कर्ज घटाने के लिए रिलायंस इंफ्रा को बेचेंगे मुकेश अंबानी

कर्ज घटाने के लिए रिलायंस इंफ्रा को बेचेंगे मुकेश अंबानी

Fri 08 Feb 19  5:15 pm


नई दि‍ल्‍ली । अपनी देनदारी को कम करने के लिए रिलायंस जियो जल्द ही अपनी दो इंफ्रा कंपनियों को बेचने जा रहा है। जियो पर बाजार की करीब 3 लाख करोड़ की देनदारी है। यह पूरा सौदा 15 बिलियन डॉलर (1.07 लाख करोड़ रुपये) में होगा। 

इन कंपनियों को बेचने की तैयारी

रिलायंस जियो अपनी टेलिकॉम टावर और ऑप्टिक फाइबर केबल बिछाने वाली कंपनियों को बेचने जा रहा है। इसके लिए कंपनी ने विश्व की प्रमुख इंफ्रा व प्राइवेट इक्विटी निवेश कंपनी ब्रुकफील्ड एसेट मैनेजमेंट को चुन लिया है। रिलायंस अब ब्रुकफील्ड को 15 बिलियन डॉलर में इसे बेचने जा रही है। 

रिलांयस जियो के पास 2.2 लाख टावर

जियो के पूरे देश में करीब 2.2 लाख टावर हैं, जिसमें से कुछ थर्ड पार्टी के पास भी हैं। इसके अलावा 3 लाख किलोमीटर का ऑप्टिक फाइबर है जो 30 करोड़ उपभोक्ताओं के पास अपना नेटवर्क पहुंचाने वाला है। 

ब्रुकफील्ड के पास है रिलांयस की तेल पाइपलाइन

ब्रुकफील्ड के पास इस वक्त पूरे विश्व में करीब 330 बिलियन डॉलर की संपत्ति है। पिछले साल ही कंपनी ने रिलायंस के स्वामित्व वाली 1400 किलोमीटर लंबी ईस्ट-वेस्ट पाइपलाइन को 2 बिलियन डॉलर में खरीदा था। यह पाइपलाइन आंध्र प्रदेश के काकीनाड़ा से शुरू होकर के गुजरात के भरूच तक जाती है। अगर यह समझौता हो जाता है तो फिर ब्रुकफील्ड पूरे देश में सबसे बड़ी टेलीकॉम इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी बन जाएगी।

news news news