PPF समेत तमाम स्मॉल सेविंग्स पर सरकार ने 0.1 फीसदी घटायी ब्याज दर

Fri 28 Jun 19  11:49 pm


नयी दिल्ली : राष्ट्रीय बचत प्रमाण-पत्र (एनएससी) और लोक भविष्य निधि (पीपीएफ) समेत अन्य छोटी बचत पर सरकार ने शुक्रवार को जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए ब्याज दर 0.1 फीसदी कम कर दी. बैंकिंग क्षेत्र में ब्याज दरों में आ रही कमी को देखते हुए सरकार ने यह कदम उठाया है. भारतीय रिजर्व बैंक इस साल तीन बार में अपनी नीतिगत दरों में कुल मिला कर 0.75 कटौती कर चुका है. बचत खाता जमा पर ब्याज दर को छोड़कर सरकार ने अन्य सभी योजनाओं पर ब्याज दर में 0.1 फीसदी की कटौती की है. बचत जमा खाते पर ब्याज दर चार फीसदी वार्षिक ही बनी रहेगी. वित्त मंत्रालय ने वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही के लिए संशोधित ब्याज दरों की अधिसूचना जारी कर दी है. सरकार के निर्णय के आधार पर लघु बचत योजनाओं के लिए तिमाही आधार पर ब्याज दरें अधिसूचित की जाती है. इस कटौती के बाद अब पीपीएफ एवं एनएससी पर वार्षिक ब्याज दर 7.9 फीसदी होगी, जो अभी आठ फीसदी है. वहीं, 113 महीने की परपक्वता वाले किसान विकास पत्र (केवीपी) पर 7.6 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा. अभी यह 112 महीने की परिपक्वता पर 7.7 फीसदी है. इसके अलावा, सुकन्या समृद्धि खाते पर अब 8.4 फीसदी ब्याज मिलेगा, जो फिलहाल 8.5 फीसदी है. एक से तीन साल की अवधि वाले सावधि जमा पर अब 6.9 फीसदी और पांच साल की अवधि पर 7.7 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा. आवर्ति जमा के लिए यह ब्याज 7.3 फीसदी की बजाय 7.2 फीसदी होगा. पांच साल की अवधि वाली वरिष्ठ नागरिक बचत योजना पर ब्याज दर अब 8.7 फीसदी की बजाय 8.6 फीसदी होगी.
news news news