boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

कोरोना की दूसरी लहर में टूटे सारे रिकॉर्ड, देश के इन शहरों में लगा है लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू

कोरोना की दूसरी लहर में टूटे सारे रिकॉर्ड, देश के इन शहरों में लगा है लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू

नई दिल्ली। देश कोरोना की दूसरी बड़ी लहर की चपेट में है। कोरोना के कहर को देखते हुए दिल्ली समेत कई राज्यों ने अपने यहां लॉकडाउन (Lockdown), नाइट कर्फ्यू (Night Curfew), वीकेंड लॉकडाउन (Weekend Lockdown) जैसे कड़े प्रतिबंध लगाए हैं। देश में कोरोना की दूसरी लहर ने अब तक के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए। ताजा आंकड़ों के मुताबिक एक दिन में कोरोना के 1,15,239 नए मामले दर्ज किए गए हैं। महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक प्रतिदिन मिलने वाले नए संक्रमितों की यह सर्वोच्च संख्या है। रविवार के बाद यह दूसरा मौका है, जब एक दिन में एक लाख से अधिक नए मामले मिले हैं।

महाराष्ट्र में हालात बेहद ही खराब हैं, वहां वीकेंड लॉकडउन और नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है। इसके अलावा दिल्ली में भी नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है। अन्य राज्यों में भी हालात बेहतर नहीं हैं, कई अन्य राज्यों में भी वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लगाए गए हैं। ऐसे में बड़ा सवाल है कि क्या देश एकबार फिर लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा है? 

 

दिल्ली में लगाया गया नाइट कर्फ्यू (Night Curfew in Delhi )

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मंगलवार को राज्य सरकार ने नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है। नाइट कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा, हालांकि इस दौरान आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को नाइट कर्फ्यू से छूट रहेगी। दिल्ली सरकार ने फिलहाल लॉकडाउन लगाने की योजना से इनकार किया है। राजधानी में शादियों, श्राद्ध और अन्य समारोहों के लिए गाइडलाइन पहले ही जारी की जा चुकी है।

 

महाराष्ट्र में बेकाबू हुए हालात (Lockdown and Night Curfew in Maharashtra)

महाराष्ट्र में कोरोना से हालात बेहद की खराब हैं। महाराष्ट्र में हर दिन 50,000 के करीब कोरोना के नए मामले रिपोर्ट हो रहे हैं। देश के कुल नए मामलों के 50 फीसदी से ज्यादा अकेले महाराष्ट्र से आ रहे हैं। उद्धव सरकार ने राज्य में वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू का भी ऐलान किया है। हालांकि उद्धव सरकार पूर्ण लॉकडाउन के पक्ष में नहीं दिख रही है, लेकिन अगर कोरोना से हालात और बदतर हुए तो शायद राज्य सरकार के पास इसके अलावा और कोई विकल्प नहीं बचेगा। बता दें कि बुधवार को अकेले महाराष्ट्र में कोरोना के 59,907 नए मामले सामने आए। जबकि 30,296 लोग ठीक भी हुए। इसके साथ ही एक दिन में महाराष्ट्र में 322 लोगों की मौत हुई। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 31,73,261 मामले आए। राज्य में 5,01,559 सक्रिय मामले है। महाराष्ट्र में अब तक 56,652 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हुई।

 

पंजाब में 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू (Night Curfew in Punjab)

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच पूरे पंजाब में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। इससे पहले 12 जिलों में 10 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया था। अब इसे पूरे प्रदेश पर लागू कर इसकी अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ा दी गई है। संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए सरकार ने यह फैसला लिया है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में कोरोना की मौजूदा स्थिति की समीक्षा करते हुए सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में राजनीतिक रैलियों आदि पर भी रोक लगा दी गई है। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत केस दर्ज किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने डीजीपी दिनकर गुप्ता को राज्य में नाइट कर्फ्यू सख्ती से लागू करवाने के आदेश दिए हैं।

 

मप्र में कोरोना को लेकर बढ़ेगी सख्ती, कई शहरों में लॉकडाउन (Lockdown and Night Curfew in MP)

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच मध्यप्रदेश में सख्ती बढ़ाई जा रही है। शाजापुर में 7 अप्रैल की रात 8 बजे से 10 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है। वहीं, भोपाल, इंदौर और जबलपुर समेत 13 शहरों में भी रविवार के साथ शनिवार को भी लॉकडाउन लगाया जा सकता है। हालांकि, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसका फैसला जिलों की क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी पर छोड़ा है। मध्य प्रदेश में अभी भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, विदिशा, छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, बड़वानी, बैतूल, खरगोन और रतलाम में संडे लॉकडाउन लगाया जा रहा है। इन शहरों के अलावा इस संडे से मुरैना में भी लॉकडाउन किया जाएगा। इधर, दूसरे राज्यों से MP में आने वाले लोगों पर भी सख्ती की तैयारी की जा रही है। ऐसे लोगों को आइसोलेट करने के लिए ग्रामीण इलाकों में भी सेंटर की व्यवस्था की जाएगी। ये बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड-19 की रिव्यू मीटिंग में कहीं। इसमें जिलों और निजी संस्थाओं के प्रतिनिधियों से भी चर्चा की गई। हालांकि, उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का समय कम ही रखा जाएगा।

 

गुजरात के 20 शहरों में आज से नाइट कर्फ्यू, शादी समारोह में 100 लोगों की ही अनुमति (Night Curfew in Gujrat)

