boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

कमला देवी का किया देहदान

कमला देवी का किया देहदान

पाली। देह नश्वर है। मृत्यु के बाद उसे पंचतत्व में विलीन कर दिया है, लेकिन कई लोग मृत्यु के बाद भी अमर हो जाते है। उनकी देह भी ओरों के लिए ज्ञान व प्रेरणा का स्रोत बन जाती है। एेसा ही पुनीत कार्य शनिवार को पाली की रहने वाली उद्यमी सम्पत भंडारी की पत्नी कमला देवी (७० वर्ष) ने किया। उन्होंने मृत्यु से पहले ही पति को अपनी देह पंचतत्व में विलीन करने के बजाय मेडिकल कॉलेज को दान देने की इच्छा जताई थी। इस पर उनके देवलोकगमन के बाद पति सम्पत भंडारी ने उनकी देह का मेडिकल कॉलेज को दान किया। अब उनकी देह से भावी चिकित्सक अध्ययन करेंगे और एमबीबीएस करने के बाद मरीजों को नया जीवन देंगे।

शहरवासियों ने अर्पित किए श्रद्धा सुमन
कमला देवी का निधन होने और देहदान करने पर शहरवासियों ने उनको श्रद्धा सुमन अर्पित किए। पाली नगर परिषद सभापति रेखा भाटी, कांग्रेस नेता महावीरसिंह सुकरलाई, उपखण्ड अधिकारी उत्सव कौशल, सेवादल जिलाध्यक्ष मोहन हटेला, जिला कांग्रेस महासचिव जीवराज बोराणा, पार्षद आमीनअली रंगरेज, नरेश मेहता आदि ने कमला देवी को श्रद्धांजलि दी। इस मौके मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल हरीशकुमार आचार्य, शरीर संरचना विभाग की एचओडी निखा भारद्वाज सहित मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक व कार्मिक मौजूद थे।

एक बेटा व तीन बेटियां
कमला देवी के एक बेटा व तीन बेटियां है। बेटियों का विवाह हो चुका है। पुत्र कल्पेश भंडारी बिजनेस करते है। उन सभी को भी अपनी माता के देहदान करने से गर्व है। उनके पिता सम्पत भंडारी ने भी देहदान की घोषणा कर रखी है। उनका कहना है कि नश्वर शरीर भी किसी के काम आए और दूसरा का जीवन बचा सके। इससे बड़ी बात कुछ ओर नहीं हो सकती है।