‘फादर्स डे’ : बॉलीवुड की कई फिल्मों में दिखता है पिता का बेशुमार प्यार और स्नेह

‘फादर्स डे’ : बॉलीवुड की कई फिल्मों में दिखता है पिता का बेशुमार प्यार और स्नेह

Sun 16 Jun 19  11:28 am


हमारे बॉलीवुड में पिता-बेटा और पिता-बेटी के रिश्ते पर कई फिल्में बन चुकी हैं. जितनी फिल्में मां पर बनायी गयी हैं उतनी ही फिल्म पिता के ऊपर भी बनायी गयी हैं. हालांकि, इनकी गिनती कुछ कम जरूर हो सकती है. लेकिन इन फिल्मों में पिता का बेशुमार प्यार और उनका स्नेह जरूर देखने को मिलता है. आइए आज ‘फादर्स डे’ पर जानते हैं इन्हीं में से कुछ फिल्मों के बारे में.


102 नॉट आउट (4 मई 2018)
अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर की फिल्म ‘102 नॉट आउट’ का नाम इस लिस्ट में नया शामिल है.  कैसे जिंदगी की जंग लड़ता हुआ एक पिता अपने बेटे दिल में दोबारा जिंदगी जीने की ख्वाहिश जगाता है. वो इस फिल्म में दिखाया गया है. ये फिल्म हर बेटे और बेटी के दिल को छुएगी. फिल्म देखते हुए आपकी आंखे भी नम हो जायेंगी.

पीकू (8 मई 2015)
बूढ़े पिता के संघर्ष की कहानी कहती साल 2015 में आई शुजीत सरकार की फिल्म ‘पीकू’ ने बहुत कमाई की थी. फिल्म का विषय था बाप-बेटी का संबंध, फिल्म में अमिताभ एक ऐसे बूढ़े बाप बने हैं जो नौकरी से रिटायर्ड हैं और बीमारियों से परेशान, ऐसे में दीपिका पादुकोण ने एक ऐसी बेटी का किरदार निभाया है जो अपने पिता की बीमारी के साथ उनके बिगड़ते हुए मानसिक हालातों को अपने करियर के साथ साथ संभालती हैं.

पा (4 दिसंबर 2009)
साल 2009 में अमिताभ, अभिषेक और विद्या बालन अभिनीत फिल्म ‘पा’ ने सिनेमा जगत के कई रिकार्ड्स तोड़े जब प्रोजेरिया से पीड़ित बेटे का किरदार निभाया अमिताभ बच्चन ने और उसके पिता का किरदार खुद उनके बेटे अभिषेक ने निभाया. एक बेहद मार्मिक कहानी जो 13 साल के एक बीमार बच्चे की है जिसमे साहस और आत्मविश्वास कूट-कूट कर भरा है. आर बाल्की ने इस फिल्म में पिता और पुत्र के एक अनोखे रिश्ते को दर्शाया है जो एक दुसरे के बहुत अच्छे दोस्त है.

दंगल  (23 दिसंबर 2016)
पूरी दुनिया में कमाई का नया इतिहास रचने वाली फिल्म ‘दंगल’ महावीर फोगट जो पूर्व नेशनल लेवेल के पहलवान रह चुके है उनके जीवन पर आधारित है. इस फिल्म में दिखाया गया है कि एक बाप जो हमेशा एक बेटे की चाह में जी रहा है. वो बेटा जो उसके लिए गोल्ड मेडल जीत कर ला सके. लेकिन चौथी बार भी उसे लड़की होती है और फिर वह अपनी बेटियों के लिए समाज से लड़ता है. वैसा समाज जहां लड़कियां पहलवान नहीं होती.अखाड़े में नहीं उतरती और खेलना चाहें भी तो पहलवानी या कुश्ती नहीं लड़ती.

शिवाय (28 अक्तूबर 2016)
बॉलीवुड अभिनेता और फिल्मकार अजय देवगन की फिल्म शिवाय पिता और बेटी के रिश्ते पर आधारित फिल्म है. अजय देवगन ने ही इस फिल्म में  सह निर्माण और निर्देशन किया है. यह फिल्म 28 अक्टूबर 2016 को रिलीज हुई थी. ‘शिवाय’ में अजय के अलावा सायशा सहगल, वीर दास और गिरीश कर्नाड भी मुख्य भूमिकाओं में थे.

मैं ऐसा ही हूं( 6 मई 2005)
2005 में आयी अजय देवगन और सुष्मिता सेन की फिल्म ‘मैं ऐसा ही हूं’ में अजय एक मानसिक रोगी पिता हैं जो अपनी बेटी को अपनी कस्टडी में लेने के लिए जान लगा कर लड़ता है और कोर्ट में साबित कर देता है की वो अपनी बेटी की जिम्मेदारी उठाने वाला एक बेहतर पिता बन सकता है, फिल्म का गाना पापा मेरे पापा बहुत फेमस हुआ था.

 

इन्होंने बच्चों को गोद लेकर संवारी उनकी जिंदगी
बॉलीवुड में जिस तरह से सिंगल मदर्स ने बच्चे गोद लिये हैं उसी तरह कई ऐसे एक्टर्स भी हैं जो शादी के बाद भी बच्चे गोद लिये हैं. बॉलीवुड की कई हस्तियां हैं जिन्होंने इन बच्चों को गोद लेकर इनकी जिंदगी बना दी है. फादर्स डे के मौके पर हम आपको ऐसे कुछ बॉलीवुड एक्टर्स के बारे में बताते हैं जिन्होंने बच्चों को गोद लिया और उनकी जिंदगी बना दी.

news news news