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच गुजरात हाई कोर्ट के मंगलवार को दिए गए लॉकडाउन या नाइट कर्फ्यू के सुझाव के बाद राज्य सरकार ने अहम फैसला लिया है। गुजरात सरकार ने 20 शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है। साथ ही, शादी समारोह में आने वाले गेस्ट्स की संख्या को भी सीमित कर दिया गया है। यह जानकारी गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने दी। गुजरात सीएम विजय रुपाणी ने बताया कि 7 अप्रैल से 20 शहरों में रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया जा रहा है। शादी समारोह में 100 लोगों के ही शामिल होने की अनुमति दी गई है। ग्रैंड इवेंट्स को 30 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया है। वहीं, सरकारी दफ्तर भी 30 अप्रैल तक शनिवार के दिन बंद रहेंगे।

 

झारखंड में आंशिक लॉकडाउन, स्कूल-कॉलेज सब बंद (Night Curfew in Jharkhand)

कोरोना वायरस के संक्रमण में तेजी से हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए झारखंड की हेमंत सोरेन ने समूचे राज्य में नाइट कर्फ्यू लागू करने का आदेश दिया है। मंगलवार को सीएम सोरेन ने आपदा प्रबंधन विभाग के साथ हुई बैठक के बाद ये बड़ा फैसला लिया है जिसके तहत अगले आदेश तक राज्य में सभी स्‍कूल, कॉलेज, जिम, सिनेमा हॉल, पार्क और सार्वजनिक स्‍थान बंद रहेंगे। इस फैसले के साथ ही राज्‍य सरकार ने राज्य में आंशिक तौर पर लॉकडाउन लगाने की फिर से मंजूरी दे दी। मंगलवार को आपदा प्रबंधन की हाई लेवल मीटिंग में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री बन्‍ना गुप्‍ता और राज्‍य के आला अधिकारियों के साथ कोरोना संक्रमण के फैलाव की गहन समीक्षा के बाद सीएम ने यह बड़ा फैसला किया है।

 

जम्मू-कश्मीर में स्कूल बंद, स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टियां रद (School Closed in Jammu Kashmir)

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जम्मू-कश्मीर में सोमवार से स्कूलों को बंद कर दिया गया है। कश्मीर में डॉक्टरों, नर्सों और अन्य पैरामेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा राज्य में कोरोना की स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

छत्तीसगढ़ में कोरोना विस्फोट, कई इलाकों में लॉकडाउन (Lockdown in Chhattisgarh)

 

छ्त्तीसगढ़ में कोरोना के बढ़ते मामलों ने राज्य के साथ केंद्र की चिंताएं भी बढ़ा दी हैं। केंद्र सरकार ने राज्य के कोरोना प्रभावित जिलों में हाई लेवल टीम भेजने का फैसला किया है। सोमवार को राज्य में कोरोना के 7,000 से ज्यादा नए मामले रिपोर्ट हुए थे। राज्य के दुर्ग, राजनांदगांव आदि इलाकों में लॉकडाउन लगाया गया है। रायपुर में दस दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है। इस बारे में घोषणा करते हुए रायपुर जिला कलेक्टर एस भारती दासन ने कहा कि कोविड की स्थिति को ध्यान में रखते हुए रायपुर जिले को 9 अप्रैल को शाम 6 बजे से 19 अप्रैल तक सुबह 6 बजे तक कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है। इस अवधि के दौरान जिले की सभी सीमाएं सील रहेंगी।

 

यूपी में स्कूल बंद, नई गाइडलाइन जारी (Uttar Pradesh Night Curfew)

यूपी में भे कोरोना से हालात बिगड़ने लगे हैं, मंगलवार को राज्य में कोरोना के 5900 से ज्यादा नए मामले रिपोर्ट हुए हैं और 30 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। कोरोना की नई लहर को देखते हुए योगी सरकार ने नई गाइडलाइन भी जारी की है। राज्य में 8वीं तक के स्कूलों को फिलहाल 11 अप्रैल तक बंद किया गया है। इस बीच उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने योगी सरकार से नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) लगाने की संभावना तलाशने को कहा है, ताकि सामाजिक कार्यक्रमों में भीड़भाड़ रोकी जा सके।

 

बिहार सरकार ने कहा, लॉकडाउन लगाने जैसे हालात नहीं (Coronavirus Update in Bihar)

बिहार में भी कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सभी शैक्षणिक संस्थानों को 11 अप्रैल तक बंद किया गया है। राज्य सरकार का कहना है कि कोरोना को लेकर वह लगातार अलर्ट है और स्थिति पर नजर बनाए हुए है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा है कि फिलहाल राज्य में हालात वैसे नहीं हैं कि लॉकडाउन लगाया जाए।

दक्षिण के राज्यों में भी बढ़ रहा कोरोना

चुनावी राज्य तमिलनाडु में भी कोरोना के मामले फिर बढ़ रहे हैं। हालांकि राज्य के स्वास्थ्य सचिव जे राधाकृष्णन का कहना है कि चुनाव के बाद लॉकडाउन लगाने की अफवाहों पर लोग ध्यान ना दें। दूसरे चुनावी राज्य केरल में भी मंगलवार को कोरोना के 3,500 से ज्यादा नए मामले रिपोर्ट हुए हैं। इसके अलावा आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक में भी मामले लगातार बढ़ रहे हैं।