लोकसभा आम चुनाव-2019 -  शस्त्र अनुज्ञापत्र धारी अपने शस्त्र निकटतम पुलिस स्टेशन में जमा कराये

लोकसभा आम चुनाव-2019 - शस्त्र अनुज्ञापत्र धारी अपने शस्त्र निकटतम पुलिस स्टेशन में जमा कराये

Tue 12 Mar 19  10:44 pm

चित्तौड़गढ़,हलचल।  जिला मजिस्ट्रेट श्रीमती शिवांगी स्वर्णकार ने लोकसभा आम चुनाव-2019 निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण कराने हेतु कानून व्यवस्था बनाये रखने तथा शस्त्र जमा करने के संबंध में सभी थाना अधिकारियों द्वारा उनके क्षेत्र में निवास करने वाले ऐसे आर्म्स लाईसेन्स धारकों की पहचान की जाने जो जेल से जमानत पर रिहा हुए है या उनकी आपराधिक पृष्ठभूमि रही है या जो गत चुनावों में या अन्य प्रकार से कानून व्यवस्था प्रभावित करने एवं दंगों में लिप्त रहे हैं। साथ ही ऐसे लाईसेन्सधारी जिनके विरूद्ध आपराधिक मामलों में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज हुई है, अन्वेषण/अन्वीक्षा स्तर पर है या आपराधिक मामले में दोषसिद्ध हुई है या शांतिभंग किये जाने के मामले में पाबन्द किया हुआ है, ऐसे लाईसेन्सधारकों के शस्त्र जमा किये जाएगे। 

ऐसे शस्त्र अनुज्ञाधारी जिनको उस क्षेत्र के उप जिला मजिस्ट्रेट/पुलिस उप अधीक्षक/तहसीलदार/थानाधिकारी द्वारा निर्वाचन के संदर्भ में किसी मतदाता या मतदाताओं के समूह को भयग्रस्त कर निर्भय, निष्पक्ष मतदान प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न करने वाले के संबंध में चिन्हित किया जाता है, उनके शस्त्र जमा करने, ऐसे शस़्त्र अनुज्ञाधारी जो संवेदनशील/अति संवेदनशील श्रेणी के मतदान केन्द्रों अर्थात् एस. 4 श्रेणी के मतदान केन्द्रों (यथा गत निर्वाचन में हिंसक पृष्ठभूमि, जातिय प्रभुत्व, तनाव, अन्य चुनाव अपराध के लिये चिन्हित मतदान केन्द्र) के अधीन निवास करते है, उनके शस्त्र जमा किए जाएंगे। 

 लोकसभा आम चुनाव-2019 की निर्वाचन प्रक्रिया शांतिपूर्वक कराये जाने के लिये सम्पूर्ण जिले में धारा 144 लागू की जा चुकी है, जिसमें शस्त्र को लेकर चलने, प्रदर्शन पर पूर्णतया रोक लगी हुई है। धारा 144 के उल्लंघन पर यदि कोई आर्म्स लाईसेन्स धारक आर्म्स का किसी भी रूप में प्रदर्शन, लेकर घूमता हुआ पाया जाता है, उसका हथियार मय लाईसेन्स जप्त कर लिया जाएगा। ऐसे व्यक्ति जो अन्य प्रान्तों/जिलों से लाईसेन्स प्राप्त कर, सक्षम अधिकारी को सूचना दिये बिना जिले में निवास कर रहे है। संबंधित थाना अधिकारी ऐसे व्यक्तियों की पहचान कर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए उनके शस्त्र जमा करने की कार्यवाही सुनिष्चित करेंगे। 

जिला मजिस्टेªट ने आयुद्व अधिनियम 1959 की धारा 17(3)(ख) के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए चित्तौड़गढ़ जिले की राजस्व सीमा में अधिवासित, विद्यमान अंकित श्रेणी के शस्त्र अनुज्ञाधारियों के शस्त्र अनुज्ञापत्र निलम्बित कर आदेष दिए है कि वे अनुज्ञापत्र में दर्ज शस्त्र तुरन्त प्रभाव से संबंधित पुलिस स्टेषन अथवा निकटतम पुलिस स्टेषन में जमा करवाकर नियमानुसार रसीद प्राप्त करें। ऐसे जमा कराये गए शस्त्र 27 मई 2019 के पश्चात् संबंधित पुलिस स्टेषन के भारसाधक अधिकारी से पुनः प्राप्त कर सकेंगे। यह आदेश 27 मई, 2019 तक की मध्य रात्रि तक के लिये प्रभावी रहेगा।