Video  रामस्नेही चिकित्सालय में आग, मची अफरा-तफरी, मरिज अन्य अस्पतालों में शिफ्ट

Video रामस्नेही चिकित्सालय में आग, मची अफरा-तफरी, मरिज अन्य अस्पतालों में शिफ्ट

Mon 15 Apr 19  11:12 pm


भीलवाड़ा अंकुर सनाढ्य । शहर के नेहरु रोड स्थित रामस्नेही चिकित्सालय के एमआरआई सेंटर में रखी पुरानी मशीन की बैट्रियों में सोमवार रात अचानक शॉर्ट सर्किट के बाद आग लग गई। बैट्रियां जल जल गई। इससे अस्पताल के वार्डों में धुआं घुसने से अफरा-तफरी मच गई। मरिजों को अस्पताल से निकाल कर रामद्वारा व गंभीर मरिजों को अन्य अस्पतालों  में शिफ्ट कर दिया गया। आग पर तीन दमकलों की मदद से करीब एक घंटे बाद काबू पा लिया गया। 
सूत्रों के अनुसार रामस्नेही चिकित्सालय के एमआरआई सेंटर में रखी पुरानी एमआरआई मशीन में अचानक शॉर्ट सर्किट के बाद आग लग गई। इससे वहां धुआं भर गया जो वार्डों तक पहुंच गया। आग और धुयें से मरिजों और स्टॉफ में अफरा-तफरी मच गई। इसके बाद अस्पताल में भर्ती मरिज बाहर निकल आये और गंभीर मरिजों को शिफ्ट कर दिया गया है। आग की सूचना पर तीन दमकलें मौके पर पहुंची, जिनकी मदद से आग पर काबू पाया जा सका। उधर, आग की सूचना पर भीमगंज थाने से मात्र एक एएसआई और दीवान सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मी ही मौके पर पहुंचे। किसी बड़े अधिकारी के मौके पर नहीं पहुंचने को लेकर लोगों में चर्चा चलती रही। 
प्रबंधन बोला- 
रामस्नेही चिकित्सालय के मैनेजर दीपक लढ़ा ने बताया कि चिकित्सालय के एमआरआई सेंटर में रखी पुरानी एमआरआई मशीन में शॉर्टसर्किट में आग लग गई। फायर इंस्ट्रूमेंट से आग बुझाई गई। इससे धुआं फैल गया। मरिजों में अफरा-तफरी मच गई। बिजली सप्लाई बंद कर आग पर काबू पाया गया। कोई जनहानि नहीं हुई। इस घटना को लेकर फैेले धुंये के कारण अस्पताल में भर्ती मरिजों को एहतियातन अलग-अलग अस्पतालों में भिजवा दिया गया। उन्होंने कहा कि अन्य अस्पतालों में भेजे गये मरिजों की संख्या अभी सामने नहीं आई है। कुछ मरिजों को रामद्वारा में शिफ्ट किया गया है। 
मरिज की जुबानी आग की कहानी
आसींद क्षेत्र के हरदेव ने बताया कि मेरे सीने में दर्द हुआ। तीन दिन पहले इलाज के लिए रामस्नेही चिकित्सालय में भर्ती हुआ था। आग कैसे लगी, इसका तो पता नहीं, क्यूंकि में उपर वाले वार्ड में भर्ती था, लेकिन धुआं जब वार्ड में आया तो उसे आग का पता चला। इसके चलते मैं,  अन्य मरिज वार्ड से बाहर निकल आये। पूरा वार्ड खाली हो गया।

सायरन की आवाजों से गूंजा शहर 
रामस्नेही चिकित्सालय में आग की खबर पर एक के बाद एक तीन दमकलें फायर स्टेशन से निकल कर शहर से होती हुई रामस्नेही चिकित्सालय पहुंची। इसके बाद अस्पताल में मची अफरा-तफरी के बाद मरिजों को अन्य अस्पतालों में शिफ्ट करने के लिए एंबुलेंस दौडऩे लगी। एंबुलेंस व दमकलों के सायरन की आवाज से शहर गूंज उठा। सायरन की लगातार आवाजों को लेकर शहरी बाशिंदे किसी बड़ी घटना की आशंका को लेकर भयभित हो गये थे।  

 परिजन खींच ले गये स्ट्रेचर
आग की घटना के बाद अस्पताल में भर्ती मरिजों को उनके परिजन स्ट्रेचर पर लिटा कर खुद ही स्ट्रेचर खींच कर अफरा-तफरी के बीच अस्पताल के बाहर तक ले गये। इन मरिजों को बाद में रामद्वारा में ले जाया गया। 
जमीन पर लिटाया
अस्पताल से निकाल कर रामद्वारा ले जाये गये मरिजों की संख्या दर्जनों में थी। इन मरिजों को रामद्वारा में खाट उपलब्ध नहीं होने से फर्श पर लिटाया गया था।  मरिजों की देख-रेख उनके परिजनों ने संभाली। हालांकि नर्सिंग स्टॉफ भी वहीं मौजूद रहकर मरिजों की स्थिति पर निगाह रखे था। 

 

news news news