boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा : राधे कचौरी पर कार्रवाई, 39 किलो काजूकतली, 8 किलो मिठाई को किया नष्ट, कचौरी व तेल के लिये सैंपल, मिली अनियमितायें
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ

अगर ऐसा पृथ्वी पर हो, तो हाहाकार मच जाए

अगर ऐसा पृथ्वी पर हो, तो हाहाकार मच जाए

2020 में दुनिया के सामने एक के बाद एक नई मुसीबत ही आते जा रही है। इस साल ना सिर्फ पृथ्वी पर बल्कि अंतरिक्ष में भी कई ऐसी घटनाएं घटी, जिसे देखने के बाद दुनिया की समाप्ति की भी अफवाहें उतनी लगी। अभी 2020 खत्म होने में डेढ़ महीना और बाकी है। इस बीच नासा ने अंतरिक्ष में एक ग्रह पर आ रही तूफानों को लेकर भयानक तस्वीरें जारी की है। इस ग्रह पर लगातार तूफ़ान आ रहे हैं। साथ ही यहां बादल फटने और बिजली गिरने की घटनाएं तेजी से बढ़ रही है। नासा ने इस तूफ़ान की काफी भयानक तस्वीरें जारी की है। अगर ऐसा पृथ्वी पर हो, तो हाहाकार मच जाए। आइये आपको दिखाते हैं किस तरह अंतरिक्ष में तबाही मचा रहा है ये तूफ़ान...पृथ्वी पर आपने तूफान आते तो देखा होगा। जिस एरिया में तूफ़ान आता है, वहां तबाही मच जाती है। कुछ तूफ़ान छोटे हैं, जो थोड़ी देर में गुजर जाते हैं, वहीं कुछ तूफ़ान काफी विनाशकारी होते हैं। इस समय अंतरिक्ष में पृथ्वी के अलावा एक दूसरे ग्रह पर ऐसा ही तूफ़ान आया हुआ है। 
 

<p>ये ग्रह है हमारे सोलर सिस्टम का सबसे बड़ा ग्रह जुपिटर। जुपिटर पर बीते कई महीनों से तूफ़ान आया हुआ है। इस दौरान लगातार वहां बिजली गिर रही है और बादल फटने की घटना हो रही है। नासा ने इस तूफ़ान की तस्वीरें कैद की है। </p>

 

ये ग्रह है हमारे सोलर सिस्टम का सबसे बड़ा ग्रह जुपिटर। जुपिटर पर बीते कई महीनों से तूफ़ान आया हुआ है। इस दौरान लगातार वहां बिजली गिर रही है और बादल फटने की घटना हो रही है। नासा ने इस तूफ़ान की तस्वीरें कैद की है। 

<p> फोटोज नासा ने सामान्य कैमरे से ली गई है ली गई है। साथ ही कुछ एडवांस फोटोज अल्ट्रावायलेट कैमरे से भी ली गई है। इन  फोटोज को देख आप भी हैरान हो जाएंगे। यहां लगातार तूफ़ान आ रहे हैं और बिजली कड़क रही है। </p>

 

 फोटोज नासा ने सामान्य कैमरे से ली गई है ली गई है। साथ ही कुछ एडवांस फोटोज अल्ट्रावायलेट कैमरे से भी ली गई है। इन  फोटोज को देख आप भी हैरान हो जाएंगे। यहां लगातार तूफ़ान आ रहे हैं और बिजली कड़क रही है।

<p>सबसे ख़ास बात ये है कि इस ग्रह पर गिर रही बिजलियां दो तरह की हैं। इनमें से एक का नाम स्प्राइट है जबकि दूसरे का एल्व्स। इस तूफ़ान में गिरने वाली बिजली की खासियत ये है कि ये जुपिटर की सतह तक नहीं पहुंच पा रही। </p>

 

