सरकारी अस्पतालों का रिपोर्ट कार्ड जारी

Fri 17 May 19  12:07 am


जयपुर। प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के विशिष्ट शासन सचिव एवं मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. समित शर्मा ने वित्तीय वर्ष 2018-19 में क्लीनिकल केयर, मातृ स्वास्थ्य, टीकाकरण, परिवार नियोजन एवं गैर संचारी रोग कार्यक्रमों संबंधी कुल 18 मापदण्डों पर तैयार प्रदेश के चिकित्सा संस्थानों का रिपोर्टकार्ड जारी किया है। उन्होंने प्रदेश के 27 जिला अस्पतालों, सर्वश्रेष्ठ और कम प्रगति वाले 20-20 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों की रिपोर्ट की विस्तार से समीक्षा कर बेहतर प्रदर्शन करने वाले चिकित्सा संस्थानों से प्रेरणा लेकर कार्य करने के लिये प्रोत्साहित किया है। वित्तीय वर्ष 2018-19 में विभिन्न मापदण्डों पर तैयार इस रिपोर्ट कार्ड में जिला अस्पताल अलवर ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र वर्ग प्रथम पांच में गंगानगर की पदमपुर, बारा की अंता, जयपुर द्वितीय की सांगानेर, बूंदी की लाखेरी एवं करौली की सपोटरा रही है। साथ ही प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र संवर्ग में बांसवाड़ा की कसारवाडी, झालावाड की सरडा, प्रतापगढ़ की घंटाली, धौलपुर की अंगाई एवं गंगानगर की रामसिहंपुर ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। उन्होंने कम प्रगति वाले चिकित्सा संस्थानों पर नाराजगी व्यक्त करते हुये बेहतर उपलब्धि वाले संस्थानों से प्रेरणा लेते हुये कार्य करने के लिये प्रोत्साहित किया। अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य रोहित कुमार सिंह के निर्देश पर यह रिपोर्ट कार्ड तैयार कर जारी किये गये हैं। मिशन निदेशक ने बताया कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधी 40 प्रकार के स्वास्थ्य सूचकांकों के आधार पर जिलों की मिसाल रैंकिंग तैयार की जाती रही है। इसी प्रकार जिलों में संचालित अन्य यूनिट्स जैसे जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य, परिवार कल्याण, जिला वर्टिकल प्रोग्राम, जिला टीबी एवं खण्ड मुख्य चिकित्सा यूनिट की रैंकिंग प्रतिमाह तैयार की जायेगी।
news news news