स्वरोजगार के लिए संजीवनी है मुद्रा योजना: किरण माहेश्वरी

स्वरोजगार के लिए संजीवनी है मुद्रा योजना: किरण माहेश्वरी

  2020-05-22 09:20 pm

राजसमंद (राव दिलीपसिंह)। अनुसूचित जाति मोर्चा राजसमंद की आभासी परिचर्चा में विधायक किरण माहेश्वरी ने कहा कि कोरोना महामारी की वैश्विक आपदा ने हमें आत्मनिर्भरता का पाठ पढ़ाया है। आने वाले दिनों में स्वरोजगार से ही प्रगति की राह खुलेगी। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना स्वरोजगार के लिए संजीवनी समान है।
शुक्रवार को आयोजित आभासी परिचर्चा में एसटी मोर्चा के पदाधिकारियों एवं प्रमुख कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। किरण माहेश्वरी ने अपने संबोधन में कहा कि केन्द्र सरकार के आर्थिक महासंपुट में अनुसूचित जाति वर्ग के कल्याण के कई उपाय सम्मिलित हैं। ऑनलाइन शिक्षा संरचना के विकास से बहुत कम लागत पर विद्यार्थियों को विश्व स्तरीय अध्ययन सामग्री उपलब्ध होगी। निर्धन, ग्रामीण एवं मध्यम वर्ग के विद्यार्थियों को शिक्षा स्तर सुधारने, कौशल विकास और प्रशिक्षण में इससे सुगमता रहेगी।
माहेश्वरी ने कहा कि केन्द्र सरकार ने 5000 करोड़ रुपयों से खोमचे, रेहड़ी-पटरी एवं घूम-घूम कर व्यापार करने वालों के लिए एक विशेष सुलभ ऋण योजना प्रारम्भ कर रही है। अनुसूचित जाति वर्ग के कई व्यक्ति इन व्यवसायों में हैं। इस योजना से उन्हें अपना व्यवसाय बढ़ाने में भारी सुविधा रहेगी।
अनुजा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष ओपी महिन्द्रा ने परिचर्चा को संबंधित करते हुए कहा कि मोर्चा कार्यकर्ता मास्क वितरण का अभियान चलाएं। प्रत्येक कार्यकर्ता कम से कम 40 मास्क वितरित करें। 40 आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करवाएं और 40 व्यक्तियों से केयर फंड में न्यूनतम 100 रुपए का अंशदान करवाएं।
परिचर्चा में ऑटो चालकों को नकद सहायता नहीं मिलने, निशुल्क खाद्यान्न वितरण के लिए वंचित परिवारों का सर्वेक्षण प्रारम्भ नहीं होने, गांवो में एवं राजसमंद में सैनेटाइजेशन कार्य बंद होने, विद्युत बिलों में स्थायी शुल्क और विलम्ब शुल्क में राहत, प्रवासी श्रमिकों को सहायता नहीं मिलने, गांवों में पेयजल समस्या आदि समस्याएं कार्यकर्ताओं ने उठाई।
मोर्चा के जिलाध्यक्ष सुखदेव यादव ने कोरोना महाआपदा में मोर्चा द्वारा किए गए कार्यों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि 3656 खाद्यान्न थैले, 5750 भोजन पैकेट, 3115 आरोग्य सेतु ऐप एवं 325 कार्यकर्ताओं द्वारा प्रधानमंत्री केयर फंड में योगदान दिया गया।
आभासी परिचर्चा में वीरमलाल सालवी, देवीलाल जटिया, मनोहर लाल सालवी, दिनेशचन्द्र चन्देल, जगदीश रेगर, नारायण लाल रेगर, नारायण लाल रेगर, लक्ष्मण मोर्य, जगदीश पहाडिय़ा, मांगीलाल मेघवाल, हितेश खटीक, गौरव खींची, राजाराम नायक, रमेश सालवी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान से अनुसूचित जाति वर्ग को विशेष लाभ मिलेगा। 

news news news news news news news news