीय समय) पर अंतिम बार एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) से संपर्क हुआ था। यह भी जानकारी मिली है कि विमान के दोनों इंजन फेल हो गए थे।

7 दिसंबर 2016 को भी हुआ था बड़ा विमान हादसा

फुटेज में दुर्घटनास्थल से धुएं के गुबार उठते दिखाई दिए। निवासियों की मदद के लिए एंबुलेंस और बचाव अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के एक बयान में कहा गया कि सेना की त्वरित प्रतिक्रिया बल और सिंध पाकिस्तान रेंजर्स नागरिक प्रशासन के साथ राहत और बचाव के प्रयासों के लिए साइट पर पहुंच गए हैं। डान अखबार के मुताबिक पाकिस्तान के स्वास्थ्य एवं जनसंख्या कल्याण मंत्री ने कराची के अस्पतालों में आपात स्थिति लागू कर दी है। पाकिस्तान में इससे पहले 7 दिसंबर 2016 को विमान हादसा हुआ था। चितराल से इस्लामाबाद आते हुए पीआइए का विमान एटीआर-42 पहाडि़यों पर ध्वस्त हो गया था। उस हादसे में 48 लोगों की मौत हुई थी।

बैंकर जफर महमूद की जान बची

उड़ान पीके 8303 हादसे में कम से कम एक यात्री के बचने की खबर आई है। बैंक आफ पंजाब के अध्यक्ष जफर महमूद की जान बच गई है। सिंध के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली है। उन्होंने बताया कि जफर ने अपनी मां को फोन पर अपनी सलामती की इत्तिला दे दी है। यह जानकारी राज्य सरकार के प्रवक्ता अब्दुर राशिद चन्ना ने दी है।

news news news news news news news news