Video कोरोना से नहीं, दूसरी बीमारी से हुई मौत: भट्ट

  2020-03-26 06:01 pm

भीलवाड़ा (अंकुर सनाढ्य)। भीलवाड़ा में गुरुवार को हुई कोरोना पॉजीटिव की मौत का कारण कोरोना नहीं है। उसकी मौत किडनी फेलियर व कोमा में जाने के कारण हुई है। भीलवाड़ा के लोगों को घबराने या परेशान होने की जरूरत नहीं है। यह बात जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने कही है।
जिला कलेक्टर ने कहा कि आज महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कोरोना पॉजीटिव नारायण सिंह (73) की मौत हो गई है लेकिन वह पहले से ही क्रोनिक किडनी डिजीज व डायबिटीज से पीडि़त था। 3 मार्च को उसे ब्रेन स्ट्रोक (लकवा) आया था और वह हीमोडायलिसिस करवा रहा था। वह तीन से 11 मार्च तक बृजेश बांगड़ अस्पताल में भर्ती रहा था और चिकित्सकों ने परिजनों को घर ले जाने की सलाह दी थी। वह पहले से ही गंभीर बीमारियों से पीडि़त था। हालांकि वो कोरोना पॉजीटिव था लेकिन उसकी मौत कोरोना से नहीं हुई है। उसे किडनी फेलियर व कोमा में जाने के बाद से महात्मा गांधी अस्पताल में वेंटीलेटर पर रखा था। उसे हाइपर टेंशन सहित अन्य रोग भी थे और इसी के चलते उसकी मौत हुई। जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने उसकी मौत का कारण कोरोना को एक सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर जो खबरें चल रही हैं, उन पर भरोसा न करें और पुलिस प्रशासन को सहयोग करे।
जिला कलेक्टर ने फिर भीलवाड़ा के लोगों से अपील की कि अफवाहों पर ध्यान न दें। घर में रहें और कोरोना के खिलाफ जारी जंग में एक योद्धा की तरह अपना योगदान दें। उन्होंने कहा कि खाने-पीने की चीजों की किसी को कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। लोग संयम रखें और किसी भी तरह की समस्या आने पर प्रशासन के हेल्पलाइन नंबरों पर फोन करें।

news news news news news news news news