शरीर द्वारा ही आत्मा को शुध्द बनाया जा सकता - जितेश मुनि

Fri 15 Mar 19  2:57 pm

भीलवाड़ा (हलचल) ।  शांति भवन आचार्य विजयराज महाराज के आज्ञाअनुर्वति  जितेश मुनि ने  आयोजित विशाल धर्म सभा को सम्बोधित करतें  हुए  कहा कि शरीर एक माध्यम है शरीर द्वारा ही आत्मा को शुध्द किया जा सकता है वो तब ही संभव जब मनुष्य आत्म जागरण करें वो शरीर ही संभव है तब ही  आत्मा प्रवित्र और शुध्द बनाया जा  सकता आज अग्यान व मोह  वश मानव शरीर कौई ही  स्थाई  समझ रहा् है  पर यह सदा रहने वाला नहीं है मानव का  शुद्ध स्वरूप ही आत्मा है।

धर्म धान्य से  आत्मा शुध्द बनाया जा सकता है   शरीर से ही अशुद्ध आत्मा को शुध्द बनाने का मार्ग है ! साध्वी मैत्रीश्री ने कहां कि सुख दुख जीवन का हिस्सा दुखों के समय मनुष्य को एक सकारात्मक सोच रखनी चाहिये तब जीवन खुशाल व आंदनमय बनाया जा सकता ! ईस पूर्व शांति भवन में प्रेममुनि आदि ठाणा 5 की  शांति भवन के  मंत्री भगवती लाल सेठिया, हेमंत कोठरी , सेशन न्यायधीश प्रकाश चंद पंगारिया व पप्पू बोहरा आदि के साथ सेकड़ों महिलाओं व पुरुषों  ने सभी संतो की अगवानी की सुनिल चपलोत ने यह जानकारी देते हुयें  बताया की संतो व साध्वी वृद का शांति भवन में  होली चार्तुमास होने से  नियमित प्रवर्चन प्रांत 9 बजे से 10 : 15 तक रहेंगा , होली पर पर विषेश प्रवर्चन रहेंगे ! जिसमें राजस्थान के अलावा मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र , गुजरात के श्रद्धालु पधारने वालें है !