सावन का अंतिम सोमवार, बम-बम भोले के जयघोष से गूंजे शिवालय

सावन का अंतिम सोमवार, बम-बम भोले के जयघोष से गूंजे शिवालय

Mon 12 Aug 19  8:33 am


भीलवाड़ा(हलचल)। आज पवित्र सावन महीने का चौथेऔर अंतिम सोमवार को भगवान भोलेनाथ के दर्शन करने के लिए अल सुबह से ही श्रद्दालुओं की की भारी भीड़ मंदिरों में लगी है। हरणी महादेव , तिलस्वा सहित हर जगह लोग भगवान शिव को जल चढ़ाने के लिए लंबी कतारों में दिखाई दे रहे हैं। मंदिरों में भजन-कीर्तन और पूजा-अर्चना भी शुरू हो गई है। इस मौके पर आने वाले श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या के मद्देनजर मंदिरों में व्यापक तैयारियां की गई हैं। भोलेनाथ की पूजा बेलपत्र से पूजा आपको पता है कि विश्व के सभी देवी देवताओं में महादेव ही एक ऐसे हैं जिनके ऊपर बेलपत्र चढ़ाया जाता है, खासकर के सावन के महीने में खास तौर पर से बेलपत्र से भोलेनाथ की पूजा की जाती है। पौराणिक कथा महादेव को किस तरह प्रसन्न करें पौराणिक कथा के अनुसार जब विश्व के 89 हजार ऋषि मुनियों ने परमपिता ब्रह्मा से यह पूछा कि आखिरकार महादेव को किस तरह प्रसन्न किया जा सकता है। तब ब्रह्मदेव ने ऋषियों से कहा था कि भोलेनाथ 100 कमल चढ़ाने से जितने प्रसन्न होते हैं उतना ही प्रसन्न एक बेलपत्र चढ़ाने से होते हैं और एक हजार नीलकमल के बराबर एक बेलपत्र होता है, तभी से सभी लोग महादेव पर बेलपत्र चढ़ाते आ रहे हैं।
news news news