मांडल (चन्द्रशेखर तिवाड़ी) -- बारहवफात और सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम मंदिर मुद्दे पर फैसला देने के मद्देनजर पुलिस के विशेष दस्ते ने कस्बे में फ्लेग मार्च  किया। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने फ्लेग मार्च के माध्यम से आमजन को शांति व्यवस्था बनाए रखने का संदेश दिया। वहीं बारहवफात त्यौहार को शांति से मनाने की आमजन से अपील की।

" />
Video अयोध्या भूमि विवाद फैसले के बाद पुलिस अलर्ट, चप्पे-चप्पे पर जवान तैनात

Video अयोध्या भूमि विवाद फैसले के बाद पुलिस अलर्ट, चप्पे-चप्पे पर जवान तैनात

Sat 09 Nov 19  1:28 pm


भीलवाड़ा (हलचल)। अयोध्या भूमि विवाद को लेकर आज सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आ गया है। इसे देखते हुए भीलवाड़ा में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। कलेक्टर और एसपी जाब्ते के साथ शहर की सड़कों पर निकले और  आमजन को विश्वास दिलाया कि पुलिस और प्रशासन उनके साथ है। वे किसी प्रकार का भय महसूस नहीं करें और न ही भ्रमित हों।

अयोध्या भूमि विवाद के फैसले को लेकर सुबह से ही पुलिस प्रशासन मुस्तैद नजर आया। शहर सहित जिलेभर में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए। चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मी तैनात हैं। आला अधिकारी स्थिति पर लगातार निगाहें बनाए हुए हैं। फैसले से पूर्व कलेक्टर राजेंद्र भट्ट और पुलिस अधीक्षक हरेंद्र महावर सड़क पर उतरे और कलेक्ट्रेट से सांगानेरी गेट तक जवानों के साथ रूट मार्च निकाला। जिलेभर में शांति व्यवस्था कायम है। कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने कहा कि आज जो फैसला आने वाला है उसे लेकर पुलिस और प्रशासन ने मिलकर शहर की गलियों में फ्लैगमार्च किया है। ताकि लोगों में विश्वास रहे कि पुलिस और प्रशासन उनके साथ है। अफवाहों को लेकर लोगों को सचेत किया गया है कि वे इनसे भ्रमित न हों। अगर ऐसी कोई भी सूचना मिलती है तो पुलिस प्रशासन को अवगत कराएं। भीलवाड़ा की जनता पिछले लंबे समय से एक-दूसरे के त्योहार प्रेम और विश्वास के साथ मनाती आ रही है। विश्वास है कि भीलवाड़ा की जनता किसी के बहकावे में नहीं आएगी। लोग आपस में प्रेम और सद्भाव के साथ रहेंगे और बारावफात और गुरू नानक जयंती को प्रेम से मनाएंगे। बारावफात के जुलूस को लेकर हिंदू संगठनों ने पहल की है कि बारावफात के जुलूस का स्वागत करेंगे और हरी झंडी दिखाकर जुलूस को रवाना करेंगे। हर ईद और दिवाली पर दोनों समुदाय के लोग साथ रहते हैं। अयोध्या मामले पर फैसला हार या जीत का नहीं है, जो भी फैसला है, तथ्यों के आधार पर है। सर्वोच्च न्यायालय का फैसला है, जिसे सभी को मानना चाहिए। 

उधर, पुलिस अधीक्षक हरेंद्र महावर ने कहा कि जिलेभर में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गई है। पुलिस ने शहर की गलियों में फ्लैगमार्च किया है। एसपी ने कहा कि पुलिस प्रशासन की ओर से कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी पुख्ता इंतजाम किए हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें जनता से उम्मीद है कि वे संयम व सद्भाव बनाए रखेंगे। उन्होंने भीलवाड़ा की जनता से अपील की कि वे सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को मानते हुए किसी भी अफवाह व भ्रामक जानकारी के शिकार न बनें और पुलिस और प्रशासन को सूचित करें। भ्रामक जानकारी फैलाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।   

मांडल (चन्द्रशेखर तिवाड़ी) -- बारहवफात और सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम मंदिर मुद्दे पर फैसला देने के मद्देनजर पुलिस के विशेष दस्ते ने कस्बे में फ्लेग मार्च  किया। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने फ्लेग मार्च के माध्यम से आमजन को शांति व्यवस्था बनाए रखने का संदेश दिया। वहीं बारहवफात त्यौहार को शांति से मनाने की आमजन से अपील की।

news news news