भीलवाड़़ा (मूलचंद पेसवानी) । हरिशेवा उदासीन आश्रम सनातन मंदिर भीलवाड़ा में आज सर्व पितरी अमावस के उपलक्ष में आश्रम व आश्रम के सभी भक्तों की ओर से ज़रूरतमंदों के लिए अन्नपूर्णा रथ के माध्यम से महाप्रसाद  का वितरण किया गया जिसमें पुलाव हलवा व पोहा सम्मिलित था।

हरिशेवा आश्रम के पूज्य महामंडलेश्वर स्वामी हंसराम उदासीन ने बताया कि सर्व पितरी अमावस का विशेष महातम माना गया है । इस दिन को मोक्ष अमावस भी कहा जाता है । सभी भक्तों की मनोकामना पूर्ण हो इस प्रार्थना अरदास के साथ अन्नपूर्णा रथको रवाना किया गया ।

इस अवसर पर महंत राम मुनि , पंजाब , महंत अमरबीर दास उदासीन अमृतसर स्वामी योगेश्वरानन्द ( अमरकण्टक ) व आश्रम के संत मयाराम , संत राजाराम संत गोविंदराम व अन्य ट्रस्टी सेवादार उपस्थित थे । हेमंत भोजवानी व उनकी मंडली अन्नपूर्णा रथ लेकर नगर में प्रसाद वितरण के लिए रवाना हुए ।

" /> भीलवाड़़ा (मूलचंद पेसवानी) । हरिशेवा उदासीन आश्रम सनातन मंदिर भीलवाड़ा में आज सर्व पितरी अमावस के उपलक्ष में आश्रम व आश्रम के सभी भक्तों की ओर से ज़रूरतमंदों के लिए अन्नपूर्णा रथ के माध्यम से महाप्रसाद  का वितरण किया गया जिसमें पुलाव हलवा व पोहा सम्मिलित था।

हरिशेवा आश्रम के पूज्य महामंडलेश्वर स्वामी हंसराम उदासीन ने बताया कि सर्व पितरी अमावस का विशेष महातम माना गया है । इस दिन को मोक्ष अमावस भी कहा जाता है । सभी भक्तों की मनोकामना पूर्ण हो इस प्रार्थना अरदास के साथ अन्नपूर्णा रथको रवाना किया गया ।

इस अवसर पर महंत राम मुनि , पंजाब , महंत अमरबीर दास उदासीन अमृतसर स्वामी योगेश्वरानन्द ( अमरकण्टक ) व आश्रम के संत मयाराम , संत राजाराम संत गोविंदराम व अन्य ट्रस्टी सेवादार उपस्थित थे । हेमंत भोजवानी व उनकी मंडली अन्नपूर्णा रथ लेकर नगर में प्रसाद वितरण के लिए रवाना हुए ।

">
हरिशेवा उदासीन आश्रम सनातन मंदिर भीलवाड़ा में सर्व पितरी अमावस पर भोजन प्रसाद वितरण 

हरिशेवा उदासीन आश्रम सनातन मंदिर भीलवाड़ा में सर्व पितरी अमावस पर भोजन प्रसाद वितरण 

  2020-09-17 05:46 pm

भीलवाड़़ा (मूलचंद पेसवानी) । हरिशेवा उदासीन आश्रम सनातन मंदिर भीलवाड़ा में आज सर्व पितरी अमावस के उपलक्ष में आश्रम व आश्रम के सभी भक्तों की ओर से ज़रूरतमंदों के लिए अन्नपूर्णा रथ के माध्यम से महाप्रसाद  का वितरण किया गया जिसमें पुलाव हलवा व पोहा सम्मिलित था।

हरिशेवा आश्रम के पूज्य महामंडलेश्वर स्वामी हंसराम उदासीन ने बताया कि सर्व पितरी अमावस का विशेष महातम माना गया है । इस दिन को मोक्ष अमावस भी कहा जाता है । सभी भक्तों की मनोकामना पूर्ण हो इस प्रार्थना अरदास के साथ अन्नपूर्णा रथको रवाना किया गया ।

इस अवसर पर महंत राम मुनि , पंजाब , महंत अमरबीर दास उदासीन अमृतसर स्वामी योगेश्वरानन्द ( अमरकण्टक ) व आश्रम के संत मयाराम , संत राजाराम संत गोविंदराम व अन्य ट्रस्टी सेवादार उपस्थित थे । हेमंत भोजवानी व उनकी मंडली अन्नपूर्णा रथ लेकर नगर में प्रसाद वितरण के लिए रवाना हुए ।

news news news news news news news news
कोरोना अपडेट