नई दि‍ल्‍ली । बाजार में आज लगातार तीसरे दिन सोना वायदा महंगा हुआ, जबकि चांदी की कीमत में गिरावट आई। एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.08 फीसदी बढ़कर 51,810 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। दूसरी ओर, चांदी वायदा 0.07 फीसदी फिसलकर  68,921 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। पिछले सत्र में सोना 0.16 फीसदी बढ़कर 51,770 रुपये प्रति 10 ग्राम पर था, जबकि चांदी 0.20 फीसदी फिसली थी। 

वैश्विक बाजारों में पिछले सत्र में सोने की कीमत दो सप्ताह के उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद कम हो गई। निवेशकों ने यूएस फेड के नीतिगत फैसले के कारण सतर्कता बरती, जबकि अमेरिकी डॉलर प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले सपाट था। कोटक सेक्योरिटीज ने कहा कि, ' पिछले सप्ताह चार हफ्तों के उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद अमेरिकी डॉलर इंडेक्स में गिरावट आई।'
पिछले सत्र में हाजिर सोना 0.2 फीसदी घटकर 1,952.15 डॉलर प्रति औंस था। डॉलर सूचकांक अपने प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले सपाट रहा। एक मजबूत डॉलर सोने को अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए अधिक महंगा बनाता है। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.3 फीसदी फिसलकर 27.09 डॉलर प्रति औंस पर आ गई जबकि प्लैटिनम 1.5 फीसदी गिरकर 963.38 डॉलर और पैलेडियम 0.9 फीसदी फिसलकर 2,388.29 डॉलर पर आ गया।
अब तक 30 फीसदी बढ़े दाम
भारत में इस साल सोने की कीमतें लगभग 30 फीसदी बढ़ी हैं। कोरोना वायरस महामारी के बीच अभूतपूर्व उत्तेजना और कम ब्याज दरों ने इस साल सोने को सबसे अच्छा एसेट क्लास बना दिया है। भारत में सोने का आयात अगस्त में बढ़कर 3.7 अरब डॉलर हो गया, जो पिछले साल इसी महीने में 1.36 अरब डॉलर था। चीन के बाद भारत सोने का दूसरा सबसे बड़ा खरीदार है। भारत में सोने पर 12.5 फीसदी आयात शुल्क और तीन फीसदी जीएसटी लगता है।

" /> नई दि‍ल्‍ली । बाजार में आज लगातार तीसरे दिन सोना वायदा महंगा हुआ, जबकि चांदी की कीमत में गिरावट आई। एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.08 फीसदी बढ़कर 51,810 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। दूसरी ओर, चांदी वायदा 0.07 फीसदी फिसलकर  68,921 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। पिछले सत्र में सोना 0.16 फीसदी बढ़कर 51,770 रुपये प्रति 10 ग्राम पर था, जबकि चांदी 0.20 फीसदी फिसली थी। 

वैश्विक बाजारों में पिछले सत्र में सोने की कीमत दो सप्ताह के उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद कम हो गई। निवेशकों ने यूएस फेड के नीतिगत फैसले के कारण सतर्कता बरती, जबकि अमेरिकी डॉलर प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले सपाट था। कोटक सेक्योरिटीज ने कहा कि, ' पिछले सप्ताह चार हफ्तों के उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद अमेरिकी डॉलर इंडेक्स में गिरावट आई।'
पिछले सत्र में हाजिर सोना 0.2 फीसदी घटकर 1,952.15 डॉलर प्रति औंस था। डॉलर सूचकांक अपने प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले सपाट रहा। एक मजबूत डॉलर सोने को अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए अधिक महंगा बनाता है। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.3 फीसदी फिसलकर 27.09 डॉलर प्रति औंस पर आ गई जबकि प्लैटिनम 1.5 फीसदी गिरकर 963.38 डॉलर और पैलेडियम 0.9 फीसदी फिसलकर 2,388.29 डॉलर पर आ गया।
अब तक 30 फीसदी बढ़े दाम
भारत में इस साल सोने की कीमतें लगभग 30 फीसदी बढ़ी हैं। कोरोना वायरस महामारी के बीच अभूतपूर्व उत्तेजना और कम ब्याज दरों ने इस साल सोने को सबसे अच्छा एसेट क्लास बना दिया है। भारत में सोने का आयात अगस्त में बढ़कर 3.7 अरब डॉलर हो गया, जो पिछले साल इसी महीने में 1.36 अरब डॉलर था। चीन के बाद भारत सोने का दूसरा सबसे बड़ा खरीदार है। भारत में सोने पर 12.5 फीसदी आयात शुल्क और तीन फीसदी जीएसटी लगता है।

">
लगातार तीसरे दिन महंगा हुआ सोना वायदा, चांदी में गिरावट

लगातार तीसरे दिन महंगा हुआ सोना वायदा, चांदी में गिरावट

  2020-09-16 11:13 am

नई दि‍ल्‍ली । बाजार में आज लगातार तीसरे दिन सोना वायदा महंगा हुआ, जबकि चांदी की कीमत में गिरावट आई। एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.08 फीसदी बढ़कर 51,810 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। दूसरी ओर, चांदी वायदा 0.07 फीसदी फिसलकर  68,921 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। पिछले सत्र में सोना 0.16 फीसदी बढ़कर 51,770 रुपये प्रति 10 ग्राम पर था, जबकि चांदी 0.20 फीसदी फिसली थी। 

वैश्विक बाजारों में पिछले सत्र में सोने की कीमत दो सप्ताह के उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद कम हो गई। निवेशकों ने यूएस फेड के नीतिगत फैसले के कारण सतर्कता बरती, जबकि अमेरिकी डॉलर प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले सपाट था। कोटक सेक्योरिटीज ने कहा कि, ' पिछले सप्ताह चार हफ्तों के उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद अमेरिकी डॉलर इंडेक्स में गिरावट आई।'
पिछले सत्र में हाजिर सोना 0.2 फीसदी घटकर 1,952.15 डॉलर प्रति औंस था। डॉलर सूचकांक अपने प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले सपाट रहा। एक मजबूत डॉलर सोने को अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए अधिक महंगा बनाता है। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.3 फीसदी फिसलकर 27.09 डॉलर प्रति औंस पर आ गई जबकि प्लैटिनम 1.5 फीसदी गिरकर 963.38 डॉलर और पैलेडियम 0.9 फीसदी फिसलकर 2,388.29 डॉलर पर आ गया।
अब तक 30 फीसदी बढ़े दाम
भारत में इस साल सोने की कीमतें लगभग 30 फीसदी बढ़ी हैं। कोरोना वायरस महामारी के बीच अभूतपूर्व उत्तेजना और कम ब्याज दरों ने इस साल सोने को सबसे अच्छा एसेट क्लास बना दिया है। भारत में सोने का आयात अगस्त में बढ़कर 3.7 अरब डॉलर हो गया, जो पिछले साल इसी महीने में 1.36 अरब डॉलर था। चीन के बाद भारत सोने का दूसरा सबसे बड़ा खरीदार है। भारत में सोने पर 12.5 फीसदी आयात शुल्क और तीन फीसदी जीएसटी लगता है।

news news news news news news news news
कोरोना अपडेट