विधानसभा में गूंजा गुर्जर आरक्षण और किसान कर्ज माफी का मुद्दा

विधानसभा में गूंजा गुर्जर आरक्षण और किसान कर्ज माफी का मुद्दा

Mon 11 Feb 19  8:29 pm


जयपुर। राजस्थान विधानसभा में सोमवार को गुर्जर आरक्षण और किसान कर्ज माफी के मुद्दे को लेकर पूरे दिन हंगामा हुआ। हंगामे के बीच ही विधायी कार्य संपन्न कराए गए। हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही दो बार स्थगित करनी पड़ी। विधायी कार्य संपन्न होने के बाद सदन की कार्यवाही बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी गई। बुधवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लेखानुदान पेश करेंगे।

 विधायक धरने पर बैठे

सोमवार को विधानसभा में प्रश्नकाल तो शांति से संपन्न हो गया, लेकिन शून्यकाल शुरू होते ही राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (रालोपा ), बसपा और माकपा के विधायकों ने गुर्जर आरक्षण का मुद्दा उठाया। इन दलों के हनुमान बेनीवाल, राजेन्द्र गुढ़ा, जोगेन्द्र सिंह अवाना, वाजिब अली, बलवान पूनिया सहित अन्य विधायकों ने गुर्जरों को पांच फीसद आरक्षण देने का समर्थन करते हुए जोर-जोर से बोलना शुरू कर दिया। बेनीवाल ने कहा कि जाट समाज गुर्जरों की मांग का समर्थन करता है और आगामी दिनों में खुलकर सामने आ जाएगा। बेनीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार संविधान में संशोधन करके गुर्जरों को पांच फीसद आरक्षण दे, नहीं तो आंदोलन होगा। हंगामें के बीच ये सभी विधायक वेल में जाकर धरने पर बैठ गए। इन विधायकों ने गुर्जर आरक्षण के मुद्दे को लेकर भाजपा को घेरते हुए कहा कि वसुंधरा राजे सरकार के कारण यह मामला अटका हुआ है, वहीं कांग्रेस सरकार पर इस प्रकरण में ढिलाई बरतने का आरोप लगाया। शोरशराबे के कारण अध्यक्ष ने सदन की कायर्याही एक घंट के लिए स्थगित की तो ही इन विधायकों का धरना समाप्त हुआ।

 

 किसान कर्ज माफी के मुद्दे को लेकर भाजपा का हंगामा

भाजपा विधायकों ने सोमवार को दिनभर सदन में हंगामा किया। विधायक किसान कर्ज माफी का कांग्रेस का चुनावी वादा पूरा नहीं होने का आरोप लगा रहे थे। प्रतिपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने सरकार पर किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाया। उन्होंने पूछा कि सरकार बताए कि कितने किसानों का कर्ज माफ हुआ है। कर्ज माफी के नाम पर भाजपा के जेलभरो आंदोलन के बाद सरकार ने प्रत्येक जिले में मात्र पांच-पांच शिविर लगाए है। इस पर पलटवार करते हुए संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि भाजपा के राज में जब किसान कर्ज माफी की गई थी, तब क्या बताया गया था कि कितना कर्ज माफ किया गया। इस पर भाजपा सदस्य उत्तेजित हो गए। दोनों पक्षों की ओर से नारेबाजी की गई। इस दौरान भाजपा विधायकों ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ नारेबाजी की,वहीं कांग्रेस के विधायकों ने पीएम नरेंद्र मोदी का नाम लेकर नारेबाजी की। अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने शोरशराबे के बीच ही सदन का विधायी कार्य संपन्न कराया। 

news news news