Video डोडा-चूरा तस्करी के मामले में 3 आरोपितों को 12-12 साल की कैद 

Video डोडा-चूरा तस्करी के मामले में 3 आरोपितों को 12-12 साल की कैद 

Fri 08 Nov 19  6:33 pm


भीलवाड़ा हलचल। विशिष्ठ न्यायाधीश (एनडीपीएस प्रकरण) ने आज डोडा-चूरा तस्करी के 3 आरोपितों को 12-12 साल की सजा और एक-एक लाख रुपए जुर्माने से दंडित किया है। 
विशिष्ठ लोक अभियोजक कैलाश चौधरी ने बताया कि पुर थाने के तत्कालीन कार्यवाहक प्रभारी महफूज अहमद ने 6 मई 2017 को पुर ओवरब्रिज के नीचे नाकाबंदी कर वाहनों की जांच शुरू की। इस दौरान चित्तौडग़ढ़ की ओर से आये एक डंपर को पुलिस ने रोका। चालक डंपर छोड़कर भागने लगा, जिसे पुलिस ने पकड़ा और पूछताछ की। उसने खुद को लेसवा (बागौर) निवासी प्रकाश पुत्र अंबालाल जाट बताया। पुलिस ने डंपर की तलाशी ली तो उसमें 23 कट्टों में 576 किलो डोडा-चूरा मिला। पुलिस ने मामला दर्ज कर प्रकाश जाट को गिरफ्तार किया। इसके बाद जांच के दौरान पुलिस ने डंपर की बाइक से एस्कॉर्ट करने वाले जाटों का खेड़ा, आरजिया निवासी मदनलाल पुत्र चौथू जाट व डंपर मालिक तख्तपुरा निवासी किशन लाल पुत्र उदयलाल अहीर को गिरफ्तार कर इनके खिलाफ न्यायालय में चार्जशीट पेश की। अभियोजन पक्ष ने सुनवाई के दौरान न्यायालय में 15 गवाह और 218दस्तावेज पेश कर तीनों आरोपितों पर लगे आरोप सिद्ध किये। आज न्यायालय ने सुनवाई के बाद तीनों आरोपितों को 12-12 साल की सजा और एक-एक लाख रुपए जुर्माने से दंडित किया।  

news news news