सात दिवसीय राष्ट्रीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता का शुभारंभ 15 से

  2020-02-13 09:16 pm

चित्तौड़गढ़ हलचल यूनियन क्लब संस्थान के तत्वाधान में 15 फरवरी से 33वीं फेडरेशन कप वॉलीबाल चैम्पिशनशिप की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। सात दिवसीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए टीमों के पहुंचने का सिलसिला प्रारंभ हो गया है। प्रतियोगिता में देश की नामी टीमों में से पुरूष एवं महिला वर्ग की 14 टीमें भाग ले रही है। 68 लाख से होने वाली राष्ट्रीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता में 224 राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी शिरकत करेंगे। इस दौरान दोनों वर्गो में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के लिए भारत की टीम का चयन भी किया जाएगा। आयोजन समिति के सचिव एल.एल. पोखरना ने आयोजन को लेकर बताया कि प्रताप वॉलीबाल स्टेडियम में सात दिवसीय इस 33 वीं फैडरेशन कप वॉलीबाल चैम्पिशनशिप का आयोजन यूनियन क्लब  की स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में क्लब की मेज़बानी में किया जा रहा है। पोखरना ने बताया कि यूनियन क्लब गत कई वर्षो से चित्तौड़गढ़ में इस तरह की किसी बड़ी प्रतियोगिता को आयोजित करवाने के लिए प्रयासरत था। गत वर्ष सितम्बर में उन्होंने आयोजन राज्य सचिव एवं भारतीय वॉलीबाल महासंघ के महासचिव रामावतार सिंह जाखड़ एवं आयोजन राज्य अध्यक्ष अनिल चौधरी से 33 वीं फैडरेशन कप वॉलीबाल चैम्पिशनशिप का आयोजन चित्तौड़गढ़ में करवाने का आग्रह किया तो उन्होंने इसे स्वीकार कर लिया। उन्होंने बताया कि हाल ही में सम्पन्न 68 वीं राष्ट्रीय सीनियर वॉलीबाल चैम्पिशनशिप के दौरान पुरूष वर्ग में क्वार्टर फाईनल में एवं सेमी फाईनल में प्रवेश करने वाली महिला वर्ग की टीमें इस चैम्पिशनशिप में भाग ले रही हैं। आयोजन सचिव ने बताया कि लीग कम नॉक आउट पद्धति पर आधारित इस चैम्पियनशिप में पुरूष वर्ग में तमिलनाडु, भारतीय रेलवे, केरल, कनार्टक, हरियाणा, राजस्थान, आसाम, भारतीय विश्वविद्यालय एवं भारतीय सेना,महिला वर्ग में केरल, भारतीय रेलवे, महाराष्ट्र,पश्चिम बंगाल एवं मेजबान राजस्थान की टीम भाग लेगी। इस दौरान कुल 30 मैच एवं प्रतिदिन 4 मैच डे नाईट होंगे। आयोजन सचिव ने बताया कि चैम्पियनशिप में भाग लेने वाली टीमों में प्रथम चार को पुरूष वर्ग में क्रमशः 60, 40, 30, 20 एवं महिला वर्ग में क्रमशः 40, 30, 20, 10 हजार रूपए की नकद राशि एवं ट्रॉफी से सम्मानित किया जाएगा। इसी तरह दोनों वर्ग में चार-चार बेस्ट खिलाड़ी का भी चयन किया जा कर उन्हें भी 5-5 हजार रूपए की नकद राशि प्रदान की जाएगी। इन बेस्ट खिलाड़ियों में अटेकर, ब्लाकर, सेटर, लीब्रो का चयन किया जाएगा। यूनियन क्लब के सचिव ललित सेठिया ने बताया कि राजस्थान में दूसरी बार इस तरह की राष्ट्रीय स्तर की  प्रतियोगिता का आयोजन 32 वर्षों बाद किया जा रहा हैं । 1988 में दरीबा में इस तरह का आयोजन किया गया था। उन्होंने बताया कि पुरूषों की 9 टीमों को दो ग्रुप्स में बांटा गया है। महिला वर्ग में पांचों टीमें आपस में खेलकर अधिकतम अंक के आधार पर चैंपियन बनेंगी। पुरूष वर्ग के ग्रुप ए में प्रदेश सहित चार टीमें हैं, जबकि ग्रुप बी में पांच टीमें रखी गई हैं । प्रतियोगिता का पहला मैच 15 फरवरी को दोपहर तीन बजे पुरूष वर्ग में रेलवे और आसाम व दूसरा मैच महिला वर्ग में राजस्थान का पश्चिम बंगाल से होगा। इसी दिन पुरूष वर्ग में हरियाणा और भारतीय विश्वविद्यालय के बीच तीसरा मैच सांय 6 बजे से होगा।प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए भारतीय सेना , केरल की टीम यहां पहुंच गई। वॉलीबॉल फैडरेशन के कुछ पदाधिकारी भी यहां पहुंच चुके है, जिन्होंने अब तक प्रतियोगिता को लेकर की गई तैयारियों के बारे में जानकारी प्राप्त की। आयोजन के स्वागत अध्यक्ष एवं अतिरिक्त जिला कलक्टर मुकेश कलाल ने भी गुरूवार को स्टेडियम पहुंच कर अब तक की गई तैयारियों की समीक्षा की। प्रतियोगिता का उद्घाटन शनिवार को सहकारिता मंत्री उदय लाल आंजना एवं केबिनेट मंत्री लाल चंद कटारिया द्वारा किया जाएगा। 19 फरवरी को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने भी आने की जानकारी दी है। समापन समारोह में केन्द्रीय खेल मंत्री को आमंत्रित किया गया है।

news news news news news news news news