सबसे ख़ास बात ये है कि इस ग्रह पर गिर रही बिजलियां दो तरह की हैं। इनमें से एक का नाम स्प्राइट है जबकि दूसरे का एल्व्स। इस तूफ़ान में गिरने वाली बिजली की खासियत ये है कि ये जुपिटर की सतह तक नहीं पहुंच पा रही। 

<p>ये बिजली आसमान में ही गिरती जा रही है। ये ग्रह के वायुमंडल में कड़क रही है। इससे बादलों के ऊपर चमकते सितारे सी झलक मिल रही है। अंतरिक्ष में दूर से ही इस वजह से ये ग्रह चमकता सा नजर आ रहा है।  </p>

 

ये बिजली आसमान में ही गिरती जा रही है। ये ग्रह के वायुमंडल में कड़क रही है। इससे बादलों के ऊपर चमकते सितारे सी झलक मिल रही है। अंतरिक्ष में दूर से ही इस वजह से ये ग्रह चमकता सा नजर आ रहा है।  

<p>बात अगर दोनों तरह की गिरती बिजलियों की करें, तो स्प्राइट एक जगह पर गिरकर कई घंटे वहां चमकती रहती है। जबकि एल्व्स के अंदर एक साथ कई बिजली हैं। वो  गिरकर बिखर जाती है। जिससे आतिशबाजी सा नजारा देखने को मिलता है। </p>

 

बात अगर दोनों तरह की गिरती बिजलियों की करें, तो स्प्राइट एक जगह पर गिरकर कई घंटे वहां चमकती रहती है। जबकि एल्व्स के अंदर एक साथ कई बिजली हैं। वो  गिरकर बिखर जाती है। जिससे आतिशबाजी सा नजारा देखने को मिलता है। 

<p>नासा के वैज्ञानिकों ने खुलासा किया है कि ये बिजली 2016 से गिर रही हैं। अभी तक करीब 11 बार काफी बड़ा तूफ़ान इस ग्रह से गुजर चुका है। 2020 में इन तूफानों की संख्या में वृद्धि हुई है। साथ ही अभी गिर रही बिजलियों को काफी खतरनाक भी बताया। <br />
 </p>

 

नासा के वैज्ञानिकों ने खुलासा किया है कि ये बिजली 2016 से गिर रही हैं। अभी तक करीब 11 बार काफी बड़ा तूफ़ान इस ग्रह से गुजर चुका है। 2020 में इन तूफानों की संख्या में वृद्धि हुई है। साथ ही अभी गिर रही बिजलियों को काफी खतरनाक भी बताया। 
 

<p>इन तूफानों के बारे में जर्नल ऑफ जियोफिजिकल रिसर्च प्लैनेट में छपा है। उसमें लिखा है कि ये तूफ़ान और बिजली अंतरिक्ष में आतिशबाजी सी नजर आती है। ये वायुमंडल में कई सैंकड़ों किलोमीटर दूर तक नजर आती है।  </p>

 

इन तूफानों के बारे में जर्नल ऑफ जियोफिजिकल रिसर्च प्लैनेट में छपा है। उसमें लिखा है कि ये तूफ़ान और बिजली अंतरिक्ष में आतिशबाजी सी नजर आती है। ये वायुमंडल में कई सैंकड़ों किलोमीटर दूर तक नजर आती है।  

<p>नासा द्वारा जारी ये तस्वीरें काफी दूर से ली गई हैं। इतनी दूर से होने के बाद भी ये इतनी खूबसूरत नजर आती हैं। अगर इन्हें नजदीक से देखा जाएगा तो ये और भी मनमोहक नजर आएंगी। </p>

 

नासा द्वारा जारी ये तस्वीरें काफी दूर से ली गई हैं। इतनी दूर से होने के बाद भी ये इतनी खूबसूरत नजर आती हैं। अगर इन्हें नजदीक से देखा जाएगा तो ये और भी मनमोहक नजर आएंगी। 

 

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu