45 दिनों बाद पता चला हो गया रिटायरमेंट

45 दिनों बाद पता चला हो गया रिटायरमेंट

Fri 15 Mar 19  10:11 pm

जहाजपुर (आज़ाद नेब) अंधेर नगरी चौपट राजा वाली कहावत के साथ लालफीताशाही आज तब सिद्ध हुई जब ग्राम जालमपुरा प्रथम आंगनवाडी केन्द्र की कार्यकर्ता मनोरमा जैन जब बैंक पासबुक में इंटरी करवाने गई तो पता चला कि खाते में तनख़्वाह नही आई तब वह महिला एवं बाल विकास कार्यालय पर जाकर पता किया तो उसे जानकारी मिली की उसका तो जनवरी में ही रिटायरमेंट हो चुका है। तनख्वाह कहां से आएगी यह सुनकर वह स्तब्ध रह गई। रोते हुए घर पहुंची। कार्यकर्ता मनोरमा जैन ने बताया कि रिटायर होने से पूर्व मेरे को विभाग द्वारा कोई सूचना नहीं दी गई और मैं तकरीबन डेढ़ महीने से आंगनबाड़ी केंद्र पर नियमित जा रही हूं और विभाग द्वारा ली जा रही मीटिंग व ट्रेनिंग में जा रही हूं लेकिन मुझे इस बारे में किसी ने नहीं कहा। जबकि रिटायर्ड होने से 6 माह पूर्व ही आंगनबाड़ी कर्मियों को विभाग द्वारा सूचित किया जाता है।