BJP विधायक को व्हाट्सएप पर मिली धमकी, मांगे 20 लाख

  2020-05-24 12:55 am

अलवर
राजस्थान के अलवर जिले के मुंडावर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक मनजीत चौधरी को 2 दिन में 20 लाख रुपये नहीं देने पर जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है। इस संबंध में मुंडावर के विधायक मनजीत चौधरी ने नीमराणा पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। यह धमकी किसी युवराज टाइगर नाम के गैंगेस्टर ने दी है। इस धमकी के बाद राजनीतिक हलकों में हलचल तेज हो गई है।
व्हाट्सएप पर मैसेज आया- ₹20 लाख पहुंचा देना नहीं तो..
विधायक मनजीत चौधरी ने बताया कि 22 मार्च को सुबह 9:30 बजे वह जयपुर से अपने विधानसभा क्षेत्र मुंडावर में भ्रमण के लिए निकले थे तो नीमराणा पंचायत समिति में मैंने अपना मोबाइल व्हाट्सएप चेक किया तो मेरे व्हाट्सएप पर मैसेज आया कि ₹20 लाख पहुंचा देना नहीं तो 2 दिन में मारा जाएगा। यह मैसेज किसी युवराज टाइगर नीमराणा के मोबाइल नंबर से आया था।

मैसेज पर ध्यान न देने पर आई कॉल
बीजेपी एमएलए ने बताया, "इस व्हाट्सएप मैसेज पर मैंने कोई ध्यान नहीं दिया। इसके बाद जब मैं वापस जयपुर जा रहा था तो शाम को 7:23 पर व्हाट्सएप पर वॉइस कॉल आई। जिस पर जब बात की तो कॉलर बोला कि युवराज टाइगर नीमराणा बोल रहा हूं, मुझे 20 लाख रुपए 2 दिन में दे देना, नहीं तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहना। इसके बाद कॉल कट हो गई।" उन्होंने बताया कि इस व्यक्ति ने उन्हें काफी बार कॉल किया, दो-तीन बार कॉल उठाया तो बार-बार वही बात कही गई कि 20 लाख रुपये दे देना।

कॉलर बोला- युवराज टाइगर नीमराणा को जानते हो
मनजीत चौधरी ने कहा- "इसके बाद जब मैंने उस नंबर को ब्लॉक कर दिया तो उसी दिन रात करीब 7:39 पर एक दूसरे नंबर से वॉइस कॉल आई और मुझसे कहा कि युवराज नीमराणा को जानता है क्या? मैंने कहा कि मैं बहुत सारे युवराज नाम के व्यक्ति को जानता हूं तो उसने कहा- युवराज टाइगर नीमराणा के बारे में बात कर रहा हूं, जो वह मांग रहा है उसे 2 दिन में दे दे, नहीं तो अंजाम बुरा होगा।"

विधायक मंजीत चौधरी ने बताया कि तब यह बातें हो रही थी तो ऐसा प्रतीत हो रहा था कि दो व्यक्ति एक ही जगह बैठ कर फोन कर रहे हैं। वह व्यक्ति अपने आपको गैंगस्टर बताकर जनता में भय फैला रहे हैं। उन्होंने इस संबंध में रिपोर्ट दर्ज करवा दी है। पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 384 व 66 (c) व 66(D) आईटी एक्ट का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। इस मामले की जांच बहरोड के थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह को सौंपी गई है।

news news news news news news news news