boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ

दिसंबर महीने में ग्रहों की चाल करेगी कमाल, 12 राशियों को होगा धन-लाभ

दिसंबर महीने में ग्रहों की चाल करेगी कमाल, 12 राशियों को होगा धन-लाभ

वर्ष 2020 का अंत यानि दिसंबर का महीना ज्योतिष और ग्रहों की हलचल की दृष्टि से बहुत ही खास रहने वाला है। इस महीने जहां मंगल, शुक्र, बुध और सूर्य अपनी राशि बदलेंगे, वहीं देव गुरु बृहस्पति व शनि मकर राशि में, राहु वृषभ राशि में और केतु वृश्चिक राशि में गोचर करते हुए सभी 12 राशियों को प्रभावित करते रहेंगे। चंद्रमा तो हर 2 दिन के बाद अपनी चाल बदलते रहते हैं। इसी महीने 14 दिसंबर को इस साल का दूसरा व अंतिम सूर्य ग्रहण भी लगेगा और यह भी एक प्रमुख खगोलीय घटना होगी। यह खंडग्रास सूर्यग्रहण होगा। भारत में इसका समय शाम 7.19 बजे है, इसलिए यह भी भारत में नहीं देखा जा सकेगा। इसे प्रशांत महासागर के क्षेत्रों में देखा जा सकेगा।

PunjabKesari December transits 2020
 दिसम्बर महीने में 4 ग्रहों की बड़े लेवल पर होने वाली हलचल से बड़े दूरगामी असर होंगे और सभी 12 राशियों के साथ-साथ देश और दुनिया पर भी इसका महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ेगा। राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई बदलाव देखने को मिलेंगे, जो बहुत ही महत्वपूर्ण साबित होंगे। दिसम्बर महीने में ग्रहों की हलचल की शुरुआत 11 दिसम्बर से होगी और 24 दिसम्बर तक चलेगी। बारी-बारी चार ग्रह अपनी राशियां बदलेंगे और सभी राशियों को प्रभावित करेंगे।

ज्योतिष में ऐश्वर्या, सौंदर्य, ग्लैमर, प्रेम, विलासिता और सुख समृद्धि का प्रतीक माने जाने वाले शुक्र ग्रह 11 दिसंबर को 5:16 पर वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे। शुक्र को नैसर्गिक भोग विलास व दाम्पत्य का कारक भी माना जाता है। अंग्रेजी में इसे वीनस कहा गया है। यानी सौंदर्य की देवी। तुला राशि में शुक्र मजबूत स्थिति में होते हैं और जीवन में सुख-सुविधाओं की बरसात करते हैं। फ़िल्म इंडस्ट्री, फ़ैशन, गीत-संगीत, ललित-कलाओं में भी शुक्र का प्रतिनिधित्व होता है।

ज्योतिष में आत्मा का कारक माने जाने वाले सूर्य 15 दिसंबर को शाम 9 बजकर 19 मिनट पर वृश्चिक राशि से धनु राशि में प्रवेश कर जाएंगे। सूर्य  ऐसा ग्रह है, जो कभी वक्री गति नहीं करता। वहीं कुंडली में ये आत्मा का कारक ग्रह होने के साथ ही हमारे मान-सम्मान व अपमान का भी कारक माना जाता है। जिस व्यक्ति की कुंडली में सूर्य मजबूत स्थिति में होता है,  उसे समाज में मान-सम्मान और समृद्धि की प्राप्ति होती है। सूर्य का राशि परिवर्तन का सभी राशियों पर असर पड़ता है।

PunjabKesari December transits 2020
नवग्रहों में राजकुमार का दर्जा प्राप्त बुध ग्रह 17 दिसंबर को सुबह 11:37 पर वृश्चिक राशि से धनु राशि में प्रवेश कर जाएंगे। बुध ग्रह को हमारी बुद्धि, विवेक और वाणी का प्रतीक माना जाता है । इन्हें बिजनेस का कारक भी माना जाता है। नवग्रहों में सेनापति का दर्जा प्राप्त मंगल ग्रह 24 दिसंबर को 10 बजकर 18 मिनट पर मेष राशि में प्रवेश करेंगे और सभी राशियों को प्रभावित करेंगे।
 वृश्चिक राशि में शुक्र का केतु के साथ कंबीनेशन बनेगा और यह दोनों ग्रह एक साथ होंगे। मकर राशि में देव गुरु बृहस्पति और शनि का कंबीनेशन जारी रहेगा। मकर राशि देव गुरु बृहस्पति की नीच राशि है, जबकि शनिदेव की यह अपनी राशि है। ज्योतिष में देव गुरु बृहस्पति और शनि के कंबीनेशन को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। धनु राशि में सूर्य का बुध के साथ कांबिनेशन बनेगा। यह दोनों ग्रह भी आपस में मित्र हैं और इनके मिलन से बुधादित्य योग बनता है।
 दिसंबर महीने में जो ग्रह गोचर में स्थिति बन रही है और जो बड़े ग्रह राशि परिवर्तन कर रहे हैं,  उससे सभी 12 राशियों पर प्रभाव पड़ने वाला है।

PunjabKesari December transits 2020

 

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu