boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ

पहाड़ों ने ओढ़ी सफेद चादर, हिमाचल में बर्फबारी ने बढ़ाई मैदानी क्षेत्रों में सर्दी

पहाड़ों ने ओढ़ी सफेद चादर, हिमाचल में बर्फबारी ने बढ़ाई मैदानी क्षेत्रों में सर्दी

शिमला -पहाड़ी राज्यों हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर में हिमपात की खबर है।हिमाचल प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल नारकंडा और कुफरी में सीजन का पहला हिमपात हुआ है। इन क्षेत्रों में लगभग 18 सेंटीमीटर(सेंमी) हिमपात दर्ज किया गया है। रविवार देर रात मनाली, डलहौजी समेत कई स्थानों पर भी सीजन का पहला हिमपात हुआ। किन्नौर, लाहौल स्पीति, कुल्लू, रोहतांग, बारालाचा, शिंकुला और कुंजुम में बर्फबारी से पहाड़ बर्फ से ढक गए हैं।


आज तड़के उत्तराखंड में मौसम ने करवट बदल ली। केदारनाथ और बदरीनाथ में बर्फबारी हुई। बदरीनाथ में लगभग 06 इंच और हेमकुंड साहिब में एक फीट बर्फ जम चुकी है। अभी लगातार बर्फबारी जारी है। टिहरी में भी सुबह चार बजे से बारिश शुरू हो गई। यह बारिश फसलों के लिए अच्छी बताई जा रही है। यमुनोत्री धाम व आसपास के इलाकों में भी रविवार रात से बर्फबारी हो रही है जबकि यमुना घाटी में झमाझम बारिश हो रही है। 

 

केदारनाथ में बर्फबारी



हिमाचल के कई क्षेत्रों में हिमपात कल शाम से शुरू हुआ जो आज सुबह तक जारी रहा। राज्य के इन क्षेत्रों तथा निचले हिस्सों में भारी बारिश भी हुई है। शिमला जिले के पर्यटन स्थल नारकंडा में 18 से 25 सेमी हिमपात हुआ है जिससे हिंदुस्तान-तिब्बत राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात प्रभावित हुआ है। इसके अलावा कुफरी, खड़ा पत्थर और चौपाल के मुख्य द्वार खिड़की में भी छह सेंटीमीटर हिमपात दर्ज किया गया है। इसके कारण सड़कें बंद हो गई हैं। खदराला में करीब एक फुट हिमपात दर्ज किया गया है तथा यहां बिजली, पानी और संचार व्यवस्था ठप्प हो गई है।

No description available.

लाहौल स्पीति जिले के मुख्य द्वार रोहतांग दर्रे पर दो से तीन फुट, सांगला में लगभग 25 सेंटी, कोठी और गोंदला में 20 सेंटी, शिलारू में 10.4 सेंटीमीटर, मनाली में दो, कुफरी में सात सेंटीमीटर हिमपात हुआ है। कांगड़ा की धौलाधार श्रंखला, कुल्लू का जलोडी जोत, चम्बा का साचपास, लेडी आफ केलांग, बरालाचा और लाहौल स्पीति में काजा के कुंजुम दर्रा, किन्नौर जिले के किन्नर कैलाश, हाटू, चांसल दर्रा, डोडरा-कावर, चूरधार में भी हिमपात हुआ है। बारिश और हिमपात होने से प्रदेश के किसान और बागवान खुश हैं। गत तीन महीनों से किसान बारिश होने का इंतजार कर रहे थे। 

बारिश और हिमपात के कारण प्रदेश में न्यूनतम तापमान में एक से दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। केलांग में न्यूनतम तापमान सबसे कम शून्य से 3.0 डिग्री नीचे रहा। जबकि शिमला के कुफरी और सीओबाग में शून्य, मनाली 0.2 डिग्री, चम्बा के डलहौजी 0.6, किन्नौर के कल्पा में शून्य से 0.8 डिग्री नीचे, शिमला 3.6, धर्मशाला 5.8, सोलन 5.6, पालमपुर 5.5 और भुंतर में 6.5 डिग्री सेल्सियस रहा

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu